hindi funny jokes

जैसे प्रभु की इच्छा!
घने जंगल से गुजरती हुई सड़क के किनारे एक ज्ञानी गुरु अपने चेले के साथ एक बोर्ड लगाकर बैठे हुए थे, जिस पर लिखा था,
"ठहरिये... आपका अंत निकट है। इससे पहले कि बहुत देर हो जाये, रुकिए! हम आपका जीवन बचा सकते हैं।"

एक कार फर्राटा भरते हुए वहाँ से गुजरी। चेले ने ड्राईवर को बोर्ड पढ़ने के लिए इशारा किया। ड्राईवर ने बोर्ड की तरफ देखा और भद्दी सी गाली दी और चेले से यह कहता हुआ निकल गया, "तुम लोग इस बियाबान जंगल में भी धंधा कर रहे हो, शर्म आनी चाहिए।"

चेले ने असहाय नज़रों से गुरूजी की ओर देखा।

गुरूजी बोले, "जैसे प्रभु की इच्छा।"

कुछ ही पल बाद कार के ब्रेकों के चीखने की आवाज आई और एक जोरदार धमाका हुआ।

कुछ देर बाद एक मिनी-ट्रक निकला। उसका ड्राईवर भी चेले को दुत्कारते हुए बिना रुके आगे चला गया।

कुछ ही पल बाद फिर ब्रेकों के चीखने की आवाज़ और फिर धड़ाम।

गुरूजी फिर बोले, "जैसी प्रभु की इच्छा।"

अब चेले से रहा नहीं गया और वह बोला, "गुरूजी, प्रभु की इच्छा तो ठीक है पर कैसा रहे यदि हम इस बोर्ड पर सीधे-सीधे लिख दें कि 'आगे पुलिया टूटी हुई है'।"
----------
आव्य्श्यकता है गर्लफ्रेंड की!
पद : जूनियर गर्लफ्रेंड/सहायक प्रेमिका

अनुभव : कम से कम दो लडको की गर्ल फ्रेंड रह चुकी हो, तथा गर्ल फ्रेंड के सभी दायित्वों में पारंगत हो।

आयु : 18-25 वर्ष (अगर कोई लड़की/महिला दिखने में अच्छी है, और ज्यादा उम्र होने के बावजूद इसी उम्र की लगती हो, तो वह अप्लाई कर सकती है)।

लाभ तथा मानदेय :- सकल मासिक।

• एक उपहार प्रति महिना (अधिकतम मूल्य रुपये 1000) (कोई मूल्यवान धातु जैसे सोना, चांदी या बहुमूल्य रत्न जैसे हीरा इत्यादि की अपेक्षा न रखे)।

• लक्ज़री बाइक में मुफ्त सवारी (अधिकतम 1 घंटा प्रतिदिन)

• कुल्फी / आइसक्रीम/ चोकलेट , प्रतिदिन

• प्रतिदिन 50-100 रुपये के समकक्ष मुफ्त नाश्ता जैसे समोसा / ब्रेड पकोड़ा इत्यादि

• हर रविवार मुफ्त मूवी (ऊपर कोने वाली सीट पर)

• महीने में एक बार मुफ्त ''ब्रांडेड जीन्स /टी-शर्ट '' अथवा ''स्कर्ट / टॉप '' अथवा ''डिज़ाइनर परिधान'' पसंदानुसार (लेकिन पिछले महीने का आचरण संतोष जनक होने पर ही यह सुविधा उपलब्ध है।)

• मिस्ड कॉल करने के लिए , फ़ोन चालू रखने हेतु 100 रूपये का रिचार्ज प्रति महीना

प्रतिवर्ष एक नवीनतम स्मार्ट फ़ोन, जैसे IPHONE या Galaxy S4, दिया जायेगा, तथा ऊपर लिखी सभी सुविधायें अनलिमिटेड रूप से प्राप्त होंगी।

स्थायी होने के बाद वर्ष में दो बार हीरा या सोना के जवाहरात दिए जायेंगे।

जो लडकियाँ इस ऑफर के लिए अपने आपको उपयुक्त नहीं मानती हैं, उन्हें मन छोटा करने की कोई जरूरत नहीं है वो ''Suggest a friend'' सुविधा का लाभ उठा कर अपनी सहेलियों का सुझाव दे सकती हैं।

प्रत्येक सफल रिफरेन्स पर उन्हें फाइव स्टार होटल में लंच अथवा कैंडल लाइट डिनर, उपहार / कृतज्ञता स्वरुप कराया जायेगा।

कृपया इस विज्ञापन के तहत अपने बायो-डाटा के साथ आज ही आवेदन करें।

(बिना फोटो कोई आवेदन स्वीकार नहीं किया जायेगा)

नोट-हमारी कोई शाखा नहीं है।
----------
जैसे को तैसा!
एक बार एक डॉक्टर रात को सोया हुआ था। रात को अचानक डॉक्टर की नींद खुली उसने देखा कि उसका टॉयलेट पूरी तरह से ब्लॉक हो गया है।

उसने अपनी पत्नी से कहा, "मैं अभी प्लम्बर को बुलाता हूं।"

पत्नी ने पूछा, "तुम प्लम्बर को रात को तीन बजे बुलाओगे?"

डॉक्टर: हाँ क्यों नहीं, मैं तो बुलाऊंगा। हम भी तो जाते हैं रात को अगर कोई मरीज बीमार हो जाये।

उसने प्लम्बर को फोन किया, शिकायत की और उसे रात को ही आने को कहा। प्लम्बर ने सुबह आने को कहा तो डॉक्टर ने फिर से वही बात कही, "अगर मैं रात को मरीज देखने जा सकता हूं तो तुम क्यों नहीं आ सकते?"

रात को करीब 3:30 बजे प्लम्बर आंखों को मसलता हुआ पहुंचा। डॉक्टर ने उसे टॉयलेट दिखाया।

प्लम्बर बाहर गया, वहां कुछ गोलियां पड़ी हुई थी। उसने दो गोलियां उठा कर टॉयलेट में डाल दी और डॉक्टर से कहा, "अगर कोई फर्क नहीं पड़े तो सुबह फिर से मुझे कॉल कर लेना।
----------
होशियार कुत्ता!
एक आदमी अपने दोस्त से मिलने उसके घर गया, वह दरवाजे से जैसे ही अन्दर बड़ा वह यह देखकर हैरान हो गया कि उसका दोस्त अपने कुत्ते के साथ चैस खेल रहा है!

वह उन दोनों को बड़ी हैरानी के साथ एकटक देखता रहा!

वह यह कहता हुआ आगे बड़ा कि मुझे अपनी आँखों पर यकीन नही हो रहा है कि तुम्हारा कुत्ता इतना होशियार है कि यह चैस भी खेलता है, मैंने आज तक किसी कुत्ते को चैस खेलते हुए नही देखा!

उसके दोस्त ने कहा कुत्ता और होशियार ...कभी नही ....तुम्हें पता है मैंने इसे पांच में से तीन गेम्स में हरा दिया है!
----------



तुम भूल जाओगे!
एक वृद्ध दंपति को लगने लगा कि उनकी याददाश्त कमजोर हो चली है, यह सुनिश्चित करने के लिये कि उन्हें कुछ नहीं हुआ है, वे डॉक्टर के पास गये!

डॉक्टर ने बारीकी से उनका परीक्षण किया और बताया कि उन्हें कोई बीमारी नहीं है बुढ़ापे में इस तरह के लक्षण स्वाभाविक हैं उसने उन्हें महत्वपूर्ण कार्यों को लिखकर रखने की सलाह दी ताकि वे कोई जरूरी काम न भूलें!

वृद्ध दंपति ने डॉक्टर का धन्यवाद किया और घर चले गये!

उस रात को टीवी देखते समय पति उठकर कहीं जाने लगा तो पत्नी ने पूछा कहां जा रहे हो?

उसने जवाब दिया रसोईघर में!

मेरे लिये एक कप चाय लाओगे? पत्नी ने कहा ठीक है, ले आऊंगा मेरे ख्याल से तुम इसे नोट कर लो नहीं तो भूल जाओगे पत्नी ने कहा!

नहीं भूलूंगा, पति ने जवाब दिया!

ठीक है, और मेरे लिये कुछ खाने को ले आना जैसे आलू चिप्स! ठीक है, ले आऊंगा पत्नी ने कहा!

मुझे लगता है तुम लिख लेते तो ठीक था कहीं भूल न जाओ पत्नी ने फिर आग्रह किया.. नहीं भूलूंगा प्रिय! मुझे तुम्हारे लिये एक कप चाय और आलू चिप्स लाना है ठीक है इतना तो मैं याद रख ही सकता हूं!

लगभग आधे घण्टे बाद पति महोदय एक कटोरे में आइसक्रीम और एक प्लेट में आमलेट लेकर हाजिर हुये पत्नी यह देखते ही आग बबूला होते हुये चिल्लाई तुमसे कहा था कि लिखकर ले जाओ वरना भूल जाओगे बताओ मेरे आलू के परांठे कहां है?
----------
विज्ञापनों का सच!
टीवी के विज्ञापनों को देखकर कुछ निष्कर्ष निकाले गए हैं। जो आपके रूबरू हैं।

1. घोटालों से परेशान ना हों, Tata की चाय पीयें, इससे देश बदल जाएगा।

2. पानी की जगह Coca Cola और Pepsi पीयें और प्यास बुझायें।

3. Lifebuoy और Dettol 99.9% कीटाणु मारते है पर 0.1 % पुनः प्रजनन के लिए छोड़ ही देते हैं।

4. अगर आप Sprite पीते हैं तो लड़की पटाना आपके बाये हाथ का खेल है।

5. Saif Ali Khan और Kareena Kapoor ने शादी एक दुसरे के सिर का Dandruff देख कर की है।

6. किसी के Toothpaste में नमक है या नहीं, यह पूछने के लिए आप किसी के भी घर का बाथरूम तोड़ सकते हैं।

7. Mountain Dew पीकर पहाड़ से कूद जाइये, कुछ नहीं होगा।

8. Cadbury Dairy Milk Silk Chocolate खाएं कम और मुंह पर ज्यादा लगायें।

9. Happident चबाइए और बिजली का कनेक्शन कटवा लीजिये।

10. फल मंडी से ज्यादा फल आपके Shampoo में होते हैं।

11. अगर आपने घर में Asian Paint किया है तो आप दुनिया के सबसे Intelligent इंसान हैं।

12. अगर आपका बच्चा Bournvita नहीं पीता तो वो मंद बुद्धि माना जा सकता है।
----------
खोज और अविष्कार!
आदमी और औरत की खोजें और अविष्कार!

आदमी ने रंग की खोज की, और चित्रकला का अविष्कार किया महिला ने रंग की खोज की, और मेक-अप का अविष्कार किया!!

आदमी ने शब्द की खोज की, और भाषा का अविष्कार किया औरत ने भाषा का खोज की, और गप्पों का अविष्कार किया!!

आदमी ने जुए की खोज की, और कार्डस का अविष्कार किया औरतों ने कार्डस की खोज की, और टोने, टोटके और चुगलियों का अविष्कार किया!!

आदमी ने खेती बाड़ी की खोज की, और भोजन का अविष्कार किया औरतों ने भोजन की खोज की, और डायटिंग का अविष्कार किया!!

आदमी ने दोस्ती की खोज की, और प्यार का अविष्कार किया औरत ने प्यार की खोज की, और विवाह का अविष्कार किया!!

आदमी ने व्यापार की खोज की, और पैसों का अविष्कार किया औरत ने पैसों की खोज की, और खरीददारी का अविष्कार किया!!

वैसे तो आदमी ने बहुत सारी चीजों की खोज कर ली. .. जबकि औरत अभी भी खरीददारी में ही फंसी हुई है!
----------
चालक की समझदारी!
एक बार एक रेलगाड़ी चलते चलते अचानक पटरी से उतरकर आस-पास के खेतों में घुस गई और फिर से वापस पटरी पर आ गई।

सारे यात्री डर के मारे सहम गए।

जब गाडी अगले स्टेशन पर रुकी तो लोगों ने रेलगाड़ी के चालक को पकड़ लिया और उसे जाँच अधिकारी के पास ले गए।

जाँच अधिकारी ने ने चालक से इसका कारन पूछा तो चालक ने बताया कि एक आदमी पटरी पर खड़ा था और मेरे कई बार हार्न बजाने के बावजूद वह पटरी से नहीं हट रहा था।

जाँच अधिकारी ने कहा, "तुम पागल हो क्या ? एक आदमी की जान बचाने के लिए तुमने इतने लोगों की जान खतरे में डाल दी। तुम्हें तो उस आदमी को कुचल देना चाहिए था।"

चालक: वही तो मैं करने जा रहा था लेकिन जैसे ही गाड़ी उसके एक दम नजदीक पहुंची वह कम्बख्त खेतों में इधर उधर भागने लगा तो मैं बस गाडी उसके पीछे ले गया।
----------


जवानी के दिन!
एक बार एक दादा - दादी ने जवानी के दिनों को याद करने का फैसला किया।

अगले दिन दादा फूल ले कर वहीँ पहुंचा जहां वो जवानी में मिला करते थे, वहां खड़े-खड़े दादा के पैरों में दर्द हो गया लेकिन दादी नहीं आयी।

घर जा कर दादा गुस्से से, "आयी क्यों नहीं"?

दादी शर्माते हुए, " मम्मी ने आने नहीं दिया"।

----------
आत्महत्या के उपाय!
अगर आप मरना चाहते हैं लेकिन आप मरने हेतु कुछ नए कारण व तरीके अपनाने के शौक़ीन हैं तो इन्हें अपनाए:

1. अपने लैपटॉप में Win-XP ऑपरेटिंग सिस्टम डाले, BSNL का ब्रॉडबैंड लगाए और इन्टरनेट एक्स्प्लोरर ब्राउज़र पर IRCTC की वेबसाइट पर तत्काल टिकट बुक करने का प्रयास करें, यकीन मानिए आप आत्महत्या कर लेंगे।

2. किसी म्यूजिक स्टोर से अनु मालिक व अल्ताफ राजा के गानों की CD ले आइये और उन्हें रात भर एक बंद कमरे में बैठ कर लगातार सुने, 100% गारंटी है सुबह आपकी लाश मिलेगी।

3. रविवार के दिन आराम से घर में बैठ कर सुबह 9 बजे से शाम के 5 बजे तक सोनी टीवी पर नॉनस्टॉप दिखाया जाने वाला शो "CID" देखें, सोमवार को आपके जनाजे में हम भी शिरकत करेंगे।

4. अगर आप तड़प-तड़प कर मरना चाहते हैं तो इन्टरनेट से दिग्विजय सिंह के सभी भाषणों को डाउनलोड कीजिये और रोज रात को कोई एक भाषण सुनिए, कसम दिग्गी राजा की आप तड़प-तड़प के मरेंगे।

5. अगर आप हँस-हँस के मरना चाहते हैं तो आप दो दिन लगातार बैठ कर राहुल गाँधी जी का भाषण या इंटरव्यू नॉनस्टॉप सुनते जाएँ आप बस हँसते-हँसते इस दुनिया को अलविदा कहेंगे।

6. अगर आप झल्लाहट से मरना छाते हैं तो बाज़ार जाकर दीपक तिजोरी, आदित्य पंचोली, राहुल रॉय व उदय चोपड़ा अभिनीत फिल्मो की DVD ले आइये और खुद को एक कुर्सी पर रस्सी से बांध कर फिल्मे देखे। आपकी जान निकल जायेगी।
----------
कहानी से सबक!
स्कूल में टीचर ने चौथी क्लास के बच्चों को होमवर्क दिया।
"कोई स्टोरी सोच के आना और फिर क्लास को बताना कि उससे हमें क्या सबक मिलता है?"

अगले दिन एक बच्चे ने क्लास में स्टोरी सुनाई:
"मेरा बापू कारगिल की जंग में लड़ा। उस के हेलीकॉप्टर को दुश्मनों ने मार गिराया। वो दारू की एक बोतल के साथ पहले ही हेलिकॉप्टर से कूद गया लेकिन बार्डर के पार दुश्मनों के इलाके में जा गिरा। जहां कि उस को घेरने के लिए दुश्मनों की फौज दौड पड़ी।

बापू ने गटागट दारू की बोतल पीकर खाली की और अपनी बंदूक संभाल ली। दुश्मन के सौ फौजियों ने आ कर उसे घेर लिया तो उसने तड़ातड़ गोलियां चला कर दुश्मन के सत्तर फौजी मार ड़ाले। फिर उसकी गोलियां खत्म हो गयीं तो उसने बंदूक पर लगी किर्च से दुश्मन के बीस फौजी मार गिराये। तब उसने बंदूक फेंक दी और निहत्थे ही बाकी के दस और दुश्मन फौजी मार गिराये और फिर टहलता हुआ बार्डर पार कर के अपने इलाके में आ गया।"

टीचर भौंचक्का सा उसका मुँह देखने लगा, फिर वैसा ही भौंचक्का सा बोला, "कहानी बढिया है, लेकिन इस से हमें सबक तो कोई नहीं मिलता।"

"मिलता है न।" बच्चा शान से बोला।

"क्या सबक मिलता है?" टीचर ने पूछा।

"यही कि बापू टुन्न हो तो उस से पंगा नहीं लेने का।"
----------
बुरे फंसे यार!
एक आदमी की उम्र 35 वर्ष हो चुकी थी पर अभी तक उसकी शादी नही हुई थी, उसके दोस्त उसे अक्सर शादी के करने के लिए कहते रहते पर वह हर बार यही कहता कर लेंगे कर लेंगे।

एक दिन उसके दोस्त ने उसे गंभीरता से पूछ ही लिया, "अरे यार, क्या बात है क्या तुम एक अच्छी लड़की की तलाश में हो या सारी जिन्दगी ऐसे ही रहना है? क्या अभी तक तुमने अपनी पसंद की कोई लड़की नही देखी?"

आदमी: नही मैं कई अच्छी लड़कियों से मिला, मैंने उन्हें अपने घर वालों से भी मिलवाया पर मेरी माँ को वो बिल्कुल भी पसंद नही आयी, तभी आज तक मैं बस लड़कियां ही ढूंढ रहा हूँ।

उसके दोस्त ने कहा तुम एक काम क्यों नही करते कि अपनी माँ की पसंद की कोई लड़की ढूंढ लो?

फिर दोनों दोस्त कई दिनों के बाद मिले उसके दोस्त ने पूछा, "क्या तुम्हें कोई लड़की मिली जिसे तुम्हारी माँ ने भी पसंद किया?"

आदमी: हाँ यार मैंने एक लड़की को पसंद किया जो मेरी माँ को भी पसंद है, वो बिल्कुल मेरी माँ जैसी है, मेरी माँ उसे बहुत प्यार करती है और उन दोनों की आपस में खूब पटती है।

दोस्त: तो फिर तो तुमने अभी तक इस लड़की से सगाई कर ली होगी।

आदमी: अरे नही यार, कहाँ कर ली सगाई।

दोस्त: क्यों क्या हुआ?

आदमी: वो लड़की मेरे बाप को पसंद नहीं है। क्योंकि वो मेरी माँ जैसी है।
----------


बॉस का आदेश!
एक बार कुछ लड़कियां शहर से गाँव घूमने आई थी। जब वो वापस लौट रही थी तो रास्ते में जिस बस में वे सफर कर रहीं थी, कुछ डाकुओं ने उस बस को घेर लिया। बस लूटने वाले दो डाकुओं ने पिस्तौल दिखाकर बस जंगल में रुकवा ली, तो सभी मुसाफिरों में सन्नाटा छा गया।

एक डाकू ने अपने साथी से कहा, "हम पुरुषों को लूटेंगे और सभी औरतों को अपने साथ ले जाएँगे।"

दूसरा डाकू जो पहले वाले से कमजोर था बोला, "नहीं, हम सारा सामान लूटेंगे, औरतों को कुछ नहीं कहेंगे।"

यह सुन पीछे की सीट पर बैठी लड़कियों ने आपस में खुसुर - फुसुर की और फिर उनमे से एक दूसरे डाकू से बोली, "ऐ, तुम अपने बॉस का आदेश मानो। जैसा वो कह रहा है वैसा करो।"
----------
सेर को सवा सेर!
एक कंजूस आदमी जब मरने लगा तो उसने अपने तीनों बेटों को बुलाया और बोला, "मैंने हमेशा लोगों को यह कहते सुना है कि मरने के बाद आदमी के साथ कुछ भी नहीं जाता। लेकिन मैं इस धारणा को गलत साबित कर दूंगा। मेरे पास कुल तीस लाख रुपये हैं। मैं तुम तीनों को एक-एक लिफाफा दूंगा जिनमें से हरेक में दस लाख रुपये होंगे। मैं चाहता हूं कि मुझे दफनाते समय तुम लोग ये रुपये मेरी कब्र में डाल दो।"

जब वह आदमी मर गया तो वादे के मुताबिक तीनों बेटों ने उसकी कब्र में अपने अपने लिफाफे डाल दिए।

घर लौटते समय बड़ा बेटा गमगीन स्वर में बोला, "भाई, मुझे बड़ी आत्मग्लानि हो रही है। मुझे बैंक का कर्ज लौटाना था इसलिए मैंने लिफाफे से 2 लाख निकाल लिए थे।"

मंझला बेटा भी आंखों में आंसू भरकर बोला, "मैंने भी नया घर खरीदा है। उसके लिए कुछ पैसों की जरूरत थी सो मैंने लिफाफे में से 4 लाख निकाल लिए थे।"

उन दोनों की बातें सुनकर छोटा बेटा तैश में आकर बोला, "शर्म आनी चाहिए! आप लोग पिताजी की अंतिम इच्छा का भी पालन नहीं कर सके। मैंने तो एक पैसे की भी बेईमानी नहीं की। पूरे दस लाख का चेक लिफाफे में डालकर आया हूं।"
----------
प्रोसीजर तो फॉलो करना पड़ेगा!
बैंक में एक ग्राहक ने सुन्दर बैंक कर्मी से बड़ी ही शालीनता से पूछा, "मैडम, क्या आप मुझे बता सकती हैं कि जो चेक मैंने अभी दिया है वो कितने दिन में क्लियर हो जायेगा?"

बैंक कर्मी: कम से कम दो-तीन लगेंगे।

ग्राहक: लेकिन मैडम, इतना टाइम क्यों लगेगा? जिस बैंक का चेक मैंने दिया है वो तो सामने वाली बिल्डिंग में ही है।

बैंक कर्मी(बड़े ही शांत स्वर में): सर, मैं आपको कैसे समझाऊं, प्रोसीजर तो फॉलो करना पड़ता है न, मान लीजिये कि आप शमशान के सामने ही मर जाते हैं तो आपकी लाश को घर ले जायेंगे कि वहीँ सामने निपटा देंगे?
----------
बीमा कंपनी!
एक बीमा कंपनी के तीन सेल्समैन अपनी अपनी कंपनी की तेज सेवा के विषय में बातें कर रहे थे।

पहला कहने लगा,"यार हमारी कंपनी की सर्विस इतनी तेज है कि जब हमारी कंपनी द्वारा बीमाकृत व्यक्ति की सोमवार को अचानक मृत्यु हो गयी, हमें इस बात का पता उसी शाम को चला और हमारी कंपनी ने बुधवार को ही मुआवजे की सारी रकम उनके घर पहुंचा दी।"

दूसरा आदमी बोला,"अरे यार, जब हमारी कंपनी द्वारा बीमाकृत व्यक्ति मरा था तो, जैसे ही हमारी कंपनी को पता चला तो हमारी कंपनी ने उसी शाम को उनके घर जाकर मुआवजे की सारी रकम दे दी।"

आखिरी सेल्समैन ने कहा,"अरे ये तो कुछ भी नही हमारा ऑफिस एक बिल्डिंग के 20वें माले पर है और उस बिल्डिंग में लगभग 70 मंजिलें है हमारी कंपनी का बीमाकृत व्यक्ति 70 वें माले पर खिड़की साफ़ कर रहा था उसका पैर फिसला और वह नीचे गिर गया। जब वह हमारे ऑफिस तक पहुंचा तो हमने उसके मुआवजे वाला चैक उसके हाथ में ही पकड़ा दिया।"
----------


स्कूल की ज़िन्दगी पर बॉलीवुड गीत!
स्कूल:
अपनी तो पाठशाला, मस्ती की पाठशाला

ट्यूशन:
इधर चला मैं उधर चला

गणित:
अजीब दास्तान है यह

विज्ञान:
आ ख़ुशी से ख़ुदकुशी कर ले

भूगोल:
मुसाफिर हूँ मैं यारो

अर्थ शास्त्र:
क्यों पैसा-पैसा करती है, पैसे पे क्यों मरती है

परीक्षा:
ज़हरीली रातें, नींदें उड़ जाती हैं

रिजल्ट:
जिया धड़क धड़क जाये

पास:
आज मैं ऊपर आसमान नीचे

फेल:
जग सूना-सूना लागे
----------
कंजूसी की हद!
एक कंजूस आदमी जिंदगी भर अपने पुत्रों को कम से कम खर्च करने की हिदायतें देता रहा था। जब वह मरणासन्न स्थिति में पहुंच गया तो पुत्र आपस में मशवरा करने लगे कि किस प्रकार पिता की इच्छा के अनुसार कम से कम खर्च में उनकी अंतिम यात्रा निपटाई जाए।

एक ने कहा, "ऐम्बुलेंस में ले जाया जाए।"

दूसरे ने कहा, "नहीं, ऐम्बुलेंस बहुत मंहगी होगी। ठेलागाड़ी में ले चलते हैं।"

तीसरे ने कहा, "क्यों न साइकिल पर बांधकर ले चलें?"

यह सब सुनकर कंजूस से रहा नहीं गया। उठकर बोला, "कुछ मत करो, मेरा कुर्ता और जूते ला दो। मैं पैदल ही चला जाऊंगा।"
----------
औरत के कान!
एक आदमी ने दुर्घटना में दोनों कान खो दिए, कोई भी प्लास्टिक सर्जन उसका समाधान नहीं कर पाया, उसने किसी से सुना कि स्वीडन में कोई सर्जन है जो इसे ठीक कर सकता है और वो उसके पास गया।

नए सर्जन ने उस कि जांच की, थोड़ी देर सोचा और फिर कहा, मैं तुम्हें ठीक कर दूंगा।

ओप्रशन के बाद पट्टियां खोली गयी, टांके भी खोल दिए गए और वो वापिस अपने होटल चला गया।

अगली सुबह उसने बहुत गुस्से में सर्जन को फ़ोन किया और जोर से चिल्लाया कमीने तुमने मुझ में औरत का कान लगाया है।

सर्जन ने कहा, तो क्या हुआ कान तो कान है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, औरत का हो या मर्द का।

ऐसा नहीं है, आप गलत बोल रहे हैं, मैं सुन तो सब कुछ सकता हूँ, पर समझ में कुछ भी नहीं आ रहा है।
----------
बादशाह की पसंद!
एक बार एक बादशाह को एक लड़की पसंद आ गयी!

उस लड़की का बाप सुनार था, बादशाह ने सुनार को दरबार में बुलाया!

चार दिन गुजरने के बाद भी सुनार बादशाह के दरबार में नहीं आया तो बादशाह ने सुनार को गिरफ्तार करने के लिए सिपाही भेजे!

जब वो सुनार के घर पहुंचे तो घर को ताला लगा हुआ था!

बादशाह ने सिपाहियों को हुक्म दिया कि सुनार को ढूँढो!

सिपाहियों ने सुनार को हर जगह ढूँढा, लेकिन वो उनको कहीं नहीं मिला, फिर उन्होंने एक तरकीब निकाली और ऐलान किया की जो भी सुनार को ढूँढने में मदद करेगा उसे एक किलो सोना दिया जाएगा, फिर भी सुनार नहीं मिला!

फिर ऐलान किया गया की जो भी सुनार को छुपने में मदद करेगा उसे सूली पर चढ़ा दिया जाएगा, फिर भी सुनार नहीं मिला, और सिपाहियों का सुनार को ढूँढने में सारा वक़्त ऐसे ही बर्बाद हुआ जैसे आप का इस मेसेज को पढने में हुआ.... जिस का कोई मतलब नहीं!

हँसना मत, गुस्सा भी मत करना मेरे साथ भी ऐसे ही हुआ था!

किसी और को भेज के बदला ले लो!

----------

साथ है आपके यूपी सरकार!
एक लड़का एक लड़की आपस में बहुत प्यार करते थे। एक दिन लड़की के बाप को उन दोनों के प्यार का पता चल गया तो उसने एक दिन लड़के को उठा लिया और उसे मारने के लिए उसे बिजली से चलने वाली आरी के नीचे बाँध दिया।

लड़का नीचे बँधा हुआ था और आरी धीरे-धीरे लड़के की गर्दन की तरफ बढ़ रही थी।

जैसे ही आरी लड़के को काटने वाली थी कि अचानक बिजली चली गई।

लड़का चिल्लाया, "अखिलेश सिंह यादव जिन्दाबाद।"

शिक्षा: अगर सच्चा है आपका प्यार तो साथ है आपके यूपी सरकार;
जहाँ बिजली आती है कभी कभार।
----------
सबसे अच्छा दोस्त!
एक अभिनेता अपनी एक परिचित युवती के साथ मेकअप रूम में बैठा बातचीत कर रहा था। युवती ने बातचीत में पूछा, "तुम्हारी पत्नी का क्या हाल है, अब वह तुमसे झगड़ा नहीं करती?"

"अब मैं मजे में हूं।" अभिनेता ने मुंह पर मुस्कान लाते हुए कहा, "मेरी पत्नी को मेरा सबसे अच्छा दोस्त ले भागा है।"

"क्या वह खूबसूरत था?" युवती ने पूछा।

"मालूम नहीं, मैं उसे जनता नहीं।" अभिनेता ने मासूम सा चेहरा बनाकर कहा।

"तो फिर वह तुम्हारा सबसे अच्छा दोस्त कैसे हुआ?" युवती ने आश्चर्य से पूछा।

"उसने सबसे बड़ी मुसीबत से मेरी जान छुड़ाई है।" अभिनेता ने चैन की सांस लेकर कहा।
----------
बहन भाई का मज़ाक!
लड़के ने एक लड़की को कॉल की और कहा;

लड़का: जान आई लव यू!

लड़की: सच्ची?

लड़का: हां यार!

लड़की: अच्छा तो चलो मेरा 100 रुपए का रिचार्ज करवा दो!

लड़का: क्या यार अब तो मतलब बहन के साथ मजाक भी नहीं कर सकते!

----------
गुरु, गुरु ही होता है!
एक रात, चार कॉलेज विद्यार्थी देर तक मस्ती करते रहे और जब होश आया तो अगली सुबह होने वाली परीक्षा का भूत उनके सामने आकर खड़ा हो गया।

परीक्षा से बचने के लिए उन्होंने एक योजना बनाई। मैकेनिकों जैसे गंदे और फटे पुराने कपड़े पहनकर वे प्रिंसिपल के सामने जा खड़े हुए और उन्हें अपनी दुर्दशा की जानकारी दी।

उन्होंने प्रिंसिपल को बताया कि कल रात वे चारों एक दोस्त की शादी में गए हुए थे। लौटते में गाड़ी का टायर पंक्चर हो गया। किसी तरह धक्का लगा-लगाकर गाड़ी को यहां तक लाए हैं। इतनी थकान है कि बैठना भी संभव नहीं दिखता, पेपर हल करना तो दूर की बात है। यदि आप हम चारों की परीक्षा आज के बजाय किसी और दिन ले लें तो बड़ी मेहरबानी होगी।

प्रिंसिपल साहब बड़ी आसानी से मान गए। उन्होंने तीन दिन बाद का समय दिया। विद्यार्थियों ने प्रिंसिपल साहब को धन्यवाद दिया और जाकर परीक्षा की तैयारी में लग गए।

तीन दिन बाद जब वे परीक्षा देने पहुंचे तो प्रिंसिपल ने बताया कि यह विशेष परीक्षा केवल उन चारों के लिए ही आयोजित की गई है। चारों को अलग-अलग कमरों में बैठना होगा।

चारों विद्यार्थी अपने-अपने नियत कमरों में जाकर बैठ गए। जो प्रश्नपत्र उन्हें दिया गया उसमें केवल दो ही प्रश्न थे:

प्र.1 आपका नाम क्या है? (2 अंक)

प्र.2 गाड़ी का कौन सा टायर पंक्चर हुआ था? (98 अंक)
----------


पहले कॉफी पिऊंगा!
एयर इंडिया की फ्लाईट का पायलट यात्रिओं को सूचना देने के बाद एम.आई.सी. बंद करना भूल गया पायलट अपने साथी पायलट से कहने लगा:

मैं पहले कॉफी पियूँगा फिर एयरहोस्टैस को किस्स करूँगा!

ये सुन के एयरहोस्टैस एम.आई .सी. बंद करने भागी और फिसल कर गिर पड़ी!

पास बैठा बुजुर्ग ये देख कर बोला:

बेटी, आराम से जा पहले वो कॉफी पिएगा...
----------
जनता बेहाल!
दिल्ली की सड़कों पर एक 20-25 साल का लड़का रात को 12 बजे अकेला चला जा रहा था। तभी उसे रास्ते पर एक आदमी मिला जो फुटपाथ पर सिर्फ एक चड्डी पहन कर बैठा हुआ था।

लड़के को उस आदमी पर दया आ गयी और उसने अपनी जेब से 50 रुपये निकाल कर उस आदमी को दे दिये।

आदमी ने पहले पैसे को देखा, चुपके से खड़ा हुआ और एक ज़ोरदार थप्पड़ उस लड़के को जड दिया।

लड़का हक्का बक्का रह गया। तब उस आदमी ने कहा, "वो सामने वाला फ्लैट देख रहे हो, वो मेरा ही है। बिजली नही है इसलिये बिना कपड़ों के सड़क पर बैठा हूँ।"
----------
अनोखा प्यार का इज़हार!
एक बार एक लड़का अपनी पड़ोस की एक लड़की के पास गया और बोला;

लड़का: आई लव यू!

लड़के की बात सुन लड़की ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया;

लड़की: सॉरी, मैं किसी और से प्यार करती हूँ!

लड़का उदास हो गया फिर अचानक भागने लगा और बोला;

लड़का: तेरी मम्मी को बताऊंगा - तेरी मम्मी को बताऊंगा!

लड़की: अरे रुक जा कमबख्त आई लव यू टू!

----------
मैंने आपको पहचाना नहीं!
एक 45 साल की महिला बहुत बीमार हो गयी उसे तुरंत अस्पताल ले गए अस्पताल में डॉक्टर ने कहा कि तुरंत ऑपरेशन करना पड़ेगा!

उसे ऑपरेशन थियेटर में ले गए अभी वो वहां लेटी ही थी कि उसे साक्षात् भगवान के दर्शन हो गए भगवान ने कहा अभी तुम्हें मरना नहीं है अभी तो तुमने 40 साल 2 महीने और 8 दिन का जीवन और जीना है यह कहकर भगवान गायब हो गए, ऑपरेशन सफलतापूर्वक हो गया!

महिला ने सोचा अब तो उसके पास काफी उम्र पड़ी है क्यों न अपने आप को थोड़ा सजाया संवारा जाये उसने वहीँ पर अपने साज सिंगार के लिए ब्यूटीशियन को बुलाया वजन कम करने के लिए डायटिंग शुरू कर दी!

कई दिन तक अस्पताल में रहने के बाद जब उसे घर आना था तो उसने फिर से साज सिंगार किया और हेयरड्रेसर को बुलाकर अपने बालों के रंग को चेंज करवाया!

अब वो बिलकुल बदली बदली थी जब वो अस्पताल से जाने लगी तो मन ही मन बहुत खुश थी कि उसके पास जीने के लिए अभी काफी लम्बा जीवन है!

वो काफी अच्छा महसूस कर रही थी जैसे ही वो अस्पताल के बाहर गली को पार करने लगी सामने से आती एम्बुलेंस ने उसे जोर की टक्कर मारी और वो वहीँ गिर कर मर गयी!

जैसे ही भगवान के पास पहुंची और कहने लगी मैं तो ये सोच कर काफी खुश थी कि मेरे पास जीने के लिए 40 साल से ज्यादा उम्र है!

यही कहकर आये थे न आप!

फिर आपने मुझे एम्बुलेंस के सामने आकर बचाया क्यों नहीं?

भगवान ने कहा मैं क्या करता मैं तुम्हें पहचान ही नहीं पाया!
----------


संसार का सबसे बड़ा दुःख!
एक बार एक साधु भगवान से प्रार्थना कर रहा था, "हे भगवान, यह संसार कितना दुखी है, कितने कष्ट हैं इसे, तुम मुझे इस संसार के सारे कष्ट दे दो। तुम चाहे मुझे दुखी कर दो लेकिन इस संसार को सुखी कर दो।"

साधु की प्रार्थना वहाँ से गुज़र रहे एक आदमी ने सुनी और साधु से बोला, "अगर तुम्हें सच में दुःख चाहिए तो भगवान से दुःख मत मांगो बल्कि जल्दी से शादी कर लो, फिर भगवान से कभी दुःख नहीं माँगना पड़ेगा।"
----------
इज्ज़तदार खानदान!
लड़की: अम्मी मैं शादी नहीं करुँगी और अगर ज़बरदस्ती तुम ने मेरी शादी की तो घर से भाग जाउंगी।

माँ रोते हुए बोली, "बेटी मैंने भाग के तेरे अब्बा के साथ शादी की, तेरी खाला और बहन ने भाग के शादी की, तेरा भाई नौकरानी के साथ और तेरे चाचा धोबन के साथ भाग गया, तेरी फूफू सब्जी वाले के साथ और तेरी मौसी की बेटी दूधवाले के साथ भाग गयी, तेरा बाप दो बार पड़ोसन के साथ भाग चुका है अब तू भी भाग जायेगी तो

.
.
.
.
.
.
.
.
.
हमारी क्या इज्ज़त रह जायेगी कुछ ख्याल कर"।
----------
तीन सवाल!
एक बार एक लड़के ने एक बुजुर्ग से पूछा, "बाबा, जब एक दिन दुनिया से जाना है तो फिर लोग पैसे के पीछे क्यों भागते हैं?"

"जब जमीन जायदाद जेवर यहीं रह जाते हैं तो लोग इनको अपनी जिंदगी क्यों बनाते हैं?"

"जब रिश्ते निभाने की बारी आती है तो दोस्त ही दुश्मनी क्यों निभाते हैं?"

बुजुर्ग ने गौर से तीनों सवाल सुने। फिर उसने माचिस की डिब्बी से तीन तीलियां निकालीं। दो तीलियां उसने फेंक दीं और एक तीली को आधा तोड़कर उसका ऊपर वाला भाग फेंक दिया। उसके बाद नीचे वाले भाग को नुकीला बनाकर अपना दांत कुरेदते हुए बोला,
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
"चल भाग यहाँ से, मुंझे नहीं पता।"
----------
मेहनत करे मुर्गी अण्डा खाए फ़क़ीर!
एक बार एक किसान का घोडा बीमार हो गया। उसने उसके इलाज के लिए डॉक्टर को बुलाया। डॉक्टर ने घोड़े का अच्छे से मुआयना किया बोला, "आपके घोड़े को काफी गंभीर बीमारी है। हम तीन दिन तक इसे दवाई देकर देखते हैं, अगर यह ठीक हो गया तो ठीक नहीं तो हमें इसे मारना होगा। क्योंकि यह बीमारी दूसरे जानवरों में भी फ़ैल सकती है।"

यह सब बातें पास में खड़ा एक बकरा भी सुन रहा था।

अगले दिन डॉक्टर आया, उसने घोड़े को दवाई दी चला गया। उसके जाने के बाद बकरा घोड़े के पास गया और बोला, "उठो दोस्त, हिम्मत करो, नहीं तो यह तुम्हें मार देंगे।"

दूसरे दिन डॉक्टर फिर आया और दवाई देकर चला गया।

बकरा फिर घोड़े के पास आया और बोला, "दोस्त तुम्हें उठना ही होगा। हिम्मत करो नहीं तो तुम मारे जाओगे। मैं तुम्हारी मदद करता हूँ। चलो उठो"

तीसरे दिन जब डॉक्टर आया तो किसान से बोला, "मुझे अफ़सोस है कि हमें इसे मारना पड़ेगा क्योंकि कोई भी सुधार नज़र नहीं आ रहा।"

जब वो वहाँ से गए तो बकरा घोड़े के पास फिर आया और बोला, "देखो दोस्त, तुम्हारे लिए अब करो या मरो वाली स्थिति बन गयी है। अगर तुम आज भी नहीं उठे तो कल तुम मर जाओगे। इसलिए हिम्मत करो। हाँ, बहुत अच्छे। थोड़ा सा और, तुम कर सकते हो। शाबाश, अब भाग कर देखो, तेज़ और तेज़।"

इतने में किसान वापस आया तो उसने देखा कि उसका घोडा भाग रहा है। वो ख़ुशी से झूम उठा और सब घर वालों को इकट्ठा कर के चिल्लाने लगा, "चमत्कार हो गया। मेरा घोडा ठीक हो गया। हमें जश्न मनाना चाहिए। आज बकरे का गोश्त खायेंगे।"

शिक्षा: मैनेजमेंट को भी कभी पता नहीं चलता कि कौन सा कर्मचारी कितना योग्य है।
----------


टूथ ब्रश की रिटायरमेंट!
एक बार एक कॉन्फ्रेंस चल रही थी, जहाँ पर दुनिया भर से अलग अलग देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे थे। संचालक ने सभी से एक सवाल पूछा कि टूथ ब्रश कितने समय के बाद रिटायर हो जाता है?

सब ने अलग अलग जवाब दिए। किसी ने कहा, एक हफ्ता, किसी ने एक महीना, किसी ने दो महीने तो किसी ने तीन महीने।

अब बारी आई हिंदुस्तानी प्रतिनिधि की। जब उनसे यह सवाल पूछा तो उन्होंने इसका जवाब कुछ यूँ दिया, "हिंदुस्तान में टूथ ब्रश कभी रिटायर नहीं होता। क्योंकि सब से पहले तो टूथ ब्रश दाँत साफ़ करने के काम आता है, फिर उसका इस्तेमाल बाल में रंग लगाने के लिए होता है, उसके बाद मशीन की सफाई करने के काम आता है और जब उसके बाल पूरी तरह से टूट जायें तो उसका इस्तेमाल पजामे में नाड़ा डालने के लिए किया जाता है। इस तरह टूथ ब्रश कभी भी रिटायर नहीं होता।"
----------
सेर को सवा सेर!
एक कंजूस आदमी जब मरने लगा तो उसने अपने तीनों बेटों को बुलाया और बोला, "मैंने हमेशा लोगों को यह कहते सुना है कि मरने के बाद आदमी के साथ कुछ भी नहीं जाता। लेकिन मैं इस धारणा को गलत साबित कर दूंगा। मेरे पास कुल तीस लाख रुपये हैं। मैं तुम तीनों को एक-एक लिफाफा दूंगा जिनमें से हरेक में दस लाख रुपये होंगे। मैं चाहता हूं कि मुझे दफनाते समय तुम लोग ये रुपये मेरी कब्र में डाल दो।"

जब वह आदमी मर गया तो वादे के मुताबिक तीनों बेटों ने उसकी कब्र में अपने अपने लिफाफे डाल दिए।

घर लौटते समय बड़ा बेटा गमगीन स्वर में बोला, "भाई, मुझे बड़ी आत्मग्लानि हो रही है। मुझे बैंक का कर्ज लौटाना था इसलिए मैंने लिफाफे से 2 लाख निकाल लिए थे।"

मंझला बेटा भी आंखों में आंसू भरकर बोला, "मैंने भी नया घर खरीदा है। उसके लिए कुछ पैसों की जरूरत थी सो मैंने लिफाफे में से 4 लाख निकाल लिए थे।"

उन दोनों की बातें सुनकर छोटा बेटा तैश में आकर बोला, "शर्म आनी चाहिए! आप लोग पिताजी की अंतिम इच्छा का भी पालन नहीं कर सके। मैंने तो एक पैसे की भी बेईमानी नहीं की। पूरे दस लाख का चेक लिफाफे में डालकर आया हूं।"
----------
अनोखा परीक्षण!
एक बदसूरत काला सा आदमी जुकाम की शिकायत लेकर डाक्टर के पास गया। डाक्टर ने उसे सरसरी निगाह से देखकर कहा कि वो अपने कपडे उतार दे और दोनों हाथों को जमीन पर टिका दे।

आदमी हैरान परेशान हो गया पर उसने वैसा ही किया जैसा कि डॉक्टर ने उसे करने के लिए कहा।

डाक्टर: ठीक है, अब जानवरों की तरह चलिए, और कमरे के दायें कोने में जाएं।

आदमी ने यही किया।

डाक्टर: ठीक अब बाएँ कोने में जाएं।

आदमी उधर चला गया।

डॉक्टर: अब इस कोने में, अब उस कोने में, अब सामने, अब बीच में।

आदमी घबरा के उठ खड़ा हुआ और बोला, "डाक्टर साहब, कोई गंभीर बीमारी तो नहीं हो गयी मुझे?"

डॉक्टर: अरे नहीं, मामूली जुकाम है, ये दो गोली लो सुबह तक ठीक हो जाओगे।

आदमी: पर डॉक्टर साहब आपने ये मेरा एक घंटे तक इस तरह परीक्षण क्यों किया?

डॉक्टर: कुछ नहीं यार, बात यह है कि मैंने एक काले रंग का सोफा ख़रीदा है, मैं देखना चाहता था इस कमरे में वो किस जगह ठीक दिखेगा।
----------
बच्चे की तरह!
दो काफी वृद्ध व्यक्ति एक पार्क में पेड़ के नीचे बैठे थे तभी दोनों एक दूसरे की तरफ देखने लगे उनमें से एक बोला:!

अरे यार! अब तो मेरी उम्र 83 साल हो गयी है, अब तो मेरा शरीर दर्द और थकान से भर गया है!मैं जानता हूँ, तुम भी मेरी ही उम्र के हो तुम्हें कैसा महसूस होता है?!

उसके दोस्त ने कहा: अरे मैं तो छोटे से बच्चे की तरह महसूस करता हूँ!!

क्या! सच में बच्चे की तरह?!

हाँ बच्चे की तरह कोई बाल नहीं, कोई दांत नहीं, और कभी कभी तो ऐसा लगता है जैसे मैंने अपनी पेंट में ही गीला कर दिया हो!
----------


राज़ की बात!
भारतीय लड़कियां खेलों में अच्छी क्यों नहीं हैं?

क्योंकि, सिर्फ 10% क्रिकेट, हॉकी, टेनिस, बैडमिंटन, शतरंज आदि खेलती हैं बाकि कि 90% तो "जानू" से खेलने में व्यस्त रहती हैं।

जानू कहाँ हो?

जानू क्या कर रहे हो?

जानू कब आओगे?

जानू आप मुझसे प्यार करते हो न?

जानू किसके साथ हो?

जानू मुझे ये चाहिए।

जानू फिल्म देखने चलें, जानू ये क्या है?

जानू क्या किया दिनभर?

जानू आपने मुझे याद किया न?

जानू कुछ तो बोलो।

जानू मुझे आपकी बहुत याद आ रही है।

जानू ये।

जानू वो।

जानू कुछ नहीं।

"जान ले लो जानू की।"
----------
बादशाह का प्यार!
एक बार एक बादशाह को एक लड़की पसंद आ गयी। उस लड़की का बाप सुनार था, बादशाह ने सुनार को दरबार में आने के लिए बुलावा भेजा।

चार दिन गुजरने के बाद भी सुनार बादशाह के दरबार में नहीं आया तो बादशाह ने सुनार को गिरफ्तार करने के लिए अपने सिपाही भेज दिए।

जब सिपाही सुनार के घर पहुंचे तो घर को ताला लगा हुआ था। बादशाह ने सिपाहियों को हुक्म दिया कि सुनार को ढूँढो।

सिपाहियों ने सुनार को हर जगह ढूँढा, लेकिन वो उनको कहीं नहीं मिला, फिर उन्होंने एक तरकीब निकाली और ऐलान किया कि जो भी सुनार को ढूँढने में मदद करेगा उसे एक किलो सोना दिया जाएगा, फिर भी सुनार नहीं मिला।

फिर ऐलान किया गया कि जो भी सुनार को छुपने में मदद करेगा उसे फांसी पर चढ़ा दिया जाएगा, फिर भी सुनार नहीं मिला, और सिपाहियों का सुनार को ढूँढने में सारा वक़्त ऐसे ही बर्बाद हुआ जैसे आप का इस को पढने में हुआ.... जिस का कोई मतलब नहीं है।

हँसना मत, गुस्सा भी मत करना मेरे साथ भी ऐसे ही हुआ था। आप भी किसी और के साथ ऐसा करके बदला ले सकते हैं।
----------
जीवन रक्षक!
एक लड़का एक कोचिंग सेंटर में प्री-मेडिकल-टेस्ट की तैयारी कर रहा था।

फिजिक्स उस लड़के को बिलकुल समझ में नहीं आता था और सारे लेक्चर उसके सिर के ऊपर से निकल जाते थे।

एक दिन उसने टीचर से पूछा, "सर, हम लोग यहाँ डॉक्टर बनने की तैयारी करने आए हैं वैज्ञानिक बनने की नहीं, फिर हमें फिजिक्स क्यों पढ़ना पड़ता है?"

टीचर ने मुस्कुरा कर कहा, "फिजिक्स मेडिकल साइंस के लिए बड़ा उपयोगी विषय है। यह लोगों की ज़िन्दगी बचाने में मदद करता है।"

लड़के ने हलके से व्यंग्यात्मक अंदाज़ में कहा, "अच्छा, वो कैसे सर? ज़रा हमें भी तो बताईये कि फिजिक्स से लोगों की जिंदगी कैसे बचाई जा सकती है?"

टीचर ने जवाब दिया, "तुम जैसे गधों को मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने से रोक कर।"
----------
हाज़िर जवाब नौकर!
एक कर्मचारी अपने वेतन का चेक लेकर अपने मालिक के पास पहुंचा और बोला, "यह चेक मेरे वेतन से दो सौ रुपये कम का है।"

मालिक: पिछले महीने जब मैंने तुम्हें दो सौ रुपये ज्यादा का चेक दिया था तो तुमने कोई शिकायत नहीं की थी।

कर्मचारी: ठीक है, वह आपकी पहली गलती थी इसलिए मैंने ध्यान नहीं दिया। लेकिन अगर गलती करना आप अपनी आदत बना लेंगे तो मुझे कहना ही पड़ेगा ना।
----------


हर तरफ युवतियां!
अगर बारिश हो तो
बारिश में नहाती युवतियां;

अगर गर्मी हो तो
धूप में तपती युवतियां;

अगर एग्जाम हो तो
परीक्षा देती युवतियां;

अगर ट्रैफिक हो तो
जाम में फंसी युवतियां;

अगर मौसम अच्छा हो तो
मौसम का लुत्फ उठाती युवतियां;

साला अखबार वालों को पता नहीं कभी हम लड़के नजर क्यों नही आते।
----------
आज - कल
कुछ लोग जब रात को अचानक फोन का बैलेंस ख़त्म हो जाता है इतना परेशान हो जाते हैं कि जैसे सुबह तक वो इंसान जिंदा ही नहीं रहेगा जिससे बात करनी थी।

कुछ लोग जब फ़ोन की बैटरी 1-2% हो तो चार्जर की तरफ ऐसे भागते है जैसे अपने फ़ोन कह रहे हों "तुझे कुछ नहीं होगा भाई, आँखे बंद मत करना मैं हूँ न सब ठीक हो जायेगा।"

कुछ लोग अपने फोन में ऐसे पैटर्न लॉक लगाते हैं जैसे आई एस आई की सारी गुप्त फाइलें उनके फ़ोन में ही पड़ी हों।

कुछ लोग जब आपसे बात कर रहे होते हैं तो बार बार अपने फ़ोन को जेब से निकालते हैं, लॉक खोलते हैं और वापस लॉक कर देते हैं। वास्तव में वे कुछ देखते नहीं हैं, बस ये जताते हैं कि वो जाना चाहते हैं।

और अगर कभी गलती से फ़ोन किसी दूसरे दोस्त के यहाँ छूट जाए तो ऐसा महसूस होता हैं जैसे अपनी भोली-भाली गर्लफ्रेंड को शक्ति कपूर के पास छोड़ आये हों।
----------
एक मच्छर का एक्सक्लूजिव इंटरव्यू!
रिपोर्टर: आपका प्रकोप दिनो-दिन बढ़ता ही जा रहा है, क्यों?
मच्छर: सही शब्द इस्तेमाल कीजिये, इसे प्रकोप नहीं फलना-फूलना कहते हैं. पर तुम इंसान लोग तो दूसरों को फलते-फूलते देख ही नहीं सकते न, आदत से मजबूर जो ठहरे।

रिपोर्टर: हमें आपके फलने-फूलने से कोई ऐतराज़ नहीं है पर आपके काटने से लोग जान गँवा रहे हैं, जनता में भय व्याप्त हो गया है।
मच्छर: हम सिर्फ अपना काम कर रहे हैं. श्रीकृष्ण ने गीता में कहा है कि 'कर्म ही पूजा है'। अब विधाता ने तो हमें काटने के लिए ही बनाया है, हल में जोतने के लिए नहीं ! जहाँ तक लोगों के जान गँवाने का प्रश्न है तो आपको मालूम होना चाहिए कि `हानि-लाभ, जीवन-मरण, यश-अपयश विधि हाथ'।

रिपोर्टर: लोगों की जान पर बनी हुई है और आप हमें दार्शनिकता का पाठ पढ़ा रहे हैं।
मच्छर: आप तस्वीर का सिर्फ एक पहलू देख रहे हैं। हमारी वजह से कई लोगों को लाभ भी होता है, ये शायद आपको पता नहीं ! जाइये इन दिनों किसी डॉक्टर, केमिस्ट या पैथोलॉजी लैब वाले के पास, उसे आपसे बात करने की फ़ुर्सत नहीं होगी। अरे भैया, उनके बीवी-बच्चे हमारा 'सीजन' आने की राह देखते हैं, ताकि उनकी साल भर से पेंडिंग पड़ी माँगे पूरी हो सकें. क्या समझे आप? हम देश की इकॉनोमी बढाने में महत्त्वपूर्ण योगदान कर रहे हैं, ये मत भूलिये।

रिपोर्टर: परन्तु मर तो गरीब रहा है न, जो इलाज करवाने में सक्षम ही नहीं है।
मच्छर: हाँ तो गरीब जी कर भी क्या करेगा? जिस गरीब को आप अपना घर तो छोडो, कॉलोनी तक में घुसने नहीं देना चाहते, उसके साथ किसी तरह का संपर्क नहीं रखना चाहते, उसके मरने पर तकलीफ होने का ढोंग करना बंद कीजिये आप लोग।

रिपोर्टर: आपने दिल्ली में कुछ ज्यादा ही कहर बरपा रखा है।
मच्छर: देखिये हम नेता नहीं हैं जो भेदभाव करें... हम सभी जगह अपना काम पूरी मेहनत और लगन से करते हैं। दिल्ली में हमारी अच्छी परफॉरमेंस की वजह सिर्फ इतनी है कि यहाँ हमारे काम करने के लिए अनुकूल माहौल है। केंद्र और राज्य सरकार की आपसी जंग का भी हमें भरपूर फायदा मिला है।

रिपोर्टर: खैर, अब आखिर में आप ये बताइये कि आपके इस प्रकोप से बचने का उपाय क्या है?
मच्छर: उपाय तो है अगर कोई कर सके तो... लगातार सात शनिवार तक काले-सफ़ेद धब्बों वाले कुत्ते की पूँछ का बाल लेकर बबूल के पेड़ की जड़ में बकरी के दूध के साथ चढाने से हम प्रसन्न हो जायेंगे और उस व्यक्ति को नहीं काटेंगे।

रिपोर्टर: आप उपाय बता रहे हैं या अंधविश्वास फैला रहे हैं?
मच्छर: दरअसल आम हिंदुस्तानी लोग ऐसे ही उपायों के साथ आराम महसूस करते हैं। उन्हें विज्ञान से ज्यादा कृपा में यकीन होता है। वैसे सही उपाय तो साफ़-सफाई रखना है, जो रोज ही टीवी चैनलों और अखबारों के जरिये बताया जाता है, पर उसे मानता कौन है? अगर उसे मान लिया होता तो आज आपको मेरा इंटरव्यू लेने नहीं आना पड़ता।
----------
इंजीनियर बनने के कुछ प्रमुख कारण!
आखिर मैंने अपने कैरियर के लिए IT Industry ही क्यों चुनी? इसके कुछ प्रमुख कारण हैं जो इस प्रकार हैं:

मुझे सोना पसंद नहीं है।

मैंने अपने बचपन में बहुत मज़े किये हैं।

मुझे तनावपूर्ण जीवन पसंद है।

मैं अपने आप से बदला लेना चाहता था।

मैं अपने सामाजिक रिश्ते-नाते तोडना चाहता था।

मुझे छुट्टियों पर भी काम करना पसंद है।

मैं अपने सारे दोस्त खोना चाहता था।

मैं अपना पारिवारिक जीवन सुखमय और आनंदमय ढंग से नहीं बिताना चाहता था।

मैं जागते हुए सपने देखना पसंद करता हूँ।

मैं 'गीता' में विश्वास रखता हूँ - कर्म कर फल की चिंता मत कर।
----------


दुनिया गोल है!
बॉस (सेक्रेटरी से): तुम और मैं एक हफ्ते के लिए लंदन जा रहे हैं। ज़रूरी मीटिंग है।

सेक्रेटरी (पति से): ऑफिस के काम से मुझे बॉस के साथ एक हफ्ते के लिए लंदन जाना है। जरूरी मीटिंग है।

पति (अपनी गर्लफ्रेंड से, जो एक टीचर है): मेरी बीवी एक हफ्ते के लिए बाहर जा रही है। उसके जाते ही तुम घर आ जाना।

गर्लफ्रेंड (स्टूडेंट्स से): बच्चो, मैं एक हफ्ते के लिए बाहर जा रही हूं, इसलिए तुम्हारी एक हफ्ते की छुट्टी।

एक स्टूडेंट (अपने पिता से, जो कि बॉस है): डैड, मेरी एक हफ्ते की छुट्टी है। मैं घर आ रहा हूं, आप कहीं मत जाना।

बॉस (सेक्रेटरी से): मेरा बेटा आ रहा है। लंदन जाना कैंसल।

सेक्रेटरी (पति से): लंदन जाना कैंसल हो गया।

पति (गर्लफ्रेंड से, जो कि टीचर है): पत्नी नहीं जा रही। हमारा प्रोग्राम कैंसल।

टीचर (स्टूडेंट्स से): बच्चो, आपकी छुट्टियां कैंसल।

स्टूडेंट (पिता से, जो कि बॉस है): पापा, मैं नहीं आ सकता। छुट्टियां कैंसल हो गईं।

.
.
.
.
बॉस (सेक्रेटरी से): मेरा बेटा नहीं आ रहा, हम एक हफ्ते के लिए लंदन जा रहे हैं!
----------
कुछ तमीज़ भी सीखो
एक बार दो दोस्त एक होटल में खाना खाने गए और वेटर को एक प्लेट बटर चिकन लाने के लिए कहा। जब वेटर बटर चिकन लेकर आया तो एक दोस्त ने झट से चिकन का बड़ा टुकड़ा उठा लिया और खाना शुर कर दिया।

यह देख कर दूसरे दोस्त को बहुत बुरा लगा और बोला, "तुम्हें खाने में थोड़ा धैर्य रखना चाहिए और खाने की मेज़ पर थोड़ी तमीज से पेश आना चाहिए।"

यह सुन पहला दोस्त बोला, "अच्छा अगर तुम्हें पहले चिकन उठाने का मौका मिलता तो तुम कौन सा टुकड़ा उठाते?"

दूसरे दोस्त ने बड़ी सहजता से जवाब दिया, "मैं निसंदेह ही छोटे वाला टुकड़ा उठता।"

यह सुन पहला दोस्त बोला, "जब तुम्हें छोटा टुकड़ा ही खाना था, तो अब तुम किस बात के लिए इतना तड़प रहे हो? चुप-चाप कहो ना।"
----------
पत्नी और कामवाली!
अगर आप पत्नी और कामवाली बाई के बीच के वार्तालाप पर गौर करें तो काफी सारे "वन-लाइनर्स" ऐसे होते हैं मानो एक प्रेमिका अपने प्रेमी से बात कर रही हो।

जैसे कि...

सुनो, कल टाइम से आ जाना हाँ।

कल दो बार आ जाना, देखो मैं इंतज़ार करूंगी, धोखा मत दे देना ऐन टाइम पे।

मैं कब से तुम्हारा इंतज़ार कर रही थी। आज बहुत देर कर दी, कल थोड़ा जल्दी आ जाना।

और सबसे क्लासिक, "देखो जब भी छोड़ना हो तो पहले से बता देना, एकदम से मत छोड़ना ताकि मैं दूसरा इंतजाम कर सकूं।"
----------
बुड्ढा बुड्ढी की कहानी!
एक बुड्ढा आया साथ में एक बुढिया लाया;

होटल में जाकर वेटर को बुलाया;

दोनों ने अपना अपना आर्डर मंगवाया;

पहेले बुड्ढ़े ने खाया;

बुढिया ने बिल चुकाया;

फिर बुढिया ने खाया;

बुड्ढ़े ने बिल चुकाया;

ये देख वेटर का सिर चकराया;

वो उनके पास आया और बोला, "जब तुम दोनों में इतना प्यार है तो खाना एक साथ क्यों नही खाया?"

इस पर बुड्ढ़े ने फरमाया, "जानी तेरे सवाल तो नेक है पर हमारे पास दांतों का सेट सिर्फ एक है।"
----------


उम्र का चक्र!
एक औरत और उसका बेटा बस स्टॉप पर खड़े बस का इंतज़ार कर रहे थे तो औरत अपने बेटे से बोली," बेटा अगर बस में कंडक्टर तुमसे तुम्हारी उम्र पूछे तो कहना कि तुम पांच साल के हो। इससे तुम्हारा किराया माफ़ हो जाएगा और तुम बस में मुफ्त सफ़र कर सकोगे।"

थोड़ी देर बाद जब बस आई और वो दोनों जब बस में चढ़े तो कंडक्टर ने बच्चे से उसकी उम्र पूछी।

यह सुन बच्चा बड़े ही गर्व से बोला, "मैं 5 साल का हूँ।"

क्योंकि कंडक्टर का भी उतनी ही उम्र का एक बेटा था तो कंडक्टर भी मुस्कुरा कर बोला, "और आप 6 साल के कब हो जाओगे?"

बच्चा बड़ी मासूमियत से बोला, "जैसे ही मैं इस बस से उतरूंगा।"
----------
शाश्वत सत्य वचन!
लीजिये कुछ शाश्वत सत्य वचन:

1. अगर किसी लडके ने किसी लड़की से 'हाय/हैलो' कहा है तो वो इसे केवल 'हाय/हैलो' ही समझती है। इसके उल्ट अगर किसी लड़की ने किसी लडके को 'हैलो' कहा तो लड़का इसको केवल 'हैलो' नहीं समझेगा।

2. अगर लड़का 'हैलो' को केवल 'हैलो' समझना भी चाहेगा तो उसके दोस्त ऐसा नहीं होने देंगे, आख़िर दोस्त होते ही किस दिन के लिए हैं।

3. लड़के जिनकी गर्लफ्रेंड होती है और जिनकी नहीं होती है, में केवल एक फर्क होता है, पहले वाले लोग 'लड़कियों से बात करते हैं' और दूसरे वाले 'लड़कियों के बारे में बात करते हैं'।

4. इंजीनियरिंग कालेज छोड़ दिए जाएँ तो संसार में सुन्दर लड़कियों की कोई कमी नहीं है।

5. जो इंजीनियरिंग कालेज जितना अच्छा होगा वहाँ लड़कियों की गुणवत्ता कालेज की रैंक के व्युत्क्रमानुपाती होगी।

6. आपके मित्र कभी नहीं चाहते कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड बने, वरना वो कैंटीन में किसके साथ बैठ कर मौज करेंगे।

7. कालेज में लड़कियों के पीछे पंजीकरण बिल्कुल मुफ्त होता है, बन्दा साल में दो बार लड़की से बात नहीं करेगा लेकिन कैंटीन में हमेशा 'मेरी वाली'/'तेरी वाली' संबोधन से ही बात होगी।
----------
दोस्त और दोस्ती!
रिजल्ट अगर अच्छा हो तो

माँ: भगवान की कृपया है।
पापा: बेटा किसका है।
दोस्त: चल दारू पीते हैं।

रिजल्ट अगर बुरा हो तो

माँ: आग लगे ऐसे कॉलेज में।
पापा: लाड-प्यार ने बिगाड़ दिया है।
दोस्त: चल दारु पीते हैं।

नौकरी लगने पर

माँ: भगवान का लाख-लाख शुक्र है।
पापा: मन लगा कर काम करना।
दोस्त: चल दारु पीते हैं।

नौकरी छूटने पर

माँ: नौकरी ही खराब थी।
पापा: कोई बात नहीं दूसरी मिल जाएगी।
दोस्त: चल दारु पीते हैं।

शादी पर

माँ: सदा सुखी रहो।
पापा: खुश रहो।
दोस्त: चल दारु पीते हैं।

प्यार में दिल टूटने पर

माँ: बेटा भूल जा उसको।
पापा: मर्द बन।
दोस्त: चल दारु पीते हैं।

दुनिया चाहे कितनी भी बदल जाये दोस्त कभी नहीं बदलते।
----------
नया व्यवसाय!
एक युवा व्यवसायी ने अपने नए व्यसाय की शुरुआत की उसने एक नया ऑफिस किराये पर लिया और उसे बहुत खूबसूरती से सजाया!

अभी उसके पास कोई काम नही था वह ऑफिस में बैठ कर सोच रहा था कि क्या करूँ तभी उसे एक आदमी ऑफिस में आता हुआ नजर आया, वह उसे दिखाने कि कोशिश कर रहा था कि वह काफी व्यस्त है, उसने बाहर आते हुए फ़ोन उठाया और ऐसे बात करने लगा जैसे वह बहुत बड़ी डील के बारे में बात कर रहा है!

वह जोर जोर से बहुत बड़ी बातें कर रहा था वह करोड़ों की बातें कर रहा था और बड़े बड़े वादे कर रहा था!

उसने फ़ोन नीचे रखा और बड़े आदर से पूछा जी कहिये मैं आपके लिए क्या कर सकता हूँ

उस आदमी ने बड़ी सादगी से कहा मैं आपका फ़ोन इनस्टॉल करने आया हूँ!
----------


बुढिया का कोल्डड्रिंक!
एक बूढ़ी औरत फिल्म देख रही थी, फिल्म देखते वक़्त वो हर दस मिनट बाद कोल्ड ड्रिंक की कैन में मुंह लगाती और फिर कैन वापस रख देती!

उसे ऐसा करता देख पास बैठा लड़का परेशान हो गया तो उसने वह कैन उठाया और खाली कर दिया और उस बुढिया से बोला;

लड़का: ऐसे पी जाती है कोल्ड ड्रिंक आंटी जी!

लड़के की बात सुन बुढिया बोली;

बुढिया: बेटा मैं तो उसमे अपना पान थूक रही थी!
----------
दुनिया के सात सत्य:
1. आप अपनी आँखों पे साबुन नहीं लगा सकते।

2. आप अपने बाल नहीं गिण सकते।

3. जब आपकी जीभ बाहर हो तो आप सांस नहीं ले सकते।

4. आपने अभी-अभी 3 नंबर प्वाइंट करने की कोशिश की।

5. आप को लगा कि आप यह कर सकते हैं, लेकिन आप सिर्फ एक कुत्ते की तरह लग रहे थे।

6. अब आप मुस्कुरा रहे हैं क्योंकि आप कुत्ते के साथ-साथ उल्लू भी बन गए।

7. अब आप सोच रहे हो कि इसे किसको भेज कर अपना गुस्सा निकालूँ!

----------
जनता बेहाल!
दिल्ली की सड़कों पर एक 20-25 साल का लड़का रात को 12 बजे अकेला चला जा रहा था। तभी उसे रास्ते पर एक आदमी मिला जो फुटपाथ पर सिर्फ एक चड्डी पहन कर बैठा हुआ था।

लड़के को उस आदमी पर दया आ गयी और उसने अपनी जेब से 50 रुपये निकाल कर उस आदमी को दे दिये।

आदमी ने पहले पैसे को देखा, चुपके से खड़ा हुआ और एक ज़ोरदार थप्पड़ उस लड़के को जड दिया।

लड़का हक्का बक्का रह गया। तब उस आदमी ने कहा, "वो सामने वाला फ्लैट देख रहे हो, वो मेरा ही है। बिजली नही है इसलिये बिना कपड़ों के सड़क पर बैठा हूँ।"
----------
कौन बनेगा करोड़पति
एक व्यक्ति "कौन बनेगा करोड़पति" में हिस्सा लेने गया!
अमिताभ बच्चन: आपके लिये पहला सवाल, "कौन सी एयरलाइन बहुत आर्थिक पेरशानी के कारण बंद है?" और आपके पास ये चार विकल्प (Options) मौजूद हैं:
1. जेट एयरवेज़
2. इंडिगो एयरलाइन्स
3. किंगफ़िशर एयरलाइन्स
4. स्पाइस जेट
संता: इसका उत्तर है 3 नंबर, "किंगफ़िशर एयरलाइन्स!"
अमिताभ बच्चन: फिर से सोच लें , क्या किया जाये?
संता: ताला लगाएं।
अमिताभ बच्चन: कंप्यूटर जी, किंगफ़िशर एयरलाइन को ताला लगाया जाये।
----------


गर्लफ्रेंड बनाने के 5 फायदे:
1. दोस्तों में आपकी इज़्ज़त बढ़ जाती है।

यह जीवन का एक कड़वा सच है दोस्तो। आज कल उसी लड़के की हर कोई इज़्ज़त करता है जिसकी गर्लफ्रेंड होती है। बिना गर्लफ्रेंड वालों को कोई नहीं पूछता।

2. आप अपने दिल का दर्द उस से बाँट सकते हैं।

अपने दिल का दर्द बाँटने के लिए आपके पास एक सच्चा साथी होता है। (किन्तु सच्चाई तो यह है कि जिसके पास गर्लफ्रेंड होती है उसका ही दिमाग हमेशा खराब रहता है।)

3. आपकी हर बात मानने वाला कोई आपके पास होता है।

गर्लफ्रेंड बनाने से आपके पास ऐसा इंसान आ जाता है जो आपकी हर एक बात मानता है। (किन्तु सबसे बड़ा सच तो यह है कि होता इसके बिल्कुल उल्ट है और हमेशा लड़के ही दबते हैं।)

4. आपके बिगड़ने का खतरा नहीं रहता।

लड़कों के घर वालों को हमेशा यही चिंता रहती है कि उनका लड़का कहीं बिगड़ न जाये। असल में जब एक बार किसी लड़के की गर्लफ्रेंड बन जाये तो बिगड़ने के लिए और कुछ नहीं रहता।

5. फेसबुक पर आपके पोस्ट धनाधन पसंद किये जाते हैं।

जी हाँ, यदि आपके पास गर्लफ्रेंड हो तो आप कुछ भी पोस्ट करें सबसे पहले आपकी गर्लफ्रेंड उसे पसंद करेगी और टिप्पणी करेगी और लड़की को देख कर हर कोई आपकी पोस्ट को पसंद करने आएगा, उस पर टिप्पणी करेगा।
----------
देहाती की नम्रता!
गॉंव का एक आदमी पहली बार अपने गाँव से कहीं बाहर जाने के लिए बस में सवार हुआ।

कंडक्टर ने ठीक ड्राइवर के पास वाली सीट पर उसे बैठा दिया।

बस चलते समय वह आदमी बड़े आश्चर्य से इतनी विशाल बस को चलाते ड्राइवर को ही देखता रहा।

एक घंटे बाद चाय पानी के लिए एक ढाबे के सामने बस रुकी और ड्राइवर भी चाय पीने चला गया।

वापस लौटा तो देखा कि गियर चेंज करने वाली रॉड गायब थी।

वो गुस्से से चिल्लाया, "यहाँ लगी गियर रॉड किसने निकाली?"

उसके पास की सीट पर बैठा वो देहाती आदमी बड़ी नम्रता से बोला, "साहब नाराज क्यों होते हो, रास्ते भर मैं कब से देख रहा हूँ कि, आप बस चलाते चलाते बार बार ये रॉड निकालने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन निकाल नही पाए बस आप हिला ही पाए... मैंने अपनी पूरी ताकत से निकाल दी। ये लो।"

. ड्राईवर अभी कोमा में है और होश आते ही फिर बेहोश होने की सम्भावना है।
----------
अहमियत बीवी की!
सुबह उठ कर पत्नी को पुकारते हैं, सुनो चाय लाओ।

थोड़ी देर बाद फिर आवाज़, सुनो नाश्ता बनाओ।

क्या बात है, आज अभी तक अखबार नहीं आया।

जरा देखो तो, किसी ने दरवाजा खटखटाया।

अरे आज बाथरूम में साबुन नहीं है क्या?

देखो तो कितना गीला पड़ा है तौलिया।

अरे,ये शर्ट का बटन टूटा है, जरा लगा दो और मेरे मौजे कहाँ है, जरा ढूंढ के ला दो।

लंच के डिब्बे में आलू के परांठे दो ज्यादा रख देना।

देखो अलमारी पर कितनी धूल जमी पड़ी है, लगता है कई दिनों से डस्टिंग नही की है।

गमले में पौधे सूख रहे हैं, क्या पानी नहीं डालती हो? दिन भर करती ही क्या हो बस गप्पे मारती हो।

शाम को डोसा खाने का मूड है, बना देना।

बच्चों की परीक्षाएं आ रही हैं पढ़ा देना।

सुबह से शाम तक कर फरमाईशें कर नचाते हैं, चैन से सोने भी नहीं देते, सताते हैं।

दिनभर में बीवियां कितना काम करती हैं ये तब मालूम पड़ता है जब वो बीमार पड़ती हैं। एक दिन में घर अस्त व्यस्त हो जाता है, रोज का सारा रूटीन ही ध्वस्त हो जाता है। आटे दाल का सब भाव पता चल जाता है। बीवी की अहमियत क्या है, ये पता चल जाता है।

सभी बीवियों को सलाम।
----------
काम वाला फ़ोन!
एक साहब के घर फ़ोन का बहुत अधिक बिल आने पर उन्होंने अपने घर के सभी लोगों को बुलाया और बोले, "देखो, मुझे इस बात पर बिल्कुल भी यकीन नही हो रहा है कि फ़ोन का इतना अधिक बिल कैसे आ सकता है? जबकि मैं तो सारे फ़ोन अपने ऑफिस के फ़ोन से करता हूँ।"

पत्नी: जी बिल्कुल, मैं भी। मैं तो कभी भी इस फ़ोन से फ़ोन नही करती क्योंकि मेरे पास तो अपना ऑफिस वाला फ़ोन है।

बेटा: मुझे भी तो मेरी कंपनी वालों ने बिल्कुल नया फ़ोन दिया है और मैं भी तो उसी से फ़ोन करता हूँ।

आदमी: अगर सभी अपने काम वाले फ़ोन से फ़ोन करते हैं तो फिर इतना ज्यादा बिल कैसे आ सकता है?
(यह कहते हुए साहब अपनी नौकरानी की तरफ देखने लगे।)

नौकरानी: तो इसमें क्या दिक्कत है साहब? अगर सभी अपने काम वाले फ़ोन से ही फ़ोन करते हैं तो मैं भी तो वही करती हूँ।
----------


मिल गया जवाब?
एक बूढ़े आदमी ने सोचा कि उसकी बीवी को शायद सुनना कम हो गया है। यह चेक करने के लिए एक दिन वो उसके पीछे गया और बोला, "जानू, क्या तुम मुझे सुन रही हो?"

कोई जवाब नहीं आया। वो थोडा सा और आगे गया और फिर बोला, "जानू, क्या तुम मुझे सुन रही हो?"

इस बार भी कोई जवाब नहीं आया। वो बिलकुल उसके करीब चला गया और बोला, "जानू, क्या तुम मुझे सुन रही हो?"

बूढी चिल्लाते हुए बोली, "साले बहरे, तीसरी बार हाँ बोल रही हूँ। अब फिर पूछा तो तेरा सिर फोड़ दूंगी।"
----------
प्यार क्या है?
12वीं कक्षा का प्रश्न-पत्र

प्रश्न: प्यार क्या है? विस्तार से बताइये! (20 अंक)

उत्तर: अमरीकी विद्यार्थी - प्यार 'दर्द' को कहते हैं।
(परीक्षा परिणाम: अंक 5/20)

उत्तर: इंग्लैंड का विद्यार्थी - प्यार 'ज़िन्दगी' को कहते हैं।
(परीक्षा परिणाम: अंक 5/20)

उत्तर: UAE का विद्यार्थी - प्यार 'खुदा' को कहते हैं।
(परीक्षा परिणाम: अंक 5/20)

उत्तर: भारतीय विद्यार्थी - प्यार की परिभाषा:
'प्यार' के द्वारा एक महिला और पुरुष के मध्य, उपजे प्रेम-सम्बन्ध से दिल की गंभीर बीमारी हो जाती है। और अगर ये प्रेम परवान ना चढ़े तो दोनों में से किसी एक की मृत्यु भी हो जाती है।

प्यार के प्रकार :
1) एक तरफ़ा प्यार।
2) दो तरफ़ा प्यार।

आयु :
आमतौर पर यह 15 से 25 की उम्र के बीच होता है। लेकिन आजकल यह किसी भी उम्र में हो जाता है।

लक्षण :
1) अनिद्रा।
2) दिन में सपने देखना।
3) फेसबुक, व्हाटसएप के बिना एक-एक पल दूभर हो जाना।
4) फ़ोन की लत।

मूल कारण/मूल्यांकन:
1) फोन पे चेटींग,
2) तस्वीरों
और 3) मोबाईल द्वारा ज्यादा फैलता है।

इलाज :
1) पिता के जूते द्वारा एंटी लव चिकित्सा और
2) माँ की चप्पल की अंधाधुंध मार || परीक्षा परिणाम: (अंक 20/20 बहुत बढ़िया।)

नोट - भारतीय छात्रों से कुछ भी पूछो, 'पूर्ण-अंक' पाने के लिए वे किसी भी बात को बढ़ा-चढ़ा कर लिख सकते हैं।
----------
होनहार छात्र!
एक बार एक इंजीनियरिंग कॉलेज के सभी शिक्षकों को एक हवाई जहाज़ में बैठाया गया, जब सभी शिक्षक बैठ गए तो पायलट ने बड़ी ही ख़ुशी से घोषणा की;

पायलट: आप सभी गणमान्य शिक्षकों को यह जानकर खुशी होगी कि जिस प्लेन में आप बैठे हैं उसे आप ही के कॉलेज के विद्यार्थियों ने बनाया है!

बस फिर क्या था इतना सुनने की देर थी कि सभी शिक्षक इस डर से की कहीं उड़ान भरते ही विमान दुर्घटनाग्रस्त ना हो जाए तुरंत नीचे उतर गए, परन्तु प्रिंसिपल साहब बैठे रहे, यह देख पायलट उनके पास गया और उनसे पूछा;

पायलट: सर, आप क्यों नहीं उतरे?

प्रिंसिपल: मुझे अपने कालेज के शिक्षकों के निकम्मेपन और उससे भी ज्यादा अपने विद्यार्थियों की नालायकी पर भरोसा है, देख लेना यह प्लेन स्टार्ट ही नहीं होगा!

----------
निजी सचिव का गुस्सा!
एक बार एक सुंदर सी निजी सचिव गुस्से में अपने प्रबंधक के कमरे से बाहर निकली तो उसकी एक सहेली ने उस से पूछा, "अरे क्या हुआ तू गुस्से में क्यों है?"

सचिव: जब मैं अन्दर गयी तो बॉस ने मुझे बड़े प्यार से कुर्सी पर बैठने के लिए कहा।

सहेली: फिर?

सचिव: फिर उन्होंने बड़े प्यार से मुझ से पूछा की क्या मैं आज शाम को फ्री हूँ।

सहेली:फिर ?

सचिव: मैंने खुशी के मारे हां कर दी...और...

सहेली : और?

सचिव: और क्या....उस कम्बख्त ने मुझे 500 पेज टाइप करने को दे दिए।

----------


मछली का चारा
एक बार एक मछुआरा नदी किनारे मछली पकड़ने जाता है, परन्तु उसे तालाब के पास पहुँच कर एहसास होता है कि वह मछली पकड़ने के लिए चारा तो ले कर ही नहीं आया!

जब वह यह सोच ही रहा होता है तो उसकी नज़र एक सांप पर पड़ती है जिसने मुंह में एक केचुआ पकड़ा हुआ होता है! यह देख वह सांप को फन से पकड़ता है और उसके मुंह से केचुआ छीन लेता है!

परन्तु केचुआ छीन ने के तुरंत बाद ही उसे आत्मग्लानि होती है, कि उसने एक जीव से उसका भोजन छीन लिया! इस आत्मग्लानि से छुटकारा पाने के लिए वह उस सांप के मुंह में थोड़ी सी बीयर डाल देता है और मछली पकड़ने चल पड़ता है!

थोड़ी देर बाद जब वह तालाब के किनारे मछली पकड़ रहा होता है तो उसे अपनी पतलून के निचले हिस्से में खिंचाव सा महसूस होता, जब वह कारण जानने के लिए नीचे देखता है तो वह पाता है कि वही सांप मुंह में तीन और केंचुए पकडे हुए उसकी तरफ देख रहा है!

----------
अजीब कहानी!
एक पहाड़ी पर एक ग्रामीण जानवर चरा रहा था। तभी वहाँ एक हेलीकॉप्टर उतरा, उसमें से एक आदमी उतरा। उसने उस ग्रामीण चरवाहे से कहा, "अगर मैं बिना गिने गायों की संख्या बता दूँ तो क्या तुम मुझे एक बछड़ा दे दोगे?"

ग्रामीण बोला, "हाँ दे दूंगा।"

उस आदमी ने मोबाइल में Google Map से वहाँ की Location ली और उसे ISRO को भेज कर पूछा कि इस पहाड़ी पर कितने जीवित प्राणी हैं?

जवाब आया - 35 प्राणी। उस आदमी ने 2 कम करके कहा कि तुम्हारे पास 33 गाय हैं।

ग्रामीण: जी हाँ ! ये 33 ही हैं।

वो आदमी बोला, "तो अब एक बछड़ा मुझे दो।"

ग्रामीण ने दे दिया लेकिन जब आदमी हेलीकॉप्टर में बछड़ा ले जाने लगा तो ग्रामीण बोला, "अगर मैं आपका नाम बता दूँ तो क्या आप मेरा जानवर मुझे वापिस दे देंगे?"

आदमी: हाँ बताओ?

ग्रामीण: आप "राहुल गाँधी" हो।

राहुल गाँधी: लेकिन तुमने कैसे पहचाना?

ग्रामीण: बहुत ही आसान है। पहली बात आप बिन बुलाये आये हो, दूसरी, जिन्हें आप गायें बता रहे हो, वह भेंड़ हैं और तीसरी बात यह कि जिसे आप ले जा रहे हो वह बछड़ा नहीं कुत्ता है।
----------
सेलिब्रिटीज ट्रेन!
सुरेश प्रभु की ब्रांड्स के नाम पर ट्रेन दौड़ाने की घोषणा के साथ सेलिब्रिटीज के नाम ट्रेनों का सोशल मीडिया पर ट्रेंड चल गया।

मोदी एक्सप्रेस : सुरेश प्रभु ने रेल बजट में एक मोदी एक्सप्रेस नाम की ट्रेन चलाने की घोषणा की है। ट्रेन चलेगी नहीं, सिर्फ तेज हॉर्न बजाएगी।

बप्पी लाहिरी एक्सप्रेस : आपने चेन खींची तो आपको इसके पीछे एक और चेन नजर आएगी।

एकता कपूर एक्सप्रेस : एक प्लेटफार्म पर तीन बार आएगी।

आमिर खान एक्सप्रेस : साल में एक बार दौड़ेगी और यात्रियों का चुनाव भी खुद ही करेगी।

सलमान खान एक्सप्रेस : फुटपाथ पर भी चल सकती है।

मनमोहन ट्रेन : एकमात्र साइलेंट ट्रेन।

रजनीकांत एक्सप्रेस : ट्रेन खड़ी रहेगी, स्टेशन आते-जाते रहेंगे।

धोनी एक्सप्रेस : 95 प्रतिशत सफर में 10 किमी प्रति घंटे की रफ्तार, शेष 5 फीसद सफर में 400 किमी प्रतिघंटा की गति।

राहुल गांधी एक्सप्रेस : बार-बार पटरी से उतरेगी।

कांग्रेस एक्सप्रेस : हर बोगी में एक अनुभवी ड्राइवर है, लेकिन इंजन का ड्राइवर छुट्टी पर है।

केजरीवाल एक्सप्रेस : आपको चादर के बदले मफलर मिलेंगे।

अमित शाह ट्रेन : दिल्ली को छोड़कर पूरे देश को कवर करेगी।

अन्ना हजारे ट्रेन : पैंट्री कार नहीं रहेगी।
----------
पुरुष पुरुष ही रहेंगे!
एक बार कुछ आदमियों (पुरुषों का) का समूह तीर्थ यात्रा पर गया था!

उनके गुरु ने कहा अगर तुम्हें सुन्दर लड़की दिखे तो तुम उसकी ओर आकर्षित मत होना!

अपनी आँखें बंद करो और हरी ॐ कहो!

2-3 दिन बाद उनमें से एक आदमी ने कहा. "हरी ॐ"!

उसके सभी साथियों ने एक साथ प्रतिक्रिया देते हुए, "कहाँ है? कहाँ है"?
----------



सास की लाड़ली बहु!
बहू रोए जा रही थी। सास ने पुचकारते हुए पूछा, "क्यों बेटी, रो क्यों रही है?"

बहू: क्या मैं चुड़ैल जैसी दिखती हूं?

सास: नहीं, बिल्कुल नहीं।

बहू: क्या मेरी आंखें मेंढ़की की तरह हैं?

सास: नहीं तो।

बहू: क्या मेरी नाक पकोड़े जैसी है?

सास: नहीं...!

बहू: क्या मैं भैंस जैसी मोटी और काली हूं?

सास: नहीं बेटी, यह सब किसने कहा तुमसे?

बहू: फिर सारे मोहल्ले के लोग क्यों कहते फिरते हैं कि तू तो अपनी सास जैसी दिखती है?
----------
अधूरी बात पर खुश होना बुरी बात है!
एक बार एक युवक एक ज्योतिषी से अपना भविष्य पूछने जाता है;

ज्योतिषी: तुम्हारे भाग्य में सात लड़कियां लिखी हैं!

ज्योतिषी की बात सुन युवक ख़ुशी से फुला नहीं समाता और उछल कर ज्योतिषी से कहता है;

युवक: अरे वाह...फिर तो बहुत मजा आएगा!

ज्योतिषी: ज्यादा खुश मत हो, उसमें एक तुम्हारी बीवी और छ: तुम्हारी बेटियां होंगी!
----------
हमारे जीवन में 4 नंबर की महत्ता:
4 दिनों का प्यार ओ रब्बा बड़ी लंबी जुदाई।

4 दिनों की चाँदनी फिर अँधेरी रात।

4 किताबें तो पढ़ ली, अब 4 पैसे भी कमा लो।

आखिर हमारी भी 4 लोगों में इज़्ज़त है।

ये बात 4 लोग सुनेंगे तो क्या कहेंगे कि 4 दिन की आई बहु ने ये कमाल कर दिया।

4 दिन तो घर में टिक के बैठ जाती।

तुम से क्या 4 कदम भी नहीं चला जाता?

वो आई और 4 बातें सुना कर चली गयी।

4 बोतल वोडका काम मेरा रोज़ का।
----------
अपने घर में ही डाका!
एक मनचले लड़के ने फ़ोन घुमाया।

लड़का(फ़ोन पर): हेल्लो, चमेली केसी है तू?

लड़की: कौन?

लड़का: तेरा आशिक़ बोल रहा हूँ, मेरी छम्मक-छल्लो।

लड़की: तू चिंटू बोल रहा है क्या?

लड़का: अरे वाह, मेरा नाम इतनी जल्दी पहचान गयी।

लड़की: तेरे पापा का नाम बंसीलाल ही है ना?

लड़का: हां, बिलकुल सही।

लड़की: और तेरे दादा का नाम रामलाल है?

लड़का: अरे लगता है तू मेरी दीवानी हो गयी है, मेरी पूरी जानकारी रखी हुई है।

लड़की: अबे हरामजादे, मैं तेरी बहन बोल रही हूँ, गलती से तुमने घर का नंबर लगा दिया है। तू घर आ फिर बताती हूँ तुम्हें।
----------



सौ सुनार की एक लौहार की!
एक औरत घर पर अकेली थी, तभी दरवाजे पर दस्तक हुई। जब उसने दरवाजा खोला तो एक अनजान आदमी खड़ा था और उस औरत को देखते ही बोला, "अरे आप तो बहुत ही खूबसूरत हैं।"

औरत ने घबरा कर दरवाजा बंद कर दिया। अगले तीन-चार दिन तक ऐसा ही चलता रहता है, वो आदमी आता, दरवाज़ा खटखटाता और जब औरत दरवाज़ा खोलती तो वह यही बोलता कि आप तो बहुत ही खूबसूरत हैं और औरत घबरा कर दरवाज़ा बंद कर देती।

एक दिन जब उस औरत का पति घर आया तो उसने अपने पति को सारी बात बताई।

पति बोला, "तुम चिंता मत करो, कल जब वो आदमी आएगा तो मैं घर पर ही रहुंगा और दरवाजे के पीछे खड़ा रहूँगा। तुम उससे पूछना कि हाँ मैं सुन्दर हूँ, तुम्हे क्या? फिर मैं उसको मज़ा चखाता हूँ।

अगले दिन जैसे ही वो आदमी आया तो पति ने जैसे तय किया था वह दरवाजे के पीछे छिप गया। औरत ने दरवाज़ा खोला तो आदमी बोला, "अरे आप तो बेहद खूबसूरत हैं।"

औरत: हाँ मैं खूबसूरत हूँ, लेकिन तुम्हें इससे क्या?

आदमी बड़ी विनम्रता के साथ हाथ जोड़ कर बोला, "बहन जी, यही विश्वास और एहसास आप अपने पति के अंदर भी जगा दीजिये न, ताकि वो मेरी बीवी का पीछा करना छोड़ दे।"
----------
प्रकाश की तीव्रता बढ़ाने की अर्ज़ी!
सेवा में,

माननीय सूर्य देवता,
ब्रह्माण्ड उर्जा मंत्रालय,

विषय: प्रकाश की तीव्रता (intensity) बढ़ाने बाबत।

आदरणीय महोदय,

निवेदन है कि सर्दी से सभी निवासियों का बुरा हाल है। सुबह सुबह इतना कोहरा रहता है कि वाहनों का परिचालन बाधित रहता है। बहुत सारी ट्रेन भी समय से 12 घंटे पीछे चलती हैं। हम लोगों को अपने नित्य कार्य करने में भी परेशानी होती है। कभी-कभी तो इतना ज्यादा बुरा हाल हो जाता है कि नहाना तो दूर पानी को देखना भी अच्छा नहीं लगता।

अतः निवेदन है कि प्रकाश की किरणों की तीव्रता बढ़ाने का कष्ट करें, ताकि आम जन को सर्दी से राहत मिले और जनजीवन सामान्य हो।

धन्यवाद सहित,
आपका पृथ्वी वासी।
----------
निशाना चूक गया!
एक बार एक आश्रम में एक गुरु अपने शिष्यों को धनुष बाण चलाना सिखा रहा होता है, जिसमे से एक शिष्य निशाना लगता है परन्तु उसका निशाना चूक जाता है।

शिष्य: साला निशाना चूक गया।

गुरू: आश्रम मैं अपशब्द बोलना मना है अब मत बोलना।

शिष्य दोबारा निशाना लगता है और उसका निशाना फिर से चूक जाता है।

शिष्य: साला निशाना चूक गया।

गुरु: मैंने तुम्हे मना किया था फिर भी तुमने अपशब्द बोला, अब यदि तुमने फिर से यह अपशब्द बोला तो एक आकाशवाणी होगी और आकाश से एक बाण निकलेगा जो तुम्हारी आँख फोड़ देगा।

शिष्य तीसरी बार निशाना लगता है और तीसरी बार फिर उसका निशाना चूक जाता है।

शिष्य: साला फिर निशाना चूक गया।

तभी अचानक बिजली कडकती है और आकाश से एक बाण निकल कर गुरु की आँख मैं जाता है और साथ ही आकाशवाणी होती है;

आकाशवाणी: साला निशाना चूक गया।

----------
कहानी जुगाड़ की!
पिता लड़के से: मैंने तुम्हारी शादी के लिए एक लड़की देखी है।

लड़का: लेकिन मैं अपनी मर्जी से शादी करूँगा।

पिता: लेकिन वो लड़की बिल गेट्स की लड़की है।

लड़का: यदि ऐसा है तो ठीक है।

अगले दिन पिता बिल गेट्स के पास जाता है।

पिता: मैंने आपकी लड़की की शादी के लिए एक अच्छा लड़का देखा है।

बिल गेट्स: लेकिन मेरी लड़की अभी शादी के लिए छोटी है।

पिता: लेकिन वो लड़का वर्ल्ड बैंक का वाइस प्रेसिडेंट है।

बिल गेट्स: यदि ऐसा है तो ठीक है।

अगले दिन पिता वर्ल्ड बैंक प्रेसिडेंट के पास जाता है।

पिता: मैंने आपके बैंक के वाइस प्रेसिडेंट बनाने लायक एक अच्छा लड़का देखा है।

प्रेसिडेंट: लेकिन हमारे बैंक मैं पहले से ही वाइस प्रेसिडेंट है।

पिता: लेकिन वो लड़का बिल गेट्स का दामाद है।

प्रेसिडेंट: यदि ऐसा है तो ठीक है।
----------


गांधीजी कि भविष्यवाणी!
गांधीजी के एक रिश्तेदार पर खून का इलज़ाम लगा!

रिश्तेदार ने गांधीजी से विनती कि के मैं बेगुनाह हूँ, मुझे बचा लो!

जैसा कि हम सभी जानते है, कि गांधीजी एक अच्छे वकील थे, तो गांधीजी ने मुक़दमा लड़ा और उसे बचा लिया!

वह बहुत शुक्रगुज़ार हुआ, पर अचानक उसके मन में एक सवाल आया और उसने गांधीजी से सवाल किया "आज तो आप हैं जो बचा लिया, कल जब आप नहीं होंगे तो हमारे बेगुनाह बच्चों को कौन बचाएगा?"

गांधीजी ने बहुत खुबसूरत जवाब दिया

...

...

...

...

...

...

बोले कि -नोट पे लगी मेरी फोटो!

जन्मदिन की शुभकामनाएं गांधीजी....
----------
फिजिक्स से जीवन की रक्षा!
एक लड़का एक कोचिंग सेंटर में प्री-मेडिकल-टेस्ट की तैयारी कर रहा था।

फिजिक्स उस लड़के को बिलकुल समझ में नहीं आता था और सारे लेक्चर उसके सिर के ऊपर से निकल जाते थे।

एक दिन उसने टीचर से पूछा, "सर, हम लोग यहाँ डॉक्टर बनने की तैयारी करने आए हैं वैज्ञानिक बनने की नहीं, फिर हमें फिजिक्स क्यों पढ़ना पड़ता है?"

टीचर ने मुस्कुरा कर कहा, "फिजिक्स मेडिकल साइंस के लिए बड़ा उपयोगी विषय है। यह लोगों की ज़िन्दगी बचाने में मदद करता है।"

लड़के ने हलके से व्यंग्यात्मक अंदाज़ में कहा, "अच्छा, वो कैसे सर? ज़रा हमें भी तो बताईये कि फिजिक्स से लोगों की जिंदगी कैसे बचाई जा सकती है?"

टीचर ने जवाब दिया, "तुम जैसे गधों को मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने से रोक कर!"
----------
नाम में क्या रखा है!
एक घर में 4 बहनें थी।

एक का नाम था टूटेली,

दूसरी का नाम था फटेली,

तीसरी का नाम था सड़ेली,

चौथी का नाम था मरेली।

एक दिन उनके घर पर मेहमान आए।

मम्मी ने, पूछा: आप उपर कुर्सी पर बैठेंगे या नीचे चटाई पर?

मेहमान: कुर्सी पर।

मम्मी: टूटेली! कुर्सी लेकर आओ।

मेहमान: नहीं - नहीं ठीक है, हम चटाई पर ही बैठ जाएँगे।

मम्मी: फटेली! चटाई लेकर आओ।

मेहमान: रहने दीजिए हम ज़मीन पर ही बैठ जाएँगे।

(मेहमान ज़मीन पर बैठ गये।)

मम्मी: आप चाय पीएँगे या दूध?

मेहमान: चाय।

मम्मी: सड़ेली! चाय लेकर आओ।

मेहमान: नहीं - नहीं, हम दूध ही पी लेंगे।

मम्मी: मरेली! गाय का दूध लेके आओ।

मेहमान कन्फ्यूज़ हो गया और घर से बाहर भाग गया!
----------
खेल-खेल में!
एक दिन एक आदमी जब गोल्फ खेल कर वापस घर आया तो उसकी बीवी ने उसे पूछा, "तुम आज कल अपने दोस्त रमेश के साथ नहीं खेलते?"

आदमी: क्या तुम ऐसे इंसान के साथ खेलोगी जो हमेशा Cheating करता हो? जो बॉल गुम होने के बाद अपनी जेब में से दूसरी बॉल निकाल कर कहे कि मुझे बॉल मिल गयी है? क्या तुम खेलोगी?

बीवी: नहीं बिल्कुल नहीं।

आदमी: इसीलिए रमेश भी नहीं खेलता।
----------



माँ का शौक!
एक लड़के के माता-पिता कुछ दिन पहले एक साथ नौकरी से रिटायर हुए!

उसकी माँ को पियानो बजाने व सीखने का बहुत शौक था!

इसलिए उसके पिताजी ने माँ के लिए उनके जन्मदिन पर पियानो खरीद कर लाया!

कुछ दिनों बाद लड़के ने अपने पापा से पूछा, पापा क्या माँ ने अब पियानो बजाना सीख लिया है?

पापा नही, हमने उसे वापिस कर दिया, मैं उसकी जगह शहनाई लाया हूँ!

वो किसलिए?

शहनाई बजाते हुए वो कम से कम गाना तो नही गा सकती!
----------
प्यार क्या होता है?
एक लड़की ने शर्माते हुए अपने पूछा, "ये प्यार क्या होता है?"

लड़के ने सोचा कि लड़की पर अपना इम्प्रैशन ज़माने का यही मौका है तो उसने जवाब दिया, "प्यार का रिश्ता दो इंसानों में वही होता है जो सीमेंट और रेत के बीच पानी का होता है।

जैसे कि...

लड़का = सीमेंट है, लड़की = रेत और प्यार = पानी, अब अगर सीमेंट और रेत को आपस में मिला दिया जाए तो वो स्ट्रांग नहीं होंगे लेकिन अगर इसमें पानी भी मिला दिया जाए तो कोई इनको जुदा नहीं कर सकता।"

लड़के का यह जवाब सुन लड़की हँसते हुए बोली, "कमीने तू शक्ल से ही मजदूर लगता है।"
----------
सेर को सवा सेर!
गली से एक भिखारी गुज़र रहा था, एक घर का दरवाज़ा खुला था और अंदर एक बुढ़िया बैठी थी। उसे देख भिखारी बोला, "खाने के लिए रोटी दे दो, अम्मा।"

बुढ़िया: रोटी तो अभी बनी नहीं है, बाद में आना।

भिखारी: ठीक है ये लो मेरा मोबाइल नंबर जब बन जाये तो मिस कॉल मार देना।

ये सुन बुढ़िया के होश उड़ गए पर वो कहाँ कम थी बोली, "मिस कॉल क्या करनी, जब बन जाएगी तो WhatsApp पे डाल दूंगी। वहीँ से डाउनलोड करके खा लेना।"

ये सुनकर भिखारी बेहोश हो गया।
----------
इतना ज्यादा बिल!
फ़ोन का बहुत अधिक बिल आने पर एक आदमी ने अपने घर के सभी लोगों को बुलाया और कहने लगा!

बाप: देखो, मुझे इस बात पर बिल्कुल भी यकीन नही हो रहा है कि फ़ोन का इतना अधिक बिल कैसे आ सकता है? जबकि मैं तो सारे फ़ोन अपने ऑफिस के फ़ोन से करता हूँ!

माँ: बिल्कुल, मैं भी! मैं तो कभी भी इस फ़ोन से फ़ोन नही करती क्योंकि मेरे पास तो अपना ऑफिस वाला फ़ोन है!

बेटा: मुझे तो मेरी कंपनी वालों ने बिल्कुल नया फ़ोन दिया है मैं तो उसी से फ़ोन करता हूँ!

नौकरानी: तो इसमें दिक्कत क्या है साहब? सभी अपने काम वाले फ़ोन से ही फ़ोन करते हैं!
----------


ग्रुप सार!
हे एडमिन!

तु व्यर्थ ही चिंता करता है
तू क्या ले कर आया था इस ग्रुप में?
तु क्या ले कर जायेगा?

तेरा क्या था इस ग्रुप में?
तुमने जो लिया इन ग्रुप के सदस्यों से लिया,
जो दिया इस ग्रुप के सदस्यों को दिया,
तेरा तो इस ग्रुप में कुछ है ही नहीं,
यहाँ जो पोस्ट होती हैं,
यहाँ जो संदेश आते हैं,
तेरा उन पर कोई अधिकार नहीं,
तू व्यर्थ ही उन पोस्ट पर हा-हा ही-ही करता है,
तू व्यर्थ ही एडमिन बना बैठा है

जिस प्रकार नेट ना हो तो फेसबुक और व्हाट्सएप्प का कोई महत्त्व नहीं
उसी प्रकार ग्रुप के सदस्यों के बिना तेरे ग्रुप का कोई महत्त्व नहीं,

ग्रुप के सदस्यों के कारण ही तू ग्रुप का एडमिन बना हुआ है,
ग्रुप में सदस्य ना रहे तो तू क्या करेगा?

किसके पोस्ट को हटा कर के खुद को उच्च समझेगा?

तू ग्रुप का महज एक एडमिन है,
तू खुद कोई ग्रुप नहीं है,
ये जो सदस्य आज तेरे ग्रुप के हैं,
ये कल किसी और ग्रुप के थे,
कल फिर किसी और ग्रुप के होंगे।

इसीलिए हे एडमिन, तू उन्हें हटाने की धमकी देना छोड़ दे। उन को पोस्ट करने दे।
तू पोस्ट के बाद रिएक्शन की चिंता मत कर, फिर देख इन ग्रुप के सदस्यों का तू और ये सदस्य भी तेरे हो जायेंगे!
----------
मारवाड़ी की शादी!
एक बार की बात है कि गुप्ता जी, एक मारवाड़ी (बनिये) के यहाँ शादी में गए। शादी का पंडाल बड़ा भव्य था और उसमें अंदर जाने के लिए 2 दरवाजे थे।

एक दरवाजे पर रिश्तेदार, दूसरे पर दोस्त लिखा था। गुप्ता जी, बड़े फख्र से दोस्त वाले दरवाजे से अंदर गए।

आगे फिर 2 दरवाजे थे, एक पर महिला, दूसरे पर पुरुष लिखा था। गुप्ता जी पुरुष वाले दरवाजे से अंदर गए।

वहाँ भी 2 दरवाजे और थे, एक पर गिफ्ट देने वाला, दूसरे पर बिना गिफ्ट वाले लिखा था।

गुप्ता जी को हर बार अपनी मर्जी के दरवाजे से अंदर जाने में बड़ा मजा आ रहा था। उसने ऐसा इंतजाम पहली बार देखा था।

गुप्ता जी बिना-गिफ्ट वाले दरवाजे से अंदर चले गए।

जब अंदर जाकर देखा तो गुप्ता जी बाहर गली में खड़े थे और वहॉं लिखा था... शर्म तो आ नहीं रही होगी, मारवाड़ी की शादी और मुफ्त में रोटी खायेगा? जा-जा बाहर जा और हवा खा।
----------
गोली का खेल!
एक आदमी नाई की दुकान पर दाढ़ी बनवाने गया। जब नाई उसके चेहरे पर ब्रश से बढ़िया क्रीम से उतना ही बढ़िया झाग बना रहा था तो उस आदमी ने अपने चेहरे के पिचके गालों की ओर इशारा करते हुए बोला, "मेरे गालों के इस गड्ढे के कारण दाढ़ी बढ़िया नहीं बन पाती और कुछ बाल छूट जाते हैं।"

आगे से नाई बोला, "कोई बात नहीं, मेरे पास इसका इलाज है।" उसने पास के दराज में से लकड़ी की एक छोटी से गोली निकाली और उसे देते हुए बोला, "इसे अपने मुँह में मसूड़ों और गाल के बीच रख लो।"

उस आदमी ने वह गोली मुँह में रख ली जिससे उसका गाल फूल गया और नाई ने उसकी अब तक की सबसे शानदार, सबसे बढ़िया दाढ़ी बनाई।

गोली उसके मुह में ही फंसी हुई थी, इसलिए उस आदमी ने कठिनाई से बोलते हुए पूछा, "यदि यह गोली गलती से उसके पेट में चली जाए तो?"

नाई बोला, "कोई बात नहीं। कल लेते आना, जैसे कि बहुत से लोग अब तक लेते आए हैं।"

----------
दामाद का प्यार!
एक बार एक सास अपने 3 दामादों का प्यार देखने के लिए दरिया में कूद गयी
तो एक दामाद ने बचा लिया।
सास ने उसे कार तोहफे में दे दी।

अगले दिन फिर कूद गयी तो दूसरे दामाद ने बचा लिया उसे मोटरसाइकिल मिली।

फिर तीसरे दिन सास दोबारा कूदी तो तीसरे दामाद ने सोचा कि अब तो साइकिल ही मिलेगी

तो उसने सास को नही बचाया, सास मर गयी लेकिन फिर भी दामाद को मर्सिडीज़ मिली।
कैसे?

.
.
.
.
.
.
.
ससुर ने दी।
----------


अजीब कहानी!
एक आदमी ने 6 शादियाँ की पर हर शादी के कुछ दिन बाद ही, उसकी बीवी की मौत हो जाती। अब वो सातवीं शादी करना चाहता था, मगर, कोई भी उसे अपनी बेटी देने को तैयार नहीं था।

आखिरकार उसे एक ऐसी बीवी मिली गयी जिसकी भी 6 शादियाँ हो चुकी थी। और हर बार उसका पति मर जाता था।

लोग हैरान थे यह सोच कर कि देखते हैं, अब क्या होता है?

दोनों की शादी हो गयी, और अगले दिन ही
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.

.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
आगे की कहानी सुननी है तो पहले जियो का सिम लेकर दो, फिर कहानी आगे।
----------
असली जोखिम का काम!
पहला बदमाश : देखो तुम बैंक में घुसना, जो कोई भी तुम्हारे रास्ते में आये उसे गोली मार देना, फिर कैशिअर को बन्दूक दिखाकर सारा माल झपटना और उसे गोली मार देना, मैं बैंक के बाहर कार में तुम्हारा इंतज़ार करूँगा...असली जोखिम का काम तो मेरा है !

दूसरा बदमाश: वाह! बैंक में घुसूंगा, मैं !

जो भी सामने आएगा उसे गोली मारूंगा, मैं!

कैशिअर से माल लूटकर उसे गोली मारूंगा,मैं!

और फिर भी तुम कहते हो कि ज्यादा जोखिम का काम तो तुम्हारा है?

पहला बदमाश:यार, मुझे कार चलानी जो नहीं आती!

----------
एक घमंडी पर्यटक
एक घमंडी पर्यटक के ऑस्ट्रेलिया के एक छोटे से गांव के दौरे पर गया जब जब वह वहां घूम रहा था तो उसने देखा कि एक स्थानीय व्यक्ति मगरमच्छ के दांतों से बना हुआ हार पहने हुए है!

यह देख वह उस आदमी के पास पहुंचा और बड़े कृपालु ढंग कहा, "हे भगवान, बहुत खूबसूरत हार है, मुझे लगता है कि तुम लोगों को मगरमच्छ के दांतों को उतना ही महत्व देना चाहिए जितना कि मेरे समुदाय के लोग मोतियों को देते हैं !"

यह सुन वह स्थानीय आदमी बोला, " तुमने सही कहा मोती निकलने के लिए तो कोई भी सीप खोल सकता है!"
----------
मर्दों का दुःख!
एक बार एक औरत का पति मर जाता है तो वह बीमा कंपनी के दफ्तर में अपने पति के बीमा की रकम लेने पहुँचती है और वहां बैठे मैनेजर से कहती है;

महिला: मैनेजर साहब, मेरे पति गुजर गए हैं और अब मुझे उनकी बीमा की जमा की हुई रकम चाहिए!

महिला की बात सुन मैनेजर जवाब देता है;

मैनेजर: ओह मुझे यह सुन कर बड़ा दुःख हुआ कि....

तभी अचानक मैनेजर की बात को बीच में ही काटते हुए महिला बोली;

महिला: जरूर हो रहा होगा, क्योंकि हर जगह मर्दों का यही हाल है, जब भी औरत को चार पैसे का फायदा होने लगता है तो उन्हें बड़ा दुःख होता है!
----------



पक्का भारतीय होने के लक्षण!
1. होटल में खाने के बाद मुट्ठी भर सौंफ खाना।

2. हवाई यात्रा के बाद बैग से टैग नहीं उतारना।

3. सब्जी लेने के बाद मुफ़्त धनिये की मांग करना।

4. दीवाली पर मिले गिफ्ट को रिश्तेदार को सरका देना।

5. छह साल के बच्चे को 3 साल का बता कर आधा टिकट लेना।

6. रिमोट से लेकर मोबाइल तक का पीठ ठोंक कर चलाना।

7. शादी के कार्ड से गणेश जी उतारकर फ्रिज पर चिपकाना।

8. मोलभाव करते वक्त पिछली दुकान का हवाला देना।

9. गोलगप्पे खाने के बाद मुफ़्त में सुखी पापड़ी की जिद करना।

10. नई कार लेने के बाद छह महीने तक सीट की पन्नी नहीं उतारना।
----------
हृदय रोग विशेषज्ञ!
एक प्रसिद्द हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर की मृत्यु हो गयी और सभी सम्बन्धी व मित्र उसकी अंतिम क्रिया के लिए समय से पहुँच गये!

नियमित रूप से एक ताबूत लाया गया जिसके सामने एक बहुत बड़ा हृदय (दिल) बनाया गया था!

जब पादरी ने धर्मोपदेश समाप्त किये तो सभी ने अपने-अपने तरीकों से उसे अलविदा कहा!

सामने से हृदय वाला हिस्सा खोला गया और ताबूत धीरे-धीरे नीचे की और जाने लगा और जब ताबूत बिल्कुल नीचे पहुँच गया तो हृदय वाला हिस्सा फिर से बंद हो गया!

जैसे ही हृदय वाला हिस्सा बंद हुआ एक शोक सभा में आया आदमी जोर से हँसने लगा!

उसके साथ खड़े आदमी ने उससे पूछा अरे भाई किसलिए हंस रहे हो?

उस आदमी ने कहा मैं अपने अंतिम संस्कार के बारे में सोचकर हँस रहा हूँ!

पहले वाले आदमी ने पूछा उसमें हँसने वाली क्या बात है?

उस आदमी ने कहा मैं एक स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर हूँ!
----------
ज्ञान वाणी
तुम जो भी एक औरत को देते हो, वह उसमे बढ़ोतरी करके वापस करती है!
यदि आप उसे शुक्राणु देते हो, तो वह आपको संतान देती है!
यदि आप उसे एक मकान देते हैं, तो वह आपको एक घर देती है!
यदि आप उसे अन्न देते हैं तो, वह आपको भोजन देती है!
यदि आप उसे एक मुस्कान देते हैं तो वह, वह आपको दिल देती है!
जो भी औरत को प्राप्त होता है वह उससे कईं गुना बढ़ोतरी करके वापस करती है!

तो, अगर आप उसे किसी भी तरह की परेशानी देते हैं!
तो बदले में उस से कईं गुना ज्यादा परेशानियां पाने के लिए तैयार हो हो जाइए!
----------
सास - बहू!
नौकरानी, भागती-भागती आयी और बोली, "मालकिन! आपकी सास को बाहर तीन औरतें पीट रही हैं।"

मालकिन अपनी नौकरानी के साथ भाग कर बाहर आयी और चुप-चाप खड़ी होकर तमाशा देखने लगी।

नौकरानी: मालकिन! आप मदद के लिए नहीं जाएँगी?

मालकिन: नहीं, उसके लिए तीन ही काफी हैं।
----------


नाम में क्या रखा है!
एक पाकिस्तानी लड़के ने अमेरिकन स्कूल में एडमिशन लिया।

टीचर: तुम्हारा नाम क्या है?

लड़का: अहमद।

टीचर: अब तुम अमेरिका में हो, इसलिए आज से तुम्हारा नाम जॉन है।

लड़का घर पहुंचा।

मां: पहला दिन कैसा रहा अहमद?

लड़का: मैं अब अमेरिकन हूं और आगे से मुझे जॉन कहकर पुकारना।

मां और पापा ने यह सुनते ही उसकी जमकर धुनाई कर दी।

शरीर पर चोट के निशान लिए अगले दिन वह स्कूल पहुंचा।

टीचर: क्या हुआ जॉन?

लड़का: मेरे अमेरिकन बनने के 4 घंटे बाद ही मुझ पर 2 पाकिस्तानियों ने हमला कर दिया।
----------
लड़कों के पांच दुःख!
1) लड़की अगर दिल से अच्छी हो तो अच्छी दिखती नहीं है।

2) लड़की अगर अच्छी दिखे तो दिल से अच्छी होती नहीं है।

3) लड़की अगर सुंदर भी हो और अच्छी भी, तो सिंगल नहीं होती।

4) सुंदर और अच्छी लड़की अगर सिंगल मिल भी जाए तो उसका एक तगड़ा सा भाई होता है।

5) सबसे दुःख वाली बात तो यह है कि अगर सुंदर और अच्छी लड़की का तगड़ा भाई नहीं हुआ तो दोस्तो वह हर लड़के से भाई जैसा ही बर्ताव करती है।
----------
यह किसका बच्चा है!
एक बार एक चीनी, एक यहूदी और एक पठान अस्पताल के प्रसव कक्ष के बाहर अपने बच्चों के जन्म होने का इंतज़ार कर रहे थे, कि तभी अचानक प्रसव कक्ष से नर्स एक काले बच्चे को गोद में उठाये हुए बहार आई!

पहले वह चीनी से पूछती है, "क्या यह बच्चा तुम्हारा है?"

चीनी बच्चे का चेहरा देखता है और कहता है, "नहीं यह मेरा नहीं है!"

फिर वह नर्स यहूदी से पूछती है, " क्या यह बच्चा तुम्हारा है?"

यहूदी भी बच्चे का चेहरा देखता है और जवाब देता है,"नहीं इतना काला बच्चा मेरा हो ही नहीं सकता!"

फिर वह नर्स पठान के पास जाती है और वही सवाल पूछती है, "क्या यह बच्चा तुम्हारा है?"

पठान बच्चे की शक्ल देखता है और बड़ी उदासी से कहता है, "हो सकता है, क्योंकि मेरी पत्नी कि सब चीजें जलाने की आदत है!"

----------
क्‍लास का फूफा!
कॉलेज में एक लड़की ने दाखिला लिया तो सारे लड़के-लड़कियों ने उसे चिढ़ाने के लिए बुआ कहना शुरू कर दिया।

कुछ दिनों तक तो उस बेचारी ने सहन किया।

अंत में उसने तंग आकर प्रिंसिपल से शिकायत कर दी।

लड़की की बात सुन कर प्रिंसिपल को बड़ा क्रोध आया तो वह क्लास रूम में पहुंचे और बोले, "जो भी इसे बुआ कहता है वह तुरन्त खड़ा हो जाये।

एक-एक करके सारी क्लास खड़ी हो गई।

केवल पप्पू बैठा रहा तो प्रिंसिपल ने बड़ी हैरानी के साथ उस से पूछा, "क्यों पप्पू तुम क्यों बैठे हो?"

क्या तुम इसे बुआ नहीं कहते?

पप्पू ने ठंडी सांस भरकर कहा, "सर! मैं इस क्लास का फूफा हूं।"
----------




सास की पिटाई!
नौकरानी (मालकिन से): मेमसाब गजब हो गया, पड़ोस की तीन औरतें मिलकर आपकी सास को बहुत पीट रही हैं!

यह सुन मालकिन भागी-भागी नीचे गई और चुपचाप तमाशा देखने लगी, यह देख नौकरानी ने हैरानी से अपनी मालकिन से पूछा;

नौकरानी: आप मदद करने क्यों नहीं जा रही?

मालकिन: मुझे लगता है तीन औरतें ही काफी हैं!

----------
इंसान की उत्पत्ति का राज़!
एक बच्चा अपने पिता के पास गया और पूछा, "पापा, दुनिया में लोग कहाँ से आये?"

उसके पिता ने जवाब दिया, "बेटा सबसे पहले एडम और ईव दुनिया में आये, फिर उनके बच्चे और फिर उनके बच्चों के बच्चे, ऐसे ही बस दुनिया में लोग आते रहे।"

बच्चा फिर अपनी माँ के पास गया और यही सवाल पूछा, "दुनिया में लोग कहाँ से आये?"

उसकी माँ ने जवाब दिया, "हमारे पूर्वज पहले बंदर थे और उसके बाद धीरे-धीरे हम इंसान बन गए जैसे हम आज हैं।"

बच्चा अपने पिता के पास गया और बोला, "आपने मुझे झूठ बोला है।"

पिता ने जवाब दिया, "नहीं बेटा, वो तुम्हारी माँ जो बता रही है वो अपने परिवार के बारे में बता रही है।"
----------
मैंने आपको पहचाना नहीं
एक 45 साल की महिला बहुत बीमार हो गयी उसे तुरंत अस्पताल ले गए।

अस्पताल में डॉक्टर ने कहा कि, "तुरंत ऑपरेशन करना पड़ेगा।"

उसे ऑपरेशन थियेटर में ले गए अभी वो वहां लेटी ही थी कि उसे साक्षात् भगवान के दर्शन हो गए भगवान ने कहा अभी तुम्हें मरना नहीं है अभी तो तुमने 40 साल 2 महीने और 8 दिन का जीवन और जीना है। यह कहकर भगवान गायब हो गए और ऑपरेशन सफलतापूर्वक हो गया।

महिला ने सोचा अब तो उसके पास काफी उम्र पड़ी है क्यों न अपने आप को थोड़ा सजाया संवारा जाये उसने वहीँ पर अपने साज सिंगार के लिए ब्यूटीशियन को बुलाया वजन कम करने के लिए डायटिंग शुरू कर दी।

कई दिन तक अस्पताल में रहने के बाद जब उसे घर आना था तो उसने फिर से साज सिंगार किया और हेयर-ड्रेसर को बुलाकर अपने बालों के रंग को चेंज करवाया।

अब वो बिलकुल बदली बदली थी जब वो अस्पताल से जाने लगी तो मन ही मन बहुत खुश थी कि उसके पास जीने के लिए अभी काफी लम्बा जीवन है।

वो काफी अच्छा महसूस कर रही थी जैसे ही वो अस्पताल के बाहर गली को पार करने लगी सामने से आती एम्बुलेंस ने उसे जोर की टक्कर मारी और वो वहीँ गिर कर मर गयी।

जैसे ही भगवान के पास पहुंची और कहने लगी, "मैं तो ये सोच कर काफी खुश थी कि मेरे पास जीने के लिए 40 साल से ज्यादा है यही कहकर आये थे न आप।"

भगवान ने सहजता से पूछा: क्या हुआ? मैंने आपको पहचाना नहीं।
----------
नरक चले जाओ!
तीन शराबी आदमी फुटबाल का मैच देख रहे थे उनकी अगली सीट पर दो नन बैठी थी, जिनके हिलने के कारण वे मैच नही देख पा रहे थे

बार-बार उन नन को हिलते हुए देखकर उन में से एक शराबी ने उन पर फब्तियां कसनी शुरू कर दी!

वह बड़ी जोर की आवाज के साथ बोला, मैं सोचता हूँ की मुझे 'उटाह' जाना चाहिए मैंने सुना है कि वहां सिर्फ 100 नन हैं!

दूसरा शराबी उठकर बोला मैं सोचता हूँ कि मैं 'मोंटाना' चला जाऊं मैंने सुना है वहां सिर्फ 50 नन है!

और तीसरा शराबी भी बोला पड़ा, मैं तो 'आयडाहो' जाना चाहता हूँ मैंने सुना है वहां सिर्फ 25 नन रहती है!

जब उसकी बात पूरी हुई तो उन दो नन में से एक नन उन तीनों की तरफ मुड़ी और बड़े शांत और मीठे स्वर में बोली:

तुम तीनों नरक क्यों नही चले जाते तुम्हें वहां एक भी नन नही मिलेगी!
----------


फिर से वही दिन!
एक दादा और दादी ने अपनी जवानी के दिनों को याद कर के फिर से उन दिनों को मनाने की सोची!

उन्होंने फैसला किया कि हम फिर दरिया किनारे मिलेंगे!

दादा सुबह जल्दी उठकर तैयार होकर गुलाब लेकर पहुंच गया पर दादी नही आयी!

दादा गुस्से में घर पहुंचा तुम आयी नही, मैं इंतजार करता रहा तुम्हारा!

दादी ने शरमाकर कहा माँ ने जाने नही दिया!
----------
Whatsapp और आप!
आप इसमें से कौन से वर्ग में आते है?

1. Whatsapp मुर्गा!
रोज सुबह, "गुड मॉर्निंग" के मैसेज देना और लोगो को 'गुड मॉर्निंग' बोल कर जगाना इनका प्रिय काम है।

2. Whatsapp बाबा!
ये सिर्फ भगवान के ही मैसेज भेजते हैं और प्रवचन करते फिरते हैं।

3. Whatsapp चोर!
ये लोग दूसरों का मैसेज बस आगे भेजते हैं।

4. Whatsapp देवदास!
ये लोग हमेशा दर्द भरे और निराशाजनक मैसेज और शायरी भेजते हैं और अपना दुःख दुनिया को दिखाके लोगों को भी दुखी करते हैं।

5. Whatsapp न्यूज रिपोर्टर!
दुनिया में क्या चल रहा है, ऐसी न्यूज ये लोगो को भेजते हैं।

6. Whatsapp विदुषक!
ये लोग उनकी जिंदगी में कितने भी दुखी हों लेकिन सबको जवाब भेजते हैं और मैसेज में हंसते रहते हैं।

7. Whatsapp मौनी बाबा!
ये लोग चुपचाप मैसेज पढते हैं और कभी जवाब नहीं देते।

8. Whatsapp विचारक!
ये लोग अच्छे विचार अपने मैसेज के जरिये लोगों तक पहुंचाने का प्रयत्न करते हैं।

9. Whatsapp कवि और कवियित्री !
इनको कविता छोडके कुछ भी नहीं जमता, ये कविता भेज के लोगो को बोर करते रहते हैं।

10. Whatsapp चैटर!
इनको चैट के बिना कुछ नहीं आता और कुछ जमता भी नहीं। यह हमेशा आपको ONLINE मिलते हैं।

11. Whatsapp बन्दर!
ये लोग जवाब में कुछ भी नहीं बोलते है सिर्फ हा हा - ही ही करते रहते हैं।

12 . Whatsap कलेक्टर!
ये लोग सिर्फ जाईन करते हैं पर कभी मैसेज नहीं करते सिर्फ ग्रुप जाईन कर घूमते हैं।

जल्दी फॉरवर्ड करो। मार्किट में नया है।
----------
आवश्यकता है एक गर्लफ्रेंड की।
पद : जूनियर गर्लफ्रेंड/सहायक प्रेमिका

अनुभव : कम से कम दो लडको की गर्ल फ्रेंड रह चुकी हो, तथा गर्ल फ्रेंड के सभी दायित्वों में पारंगत हो।

आयु : 18-25 वर्ष (अगर कोई लड़की/महिला दिखने में अच्छी है, और ज्यादा उम्र होने के बावजूद इसी उम्र की लगती हो, तो वह अप्लाई कर सकती है)।

लाभ तथा मानदेय :- सकल मासिक।

• एक उपहार प्रति महिना (अधिकतम मूल्य रुपये 1000) (कोई मूल्यवान धातु जैसे सोना, चांदी या बहुमूल्य रत्न जैसे हीरा इत्यादि की अपेक्षा न रखे)।

• लक्ज़री बाइक में मुफ्त सवारी (अधिकतम 1 घंटा प्रतिदिन)

• कुल्फी / आइसक्रीम/ चोकलेट , प्रतिदिन

• प्रतिदिन 50-100 रुपये के समकक्ष मुफ्त नाश्ता जैसे समोसा / ब्रेड पकोड़ा इत्यादि

• हर रविवार मुफ्त मूवी (ऊपर कोने वाली सीट पर)

• महीने में एक बार मुफ्त ''ब्रांडेड जीन्स /टी-शर्ट '' अथवा ''स्कर्ट / टॉप '' अथवा ''डिज़ाइनर परिधान'' पसंदानुसार (लेकिन पिछले महीने का आचरण संतोष जनक होने पर ही यह सुविधा उपलब्ध है।)

• मिस्ड कॉल करने के लिए , फ़ोन चालू रखने हेतु 100 रूपये का रिचार्ज प्रति महीना

प्रतिवर्ष एक नवीनतम स्मार्ट फ़ोन, जैसे IPHONE या Galaxy S4, दिया जायेगा, तथा ऊपर लिखी सभी सुविधायें अनलिमिटेड रूप से प्राप्त होंगी।

स्थायी होने के बाद वर्ष में दो बार हीरा या सोना के जवाहरात दिए जायेंगे।

जो लडकियाँ इस ऑफर के लिए अपने आपको उपयुक्त नहीं मानती हैं, उन्हें मन छोटा करने की कोई जरूरत नहीं है वो ''Suggest a friend'' सुविधा का लाभ उठा कर अपनी सहेलियों का सुझाव दे सकती हैं।

प्रत्येक सफल रिफरेन्स पर उन्हें फाइव स्टार होटल में लंच अथवा कैंडल लाइट डिनर, उपहार / कृतज्ञता स्वरुप कराया जायेगा!

कृपया इस विज्ञापन के तहत अपने बायो-डाटा के साथ आज ही आवेदन करें।

(बिना फोटो कोई आवेदन स्वीकार नहीं किया जायेगा)

नोट-हमारी कोई शाखा नहीं है।
----------
दुनिया गोल है!
डॉक्टर: तुम पागल कैसे हुए?

पागल: मैंने एक विधवा से शादी की, उसकी जवान बेटी से मेरे बाप ने शादी की तो मेरी वो बेटी मेरी मां बन गई। उनके घर बेटी हुई तो वह मेरी बहन हुई, मगर मैं उसकी नानी का शौहर था। इसलिए वह मेरी नवासी भी हुई। इसी तरह मेरा बेटा अपनी दादी का भाई बन गया और मैं अपने बेटा का भांजा और मेरा बाप मेरा दामाद बन गया और.मेरा बेटा अपने दादा का साला बन गया और....

डॉक्टर: अबे चुपकर मुझे भी पागल करेगा क्या?
----------


सांप भी टल्ली!
एक बार एक आदमी मछली पकड़ने के लिए नदी पर गया। जब वो नदी के किनारे पहुंचा तो उसको एहसास हुआ कि वो मछलियों के लिए चारा लाना तो भूल ही गया है। तभी उसने एक छोटे से सांप को वहां से गुजरते देखा जो अपने मुंह में एक कीड़ा पकड़े हुए था।

आदमी ने सांप को पकड़ा और उसके मुंह से वह कीड़ा छीन लिया लेकिन यह सोचकर कि बेचारे सांप के पास खाने को कुछ नहीं है उसे थोड़ा बुरा लगा और उसने फिर से सांप को पकड़ा और उसके मुंह में थोड़ी बीयर टपका दी। फिर वो मछली पकड़ने में जुट गया।

करीब एक घण्टे बाद आदमी को लगा कि कोई उसका पैंट हल्के से खींच रहा है। जब उसने नीचे देखा तो वही सांप जो पहले एक कीड़ा लेकर आ रहा था अब मुंह में तीन कीड़े पकड़े हुआ था और बड़ी आशा से उस आदमी की तरफ देख रहा था।
----------
असामान्य दिन
एक बार एक आदमी शनिवार कि सुबह कुछ बड़ी ही असामान्य सी आशंका के साथ उठ बैठता है, जिसमे उससे लगता है कि आज का दिन उसके लिए कुछ अलग होने वाला है!

इसी विचार के साथ खिड़की पर लगे उष्णमापन यन्त्र कि ओर उसकी नज़र जाती है तो वह देखता है कि उसमे तापमान 33 डिग्री होता है!

वह सीढियों से नीचे जाता है तो देखता है कि दीवार पर लगी घडी भी 3 बजे पर रुकी हुई होती है!

जैसे ही वह दरवाज़े पर पहुँच कर अख़बार उठता है तो देखता है है आज तारीख भी 3 ही है!

वह इस विश्वास के साथ कि आज की तीसरी दौड़ में त्रिकाल नाम का घोडा भी दौड़ रहा होगा, फटाफट अखबार के पन्ने पलटा कर घुडदौड वाले स्तम्भ में पहुँच जाता है!

और जैसे ही उससे वह नाम दिखता है, वह फ़टाफ़ट बैंक जाता है, और जितने भी पैसे उसके पास होते हैं उन्हें निकाल कर त्रिकाल नाम के घोड़े पर दाव लगा देता है!

और जब दौड़ खत्म होती है तो, त्रिकाल नाम का घोडा तीसरे स्थान पर आता है!
----------
हो गयीं धड़कने तेज़!
एक बार एक लड़का अपनी गर्लफ्रेंड के साथ बगीचे में बैठा बातें कर रहा होता है;

लड़का: जानू, आज मौसम कितना सुहाना है ना?

लड़की: हाँ!

लड़का : तो इस सुहाने मौसम में कोई ऐसी बात करो ना जिसे सुन कर मेरे दिल की धड़कन तेज हो जाए!

लड़की (अचानक): अबे भाग नहीं तो आज तू पिटेगा मेरा बाप और भाई इधर ही आ रहे हैं!
----------
10 लाख रूपए!
एक बैंक बिल्कुल जेल के सामने था एक दिन बैंक के सेफ का लॉक नही खुल रहा था बैंक वालों ने हर तरह कोशिश की मकैनिक बुलाये पर फिर भी वे सेफ का लॉक नही खोल पाए!

तब बैंक मैनेजर ने जेल में जाकर कैदियों से मदद मांगी एक कैदी सेफ का लॉक खोलने के लिए तैयार हो गया!

उसे पुलिस सुरक्षा में बाहर लाया गया और उसने थोड़ी ही देर में बिना किसी तोड़फोड़ के सेफ खोल दिया!

बैंक मैनेजर उसके उस करतब से बहुत खुश हुआ!

मैनेजर ने सेफ खोलने वाले कैदी से कहा मैं आपसे बहुत खुश हूँ, आपने बिना किसी क्षति के सेफ खोल दिया आप बताईये की इस काम के लिए हम आपको कितने रूपए दें!

सेफ खोलने वाले कैदी ने कहा पिछली बार तो जब मैंने ऐसा ही एक सेफ खोला था तो मुझे 10 लाख रूपए मिले थे तभी तो मैं जेल में हूँ!
----------


दिखावे पे ना जाओ अपनी अक्ल लगाओ!
एक लड़की हर रोज़ जब कॉलेज से घर आती तो एक लड़के को अपने घर के आगे खड़ा देखती। जब लड़की उस लड़के की तरफ देखती तो लड़का या तो इधर-उधर देखने लग जाता या फिर अपने मोबाइल पर देखता।

हर रोज़ ऐसा होता और ऐसा होते-होते पूरा एक साल बीत गया।

लड़की को यकीन हो गया कि लड़का उससे प्यार करता है पर कुछ कह नहीं पा रहा। इसलिए लड़की ने एक दिन खुद ही अपने घर वालों से बात कर ली। घर वाले भी बात समझ गए और उनकी शादी के लिए तैयार हो गए।

अगले दिन लड़की ने हिम्मत करके लड़के से कहा, "तुम लगातार एक साल से हर रोज़ मेरे घर के आगे खड़े हो जाते हो। मुझे पता है कि तुम मुझ से बहुत प्यार करते हो और मैं भी तुमसे शादी करने के लिए तैयार हूँ।"

यह सुनकर लड़का डर गया और कांपते-कांपते बोला, "आप गलत समझ रही हैं बहन जी, दरअसल आपके Wi-Fi पर पासवर्ड नहीं लगा हुआ और मैं तो हर रोज़ मुफ्त में Wi-Fi का इस्तेमाल करने के लिए आपके घर के आगे खड़ा होता हूँ!"
----------
सपने का मतलब!
रात में एक चोर घर में घुसा। कमरे का दरवाजा खोला तो बरामदे पर एक बूढ़ी औरत सो रही थी। खटपट से उसकी आंख खुल गई। चोर ने घबरा कर देखा तो वह लेटे लेटे बोली, ''बेटा, तुम देखने से किसी अच्छे घर के लगते हो, लगता है किसी परेशानी से मजबूर होकर इस रास्ते पर लग गए हो। चलो कोई बात नहीं। अलमारी के तीसरे बक्से में एक तिजोरी है। इस का सारा माल तुम चुपचाप ले जाना। मगर पहले मेरे पास आकर बैठो, मैंने अभी-अभी एक ख्वाब देखा है। वह सुनकर जरा मुझे इसका मतलब तो बता दो।"

चोर उस बूढ़ी औरत की रहमदिली से बड़ा अभिभूत हुआ और चुपचाप उसके पास जाकर बैठ गया।

बुढ़िया ने अपना सपना सुनाना शुरु किया, ''बेटा, मैंने देखा कि मैं एक रेगिस्तान में खो गइ हूँ। ऐसे में एक चील मेरे पास आई और उसने 3 बार जोर जोर से बोला अभिलाष! अभिलाष! अभिलाष! बस फिर ख्वाब खत्म हो गया और मेरी आँख खुल गई। जरा बताओ तो इसका क्या मतलब हुआ?''

चोर सोच में पड़ गया। इतने में बराबर वाले कमरे से बुढ़िया का नौजवान बेटा अभिलाष अपना नाम ज़ोर ज़ोर से सुनकर उठ गया और अंदर आकर चोर की जमकर धुनाई कर दी।

बुढ़िया बोली, ''बस करो अब यह अपने किए की सजा भुगत चुका है।"

चोर बोला, "नहीं-नहीं, मुझे और मारो सालों, ताकि मुझे आगे याद रहे कि मैं चोर हूँ, सपनों का मतलब बताने वाला नहीं।"
----------
बीमा कंपनी!
बीमा कंपनी के तीन सेल्समैन अपनी अपनी कंपनी की तेज सर्विस के विषय में बातें कर रहे थे!

पहला कहने लगा यार हमारी कंपनी की सर्विस इतनी तेज है कि जब हमारी कंपनी द्वारा बीमाकृत व्यक्ति की सोमवार को अचानक मृत्यु हो गयी, हमें इस बात का पता उसी शाम को चला और हमारी कंपनी ने बुधवार को ही मुआवजे की सारी रकम उनके घर पहुंचा दी!

दूसरा आदमी बोला अरे यार, जब हमारी कंपनी द्वारा बीमाकृत व्यक्ति मरा था तो, जैसे ही हमारी कंपनी को पता चला तो हमारी कंपनी ने उसी शाम को उनके घर जाकर मुआवजे की सारी रकम दे दी!

आखिरी सेल्समैन ने कहा अरे ये तो कुछ भी नही!

हमारा ऑफिस एक बिल्डिंग के 20वें माले पर है और उस बिल्डिंग में लगभग 70 मंजिलें है हमारी कंपनी का बीमाकृत व्यक्ति 70 वें माले पर खिड़की साफ़ कर रहा था उसका पैर फिसला और वह नीचे गिर गया!

जब वह हमारे ऑफिस तक पहुंचा तो हमने उसके मुआवजे वाला चैक उसके हाथ में ही पकड़ा दिया!
----------
बारिश से निवेदन!
प्रिय बारिश,

ज्यादा रोमांटिक होने की जरूरत नहीं है।

हमारे पास ऐसी गर्लफ्रेंड नहीं है जो शिफॉन की साड़ी पहनकर बारिश में डांस करती हो।

हमारे पास तो बीवियाँ हैं, जो बारिश होने पर जब हम ऐसी ठंड़ मे भीगे हुए घर आते हैं तो वो बेचारी दौड़कर हमारे पास आती हैं और बोलती हैं
"गेट पर ही रुक जाओ। अंदर मत आना सारा घर गन्दा हो जयेगा।"
----------


शादी क्या है?
1. शादी एक खुली जेल है, जिसके बंधन में आजीवन रहना होता है।

2. शादी एक ऐसी साझेदारी है, जिसमें पूँजी पति लगाता है और लाभ पत्नी को होता है।

3. शादी एक ऐसी कहानी है, जो झील के किनारे से शुरू होकर ज्वालामुखी के पहाड़ पर समाप्त होती है।

4. शादी एक ऐसी जोड़ी है, जिसमे प्रेम होता है, चूंकि प्रेम अंधा होता है, इसलिये यह अंधों की जोड़ी है।

5. शादी एक ऐसा आयोजन है, जिसे महिलाएं पुरूषों को लूटने के लिए आयोजित करती हैं।

6. शादी एक ऐसी किताब है, जिसका पहला भाग पद्य में तथा शेष गद्य में होते हैं।

7. शादी एक ऐसा मिलन है, जो अच्छे मित्रों की तरह रहने के इरादे से शुरू किया जाता है और दिन-ब-दिन ये इरादे बदलते जाते हैं।

8. शादी एक ऐसा प्रमाण है, जिसके बाद ही आदमी मानता है कि कुँवारे ही भले थे।

9. शादी जीवन का एक ऐसा मोड़ है, जिसमें लड़की की सब चिंतायें समाप्त हो जाती हैं और लड़के की शुरू हो जाती हैं।

10. शादी ही वह संस्कार है, जिसे करने के बाद आदमी को ज्ञान होता है कि नर्क पृथ्वी पर ही है।

11. शादी एक शब्द नहीं, एक वाक्य है।

12. शादी वो ज़ख्म है जिसमे चोट से पहले हल्दी लगायी जाती है।
----------
ट्रेन में पढ़ी जाने वाली किताबें!
1AC -
बिज़नेस मैगज़ीन, आंबेडकर, मार्क्स, एडिसन, गॅलिलिओ, लिंकन, मार्टिन ल्युथर

2AC -
शेल्डन, ब्रुक्स, शेक्सपियर, ऍरिस्टोटल

3AC -
गांधी, ओबामा, अब्दुल कलाम, चेतन भगत, ओशो, अरुंधती रॉय, रॉबिन शर्मा, दीपक चोप्रा, शिव खेरा

Sleeper -
क्रिकेट सम्राट तेंडुलकर, मनोरमा, फिल्म फेयर, बाबा रामदेव, अध्यात्म

General -
प्रेमिका का बदला, खौफनाक हवेली, खूंखार रात, बेवफा से बदला लेने के १०१ तरीके, २१दिन मे मनचाही लड़की पटाये, करंट मारे गोरिया, 30 दिन में डाक्टर कैसे बनें।
----------
अजीब चस्का!
सत्तर वर्ष की उम्र पूरी करने के बाद एक बुड्ढा प्रत्येक एक वर्ष बीतने पर अपनी ही पत्नी से शादी करता था...

बिना किसी रोक-टोक के सारा कार्यक्रम सम्पन्न हो जाता और फिर अगले वर्ष सब कुछ वैसे ही दोहराया जाता...

पूरे गाँव में ये बात कौतुहल का विषय बन गयी...

आखिर में जब एक व्यक्ति से नहीं रहा गया तो उसने पूछ ही लिया:

बुढ़ऊ जै का बात भई
हर साल ब्याह कत्त हो....
हर साल फेरे लेवत हो......

बुड्ढा- "बस एक ही शब्द सुनवे की खातिर..."

"कौन सो शब्द.."

बुड्ढा - जब पंडित कहत है:-
"लड़के को बुलाओ."
बस कसम से मजा आ जात है।
----------
शोले के गब्बर का चरित्र चित्रण!
प्रश्न: शोले के गब्बर का चरित्र चित्रण कीजिये?

10वीं कक्षा के छात्र द्वारा दिया गया उत्तर:

1. सादा जीवन, उच्च विचार:

गब्बर के जीने का ढंग बड़ा सरल था। पुराने और मैले कपड़े, बढ़ी हुई दाढ़ी, महीनों से जंग खाते दांत और पहाड़ों पर खानाबदोश जीवन। जैसे मध्यकालीन भारत का फकीर हो। जीवन में अपने लक्ष्य की ओर इतना समर्पित कि ऐश-ओ-आराम और विलासता के लिए एक पल की भी फुर्सत नहीं और विचारों में उत्कृष्टता के क्या कहने। 'जो डर गया, सो मर गया' जैसे संवादों से उसने जीवन की क्षणभंगुरता पर प्रकाश डाला था।

2. दयालु प्रवृत्ति:

ठाकुर ने उसे अपने हाथों से पकड़ा था। इसलिए उसने ठाकुर के सिर्फ हाथों को सज़ा दी अगर वो चाहता तो गर्दन भी काट सकता था पर उसके ममतापूर्ण और करुणामय ह्रदय ने उसे ऐसा करने से रोक दिया।

3. नृत्य-संगीत का शौकीन:

'महबूबा ओ महबूबा' गीत के समय उसके कलाकार ह्रदय का परिचय मिलता है। अन्य डाकुओं की तरह उसका ह्रदय शुष्क नहीं था। वह जीवन में नृत्य-संगीत एवं कला के महत्त्व को समझता था। बसन्ती को पकड़ने के बाद उसके मन का नृत्यप्रेमी फिर से जाग उठा था। उसने बसन्ती के अन्दर छुपी नर्तकी को एक पल में पहचान लिया था।गौरतलब है कि कला के प्रति अपने प्रेम को अभिव्यक्त करने का वह कोई अवसर नहीं छोड़ता था।

4. अनुशासनप्रिय:

जब कालिया और उसके दोस्त अपने प्रोजेक्ट से नाकाम होकर लौटे तो उसने कतई ढीलाई नहीं बरती। अनुशासन के प्रति अपने अगाध समर्पण को दर्शाते हुए उसने उन्हें तुरंत सज़ा दी।

5. हास्य-रस का प्रेमी:

उसमें गज़ब का सेन्स ऑफ ह्यूमर था। कालिया और उसके दो दोस्तों को मारने से पहले उसने उन तीनों को खूब हंसाया था ताकि वो हंसते-हंसते दुनिया को अलविदा कह सकें। वह आधुनिक युग का 'लाफिंग बुद्धा' था।

6. नारी के प्रति सम्मान:

बसन्ती जैसी सुन्दर नारी का अपहरण करने के बाद उसने उससे एक नृत्य का निवेदन किया। आज-कल का खलनायक होता तो शायद कुछ और करता।

7. भिक्षुक जीवन:

उसने हिन्दू धर्म द्वारा दिखाए गए जीवन के रास्ते को अपनाया था। रामपुर, रामगढ़ और अन्य गाँवों से उसे जो भी सूखा-कच्चा अनाज मिलता था, वो उसी से अपनी गुजर-बसर करता था। बिरयानी या चिकन मलाई टिक्का की उसने कभी इच्छा ज़ाहिर नहीं की।

8. सामाजिक कार्य:

डकैती के पेशे के अलावा वो छोटे बच्चों को सुलाने का भी काम करता था।
----------


मुफ़्त्खोर!
एक पार्टी में काफी मुफ्त का खाना खाने बहुत लोग घुस गए थे। यह देख मेजबान महिला परेशान हो गयी।

उसने अपने पति से कहा, "मेहमान ज्यादा हैं, खाना कम! कैसे चलेगा?"

पति ने कुछ देर सोचा और बोला कि मैं कुछ करता हूँ।

इतना कह कर वो बाहर गया और बोला, "लड़के वालों की तरफ से जो लोग आए हैं, कृपया अलग खड़े हो जाएं।"

करीब 50 लोग अलग खड़े हो गए।

इसके बाद उसने कहा, " लड़की वालों की तरफ से जो आए हैं, कृपया वे भी अलग खड़े हो जाएं।"

इस बार करीब 40 लोग अलग खड़े हो गए।

अब वह मुस्कुराते हुए बोला, " कृपया आप सभी लोग बाहर निकल जाएं, क्योंकि यह हमारे बच्चे की बर्थडे पार्टी है!"
----------
यह तो हद ही हो गयी!
गर्लफ्रेंड अपने कंजूस बॉयफ्रेंड से: कल रात मैंने तुम्हें सपने में देखा।

बॉयफ्रेंड: अच्छा! क्या सपना देखा?

गर्लफ्रेंड: तुम एक बस में सफर कर रहे थे और अचानक बस ने अपना कंट्रोल खो दिया और वह नदी में जा गिरी। हर कोई अपनी ज़िंदगी बचाने के लिए तैर रहा था, पर तुम किसी को ढूंढ रहे थे...।

बॉयफ्रेंड: मैं तुम्हें ढूंढ रहा था... है ना?

गर्लफ्रेंड: नहीं। तुम चिल्ला रहे थे, "अरे कंडक्टर किधर गया? 2 रुपए लेने थे मैंने वापिस।"
----------
मनोविज्ञान की छात्रा!
एक युवक ने बार के अन्दर घुसने पर एक सुन्दर युवती को देखा एक घण्टे की कोशिश के बाद आखिर उसने हिम्मत जुटायी और उसके पास जाकर धीरे से बोला अगर आप बुरा न मानें तो क्या मैं आपके साथ थोड़ी देर बातें कर सकता हूं!

वह युवती जोर से चीखी नहीं मैं तुम्हारे साथ सोने वाली नहीं हूं!

बार में सभी लोग उसकी तरफ देखने लगे घबराकर लड़का चुपचाप आकर अपनी जगह आकर बैठ गया! कुछ मिनटों बाद युवती उसके पास चल कर आयी और माफी मांगी फिर उसकी ओर देखकर मुरकरायी और बोली मैं माफी चाहती हूं मैंने आपको परेशान कर दिया असल में मैं मनोविज्ञान की छात्रा हूं, और आजकल मैं यह अध्ययन कर रही हूं कि ऐसी परिस्थितियों में लोगों की प्रतिक्रिया क्या होती है?

इतना सुनने पर लड़का अपनी पूरी ताकत से चिल्लाया 500 रू मैं तो क्या तुम्हें 200 भी नहीं दूंगा!
----------
ख़ानदानी आदत!
पिंकी अपनी माँ से, "मां, मैं शादी नहीं करूंगी और अगर आपने जबरदस्ती मेरी शादी किसी से करवाई तो मैं घर से भाग जाऊंगी।"

जीतो रोते हुए बोली, "बेटी मैंने तेरे पिता से भाग कर शादी की, तेरी बहन, तेरी मौसी ने भी भागकर शादी की, तेरा भाई नौकरानी के साथ और तेरे चाचा धोबन के साथ भाग गए। तेरी बुआ सब्जी वाले के साथ भाग गई, तेरे पिता भी दो बार पड़ोसन के साथ भागने की कोशिश कर चुके हैं और अब तू भी भागने की जिद कर रही है। तू ही सोच अगर तू ऐसे करेगी तो आस-पड़ोस में हमारी क्या इज्जत रह जाएगी।"

----------

ये बजरंग कौन है?
डॉक्टर: तुम कौन-सा साबुन इस्तेमाल करते हो?

मरीज: बजरंग का साबुन।

डॉक्टर: पेस्ट?

मरीज: बजरंग का पेस्ट?

डॉक्टर: शैम्पू?

मरीज: बजरंग का शैम्पू।

डॉक्टर: ये बजरंग कहां की कंपनी है?

मरीज: बजरंग मेरा रूम मेट है।
----------
बीमा कंपनी!
बीमा कंपनी के तीन सेल्समैन अपनी अपनी कंपनी की तेज सर्विस के विषय में बातें कर रहे थे!

पहला कहने लगा यार हमारी कंपनी की सर्विस इतनी तेज है कि जब हमारी कंपनी द्वारा बीमाकृत व्यक्ति की सोमवार को अचानक मृत्यु हो गयी, हमें इस बात का पता उसी शाम को चला और हमारी कंपनी ने बुधवार को ही मुआवजे की सारी रकम उनके घर पहुंचा दी!

दूसरा आदमी बोला अरे यार, जब हमारी कंपनी द्वारा बीमाकृत व्यक्ति मरा था तो, जैसे ही हमारी कंपनी को पता चला तो हमारी कंपनी ने उसी शाम को उनके घर जाकर मुआवजे की सारी रकम दे दी!

आखिरी सेल्समैन ने कहा अरे ये तो कुछ भी नही!

हमारा ऑफिस एक बिल्डिंग के 20वें माले पर है और उस बिल्डिंग में लगभग 70 मंजिलें है हमारी कंपनी का बीमाकृत व्यक्ति 70 वें माले पर खिड़की साफ़ कर रहा था उसका पैर फिसला और वह नीचे गिर गया!

जब वह हमारे ऑफिस तक पहुंचा तो हमने उसके मुआवजे वाला चैक उसके हाथ में ही पकड़ा दिया!
----------
मनुष्य के विकास की विभिन्न अवस्थाएं!
शादी से पहले: हीरो नंबर 1।

शादी के बाद: कुली नंबर 1।

शादी से पहले: मैंने प्यार किया।

शादी के बाद: ये मैंने क्या किया?

शादी से पहले: जानेमन मत जाओ।

शादी के बाद: जान मत खाओ।

शादी से पहले: तुम बिन रहा ना जाये।

शादी के बाद: तुमको सहा ना जाये।
----------
रिश्ते अलग बातें अलग!
एक आदमी की बहन मरी और फ़िर भाई मरा लेकिन वो बिलकुल भी नहीं रोया।

जब उसकी बीवी मरी तो वो फ़ूट-फ़ूट कर रोने लगा। लोगों को इस बात से बङी हैरत हुई।

अजीब आदमी है, माँ, बाप, भाई, बहन किसी के मरने पर एक आँसू तक नहीं निकला। अब जब बीवी मरी है तो कैसे बिलख-बिलख कर रो रहा है।

तब उस आदमी ने कहा, "मुझे गलत मत समझो भाईयो, जब बाप मरा तो बाप की उम्र वाले लोगों ने मुझे यह कहा कि चिंता न करो, हम तुम्हारे बाप के समान हैं।

माँ के मरने पर भी उस उम्र की औरतों ने ऐसा ही कहा। भाई के मरने पर और बहन के मरने पर भी ऐसा ही सबने बोला पर अब बीवी के मरने पर किसी एक भी औरत ने यह नहीं कहा 'चिंता न करो, मैं तुम्हारी बीवी के समान हूँ'।
----------


आजीवन औषधि का प्रयोग
चिकित्सक के यहाँ से वापस आने के बाद रामलाल बहुत चिंतित हो कर बैठ जाता है!

यह देख उसकी पत्नी उससे पूछती है, "क्या बात है आप किसी बात से परेशान लग रहे हैं ?"

इस पर रामलाल जवाब देता है, "डॉक्टर ने मुझे कहा है कि अब मुझे अपने बचे हुए जीवन के हर दिन एक गोली खानी पड़ेगी!"

यह सुन पत्नी बोली , "तो क्या बहुत से लोग अपने पूरे जीवन हर दिन एक गोली खाते हैं ?"

इस पर पति बोला," हाँ जानता हूँ, पर मुझे डॉक्टर ने केवल चार ही गोलियां दी हैं!"
----------
एक दुःख भरी कहानी एक औरत कि ज़ुबानी!
जो आज मेरे साथ हुआ वो किसी दुश्मन के साथ भी ना हो।

आज सुबह उठकर मैंने नाश्ता बनाया, बच्चों को खिलाया अपने पति को खिलाया।

सब को तैयार कर के भेज दिया, सारे बर्तन इकठे कर दिए, कपडे वाशिंग मशीन के पास रख दिए।

मैं बाथरूम में गयी, शावर लिया, नहा कर आयी और तैयार हो गयी।

तभी मुझे एक फ़ोन आया और फ़ोन सुन कर तो बस मेरी जान ही निकल गयी।

फ़ोन पर थी मेरी काम - वाली और बोली, "मेरे को आज बहुत बुखार है मेमसाहब, आज काम खुद कर लेना।"
----------
आत्महत्या के उपाय!
अगर आप मरना चाहते हैं लेकिन आप मरने हेतु कुछ नए कारण व तरीके अपनाने के शौक़ीन हैं तो इन्हें अपनाए:

1. अपने लैपटॉप में Win-XP ऑपरेटिंग सिस्टम डाले, BSNL का ब्रॉडबैंड लगाए और इन्टरनेट एक्स्प्लोरर ब्राउज़र पर IRCTC की वेबसाइट पर तत्काल टिकट बुक करने का प्रयास करें, यकीन मानिए आप आत्महत्या कर लेंगे।

2. किसी म्यूजिक स्टोर से अनु मालिक व अल्ताफ राजा के गानों की CD ले आइये और उन्हें रात भर एक बंद कमरे में बैठ कर लगातार सुने, 100% गारंटी है सुबह आपकी लाश मिलेगी।

3. रविवार के दिन आराम से घर में बैठ कर सुबह 9 बजे से शाम के 5 बजे तक सोनी टीवी पर नॉनस्टॉप दिखाया जाने वाला शो "CID" देखें, सोमवार को आपके जनाजे में हम भी शिरकत करेंगे।

4. अगर आप तड़प-तड़प कर मरना चाहते हैं तो इन्टरनेट से दिग्विजय सिंह के सभी भाषणों को डाउनलोड कीजिये और रोज रात को कोई एक भाषण सुनिए, कसम दिग्गी राजा की आप तड़प-तड़प के मरेंगे।

5. अगर आप हँस-हँस के मरना चाहते हैं तो आप दो दिन लगातार बैठ कर राहुल गाँधी जी का भाषण या इंटरव्यू नॉनस्टॉप सुनते जाएँ आप बस हँसते-हँसते इस दुनिया को अलविदा कहेंगे।

6. अगर आप झल्लाहट से मरना छाते हैं तो बाज़ार जाकर दीपक तिजोरी,आदित्य पंचोली,राहुल रॉय व उदय चोपड़ा अभिनीत फिल्मो की DVD ले आइये और खुद को एक कुर्सी पर रस्सी से बांध कर फिल्मे देखे। आपकी जान निकल जायेगी।
----------
गलतफहमी!
एक औरत हाथ में हथौड़ा लिये अपने बेटे के स्कूल में पहुंची और चपरासी से पूछ्ने लगी, "शुक्ला सर की क्लास कौन सी है?"

"क्यों पूछ रही हैं?" हथौड़े को देखकर चपरासी ने डरते हुए पूछा।

"अरे वो मेरे बेटे के क्लास टीचर है।" हथौड़ा हिलाते हुए वो औरत उतावलेपन से बोली।

चपरासी ने दौड़कर शुक्ला सर को खबर दी, कि एक औरत हाथ में हथौड़ा लिये आपको ढूंढ रही है। शुक्ला सर के छक्के छूट गये। वो दौड़कर प्रिसिंपल की शरण में पहुंचे। प्रिंसिपल तत्काल उस औरत के पास पहुंचा और विनय पूर्वक बोला, "कृपया करके आप शांत हो जाईये।"

"मै शांत ही हूं।" वो औरत बोली।

प्रिंसिपल: आप मुझे बताईये कि बात क्या है?

औरत: बात कुछ भी नही हैं। मैं बस शुक्ला सर की क्लास में जाना चाहती हूं।

प्रिंसिपल: लेकिन क्यों?

औरत: क्यों, क्योंकि मुझे वहाँ उस बेंच की कील ठोकनी है, जिस पर मेरा बेटा बैठता है। क़ल वो स्कूल से तीसरी पेंट फ़ाड़ कर आया है।
----------


मुहावरों के आधुनिक अर्थ!
1. खुद की जान खतरे में डालना = शादी करना

2. आ बैल मुझे मार = पत्नी से पंगा लेना

3. दीवार से सिर फोड़ना = पत्नी को कुछ समझाना

4. चार दिन की चाँदनी वही अँधेरी रात = पत्नी का मायके से वापस आना

5. आत्महत्या के लिए प्रेरित करना = शादी की राय देना

6. दुश्मनी निभाना = दोस्तों की शादी करवाना

7. खुद का स्वार्थ देखना = शादी ना करना

8. पाप की सजा मिलना = शादी हो जाना

9. लव मैरिज करना = खुद से युद्ध करने के लिए योद्धा ढूंढना

10. जिंदगी के मज़े लेना = कुँवारा रहना

11. ओखली में सिर देना = शादी के लिए हाँ करना

12. दो पाटों में पिसना = दूसरी शादी करना

13. खुद को लुटते हुऐ देखना = पत्नी की मांग पूरी करना

14. शादी के फ़ोटो देखना = गलती पर पश्चाताप करना

15. शादी के लिए हाँ करना = स्वेच्छा से जेल जाना

16. शादी = बिना अपराध की सजा

17. बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना = दूसरों के दुःख से खुश होना

18. साली आधी घर वाली = वो स्कीम जो दूल्हे को बताई जाती है लेकिन दी नहीं जाती।
----------
अपने घर में ही डाका!
एक मनचले लड़के ने फ़ोन घुमाया।

लड़का(फ़ोन पर): हेल्लो, चमेली केसी है तू?

लड़की: कौन ?

लड़का: तेरा आशिक़ बोल रहा हूँ, मेरी छम्मक-छल्लो।

लड़की: तू चिंटू बोल रहा है क्या?

लड़का: अरे वाह, मेरा नाम इतनी जल्दी पहचान गयी।

लड़की: तेरे पापा का नाम बंसीलाल ही है ना?

लड़का: हां, बिलकुल सही।

लड़की: और तेरे दादा का नाम रामलाल है?

लड़का: अरे लगता है तू मेरी दीवानी हो गयी है, मेरी पूरी जानकारी रखी हुई है।

लड़की: अबे हरामजादे, मैं तेरी बहन बोल रही हूँ, गलती से तुमने घर का नंबर लगा दिया है। तू घर आ फिर बताती हूँ तुम्हें।
----------
चांस पे डांस!
नदी में डूबते हुए आदमी ने पुल पर चलते हुए आदमी को आवाज़ लगायी, "बचाओ-बचाओ"।

पुल पर चलते आदमी ने नीचे देखा और उस आदमी को बचाने के लिए पुल से नीचे रस्सी फैंकी और कहा, "रस्सी को पकड़ के ऊपर आ जाओ।"

परन्तु नदी में डूबता हुआ आदमी रस्सी नहीं पकड़ पा रहा था तो वह डर के मारे चिल्ला कर बोला, "मैं मरना नहीं चाहता, ज़िन्दगी बड़ी कीमती है। कल ही तो मेरी टार्जन कंपनी में बड़ी अच्छी नौकरी लगी है।"

इतना सुनते ही पुल पर चलते आदमी ने अपनी रस्सी खींच ली और भागते-भागते टार्जन कंपनी के दफ्तर में गया और वहां के मैनेजर से बोला, "जिस आदमी को आपने कल नौकरी दी थी वो अभी-अभी डूबकर मर गया है, और इस तरह आपकी कंपनी में एक जगह खाली हो गयी है, मैं बेरोजगार हूँ इसीलिए मुझे रख लीजिये।"

मैनेजर: दोस्त, तुमने देर कर दी, अब से कुछ देर पहले हमने उस आदमी को रखा है, जो उसे धक्का दे कर तुमसे पहले यहाँ आया है।
----------
क्रिकेट का बुखार!
दो दोस्त थे। वे एक-दूसरे को बहुत चाहते थे और क्रिकेट खेलते थे। अचानक एक दिन एक दोस्त बहुत बीमार पड़ गया और मरने की हालत में पहुँच गया। दूसरे दोस्त ने कहा, "देख भाई, लगता है तू अब मरनेवाला है, लेकिन जब तू स्वर्ग पहुँच जाये तो मुझे सपने में ये जरूर बताना कि स्वर्ग में क्रिकेट होता है या नहीं?"

कुछ दिन बाद बीमार दोस्त मर गया।

मरने के सात दिन बाद दूसरे दोस्त ने सपना देखा। सपने में मरा हुआ दोस्त उससे कह रहा था, "दोस्त, मेरे पास तुम्हे देने के लिए दो ख़बरें हैं, एक अच्छी और एक बुरी। अच्छी खबर ये है कि स्वर्ग में क्रिकेट खेला जाता है और बुरी खबर ये है कि अगले रविवार के मैच में तुम्हे बॉलिंग करनी है।"
----------


निशाना चूक गया!
एक बार एक आश्रम में एक गुरु अपने शिष्यों को धनुष बाण चलाना सिखा रहा होता है, जिसमे से एक शिष्य निशाना लगता है परन्तु उसका निशाना चूक जाता है।

शिष्य: साला निशाना चूक गया।

गुरू: आश्रम मैं अपशब्द बोलना मना है अब मत बोलना।

शिष्य दोबारा निशाना लगता है और उसका निशाना फिर से चूक जाता है।

शिष्य: साला निशाना चूक गया।

गुरु: मैंने तुम्हे मना किया था फिर भी तुमने अपशब्द बोला, अब यदि तुमने फिर से यह अपशब्द बोला तो एक आकाशवाणी होगी और आकाश से एक बाण निकलेगा जो तुम्हारी आँख फोड़ देगा।

शिष्य तीसरी बार निशाना लगता है और तीसरी बार फिर उसका निशाना चूक जाता है।

शिष्य: साला फिर निशाना चूक गया।

तभी अचानक बिजली कडकती है और आकाश से एक बाण निकल कर गुरु की आँख मैं जाता है और साथ ही आकाशवाणी होती है;

आकाशवाणी: साला निशाना चूक गया।
----------
भाखड़ा नंगल डैम पर निबंध!
हिंदी की परीक्षा में "भाखड़ा नांगल डैम" पर निबंध लिखने को आया।

भाखड़ा नांगल डैम सतलज नदी पर बना हुआ है।

सतलज नदी पंजाब में है।

पंजाब सरदारो का देश है।

सरदार पटेल भी एक सरदार थे।

उन्हें भारत का लौह पुरुष कहा जाता है।

लोहा टाटा में बनता है।

टाटा हाथ से किया जाता है।

क़ानून के हाथ बड़े लंबे होते हैं।

पंडित जवाहर लाल नेहरू भी क़ानून जानते थे।

उन्हें बच्चे चाचा नेहरू के नाम से पुकारते थे।

चाचा नेहरू को गुलाब बहुत पसंद था।

गुलाब 3 किस्म के होते हैं।

पीने वाला शरबत, खिलने वाला और गुलाबरी होता है।

गुलाबरी बहुत मीठा होता है।

मीठी तो चीनी भी होती है।

चीनी अक्सर चींटी खाती है।

हाथी की चींटी से सख्त नफरत है।

लन्दन का हाथी बहुत विख्यात है।

लन्दन जर्मनी के पास है।

जर्मनी का वार बहुत फेमस है।

वार 8 तरह के होते हैं....

सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार, रविवार और वर्ल्डवार।

वर्ल्ड वार बहुत खतरनाक होते हैं।

खतरनाक तो शेर भी होता है।

40 सेर का एक मन होता है।

मन बहुत चंचल होता है।

चंचल मेरे पीछे बैठती है।

चंचल मधुबाला की छोटी बहन है।

मधुबाला ने फ़िल्म शक्ति में काम किया है।

शक्ति मुठ्ठी में होती है।

छोटे छोटे झगडे में मुठ्ठी बांध कर मारने का शौक़ पंजाबियों का होता है।

पंजाबी पंजाब में रहते हैं।

पंजाब में भाखड़ा नांगल डैम है।

कॉपी चेक करने वाला आज भी इस अद्भुत बालक को ढूंढ रहा हैं।
----------
डेढ होशियारी!
एक पैसेंजर ट्रेन इंदौर से भीलवाडा की तरफ रवाना होनी थी। रात दस बजे सभी डिब्बे खचाखच भर गए. हमारे एडमिन जी भी चढ़ तो गए, पर जब उन्हें बैठने तक की जगह नहीं मिली तो उन्हें एक उपाय सूझा।

उन्होंने "सांप, सांप, सांप" चिल्लाना शुरू कर दिया। यात्री लोग डर के मारे सामान सहित उतर कर दूसरे डिब्बों में चले गए। वे ठाठ से ऊपर वाली सीट पर बिस्तर लगा कर लेट गए। दिन भर के थके थे सो जल्दी ही नींद भी आ गई।

सवेरा हुआ, "चाय, चाय" की आवाज पर वे उठे चाय ली और चाय वाले से पूछा कि कौन सा स्टेशन आया है?

तो चाय वाले ने बताया, "इंदौर है।"

फिर पूछा, `इंदौर से तो रात को चले थे?`

चाय वाला बोला, `इस डिब्बे में सांप निकल आया था, इसलिए इस डिब्बे को यहीं काट दिया था।`
----------
इंजीनियर!
एक पादरी, वकील और इंजीनियर को विद्रोह के कारण मौत की सजा मिली। जब सजा देने का वक़्त आया तो अपराधियों को आखिरी ख्वाहिश की प्रथा बताई तो उन्हें गर्दन ऊपर और नीचे रखने के विकल्प मिले।

पादरी ने ऊपर देखना स्वीकारा ताकि भगवान को देख सके और जैसे ही बटन दबाया गया तो आरी, गर्दन से सिर्फ दो इंच ऊपर रुक गई। अधिकारियों ने इसे ईश्वर की मर्जी समझ के उसे छोड़ दिया।

वकील ने भी ऊपर देखा और जब आरी रुकी तो वह बोला कानूनन एक व्यक्ति को दो बार सजा नहीं दी जा सकती और वह भी छूट गया।

इंजीनियर ने भी ऊपर ही देखने का फैंसला किया। जब बटन दबाया जा रहा था तो वो चिल्लाया, "एक मिनट रुको, अगर आप उस हरे और लाल तार को आपस में बदल देंगे तो काम हो जायेगा।"

बस काम तमाम हो गया।

----------

बाबा की मंत्रण ही बिगड़ गयी!
एक दिन बाबा दरबार में बैठे थे और भक्त अपनी दुखभरी कहानियाँ सुनाकर बाबा से सलाह मांग रहे थे।

भक्त: बाबा की जय हो। बाबा मुझे कोई रास्ता दिखाओ, मेरी शादी तय नहीं हो रही, आपकी शरण में आया हूँ।

बाबा: आप काम क्या करते हो?

भक्त: शादी होने के लिए कौन सा काम करना उचित रहेगा?

बाबा: तुम मिठाई की दूकान खोल लो।

भक्त: बाबा, वो तो 30 सालों से खुली हुई है, मेरे पिताजी की मिठाई की ही दुकान है।

बाबा: शनिवार को सुबह 11 बजे दुकान खोला करो।

भक्त: शनि मंदिर के बगल में ही मेरी दूकान है और मैं रोज 11 बजे ही खोलता हूँ।

बाबा: काले रंग के कुत्ते को मिठाई खिलाया करो।

भक्त: मेरे घर दो काले कुत्ते ही है और मैं सुबह शाम उन्हें मिठाई खिलाता हूँ।

बाबा: सोमवार को मंदिर जाया करो।

भक्त: मैं केवल सोमवार ही नहीं, हर रोज मंदिर जाता हूँ। दर्शन के बगैर मैं खाने को छूता तक नहीं।

बाबा: कितने भाई बहन हो?

भक्त: बाबा आपके हिसाब से शादी तय होने के लिए कितने भाई बहन होने चाहिए?

बाबा: दो भाई एक बहन होनी चाहिए।

भक्त: बाबा, मेरे असल में दो भाई एक बहन ही है।

बाबा: दान किया करो।

भक्त: बाबा मैंने अनाथ आश्रम खोल रखा है, रोज दान करता हूँ।

बाबा: एक बार किसी तीर्थ स्थान हो आओ।

भक्त: बाबा आप के हिसाब से शादी होने के लिए कितने बार तीर्थ जाना जरुरी है?

बाबा: जिंदगी में एक बार तो जाना ही चाहिए।

भक्त: मैं तीन बार जा चूका हूँ।

बाबा: नीले रंग की शर्ट पहना करो।

भक्त: बाबा मेरे पास सिर्फ नीले रंग के ही कुर्ते हैं, कल सारे धोने के लिए दिए हैं, वापिस मिलेंगे तो सिर्फ वही पहनूंगा।

बाबा शांत होकर ध्यान करने लगते हैं।

भक्त: बाबा, एक बात कहूँ?

बाबा: हां जरूर, बोलो बेटा जो बोलना है।

भक्त: मैं पहले से ही शादी-शुदा हूँ और तीन बच्चों का बाप भी हूँ इधर से गुजर रहा था, सोचा तुम्हे उँगली करता चलूँ।
----------
मरने के बाद भी!
पत्नी अपने पति के श्राद्ध पर, खीर और पूरी बना कर छत पर खाना ले गई।

एक कौआ आया और खाने पर चक्कर लगाकर वापस उड़ गया। ऐसा उसने तीन चार बार किया।

पत्नी परेशान हो गई। अचानक ही पड़ोसन भी खाना लेकर छत पर आ गई। इतने में वही कौआ आया और उसकी पूरी लेकर उड़ गया।

पत्नी गुस्से में खाना फ़ेंक कर चिल्लाई, "जीते जी तो ठीक मरने के बाद भी उस कलमुंही का पीछा नहीं छोड़ रहे हो?"
----------
रिश्ते अलग बातें अलग!
एक आदमी की बहन मरी और फ़िर भाई मरा लेकिन वो बिलकुल भी नहीं रोया।

जब उसकी बीवी मरी तो वो फ़ूट-फ़ूट कर रोने लगा। लोगों को इस बात से बङी हैरत हुई।

अजीब आदमी है, माँ, बाप, भाई, बहन किसी के मरने पर एक आँसू तक नहीं निकला। अब जब बीवी मरी है तो कैसे बिलख-बिलख कर रो रहा है।

तब उस आदमी ने कहा, "मुझे गलत मत समझो भाईयो, जब बाप मरा तो बाप की उम्र वाले लोगों ने मुझे यह कहा कि चिंता न करो, हम तुम्हारे बाप के समान हैं।

माँ के मरने पर भी उस उम्र की औरतों ने ऐसा ही कहा। भाई के मरने पर और बहन के मरने पर भी ऐसा ही सबने बोला पर अब बीवी के मरने पर किसी एक भी औरत ने यह नहीं कहा 'चिंता न करो, मैं तुम्हारी बीवी के समान हूँ'।
----------
शादी का सस्पेंस!
एक आदमी ने 6 शादियाँ की पर हर शादी के कुछ दिन बाद उसकी बीवी की मौत हो जाती।
अब वो सातवीं शादी करना चाहता था मगर कोई भी उसे अपनी बेटी देने को तैयार नहीं था।

आखिरकार उसे एक ऐसी बीवी मिली गयी जिसकी भी 6 शादियाँ हो चुकी थी और हर बार उसका पति मर जाता था। लोग हैरान थे यह सोच कर कि देखते हैं अब क्या होता है?
दोनों की शादी हो गयी और अगले ही दिन ही
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
पहले 50 रुपये का रिचार्ज करवाओ फिर बताऊंगा!
----------


मां सब जानती है!
5 साल का बच्चा: आई लव यू माँ।
माँ: आई लव यू टू बेटा।

16 साल का लड़का: आई लव यू मॉम।
माँ: सॉरी बेटा, पैसे नहीं हैं!

25 साल का लड़का: आई लव यू माँ।
माँ: कौन है वह? कहां रहती है?

35 साल का आदमी: आई लव यू माँ।
माँ: बेटा मैंने पहले ही बोला था, उस लड़की से शादी मत करना!
.
.
.
.
और सबसे बढ़िया..
.
.
.
.
.
.
.
55 साल का आदमी: आई लव यू माँ।
माँ: बेटा, मैं किसी भी कागज़ पर साइन नहीं करूंगी!
----------
दांत का इलाज!
एक बार एक बुढ़िया डॉक्टर के पास गयी और उस से बोली दांत में दर्द है डॉक्टर साहब इसीलिए इसे निकाल दीजिए।

डॉक्टर: मुंह खोलो।

बुढ़िया: लो खोल दिया।

डॉक्टर: थोड़ा और।

बुढ़िया ने मुंह और खोल दिया।

डॉक्टर: "थोड़ा सा और", बुढ़िया ने सारा मुंह खोल दिया।

डॉक्टर: अरे और मुंह खोलो।

बुढ़िया गुस्से से चीखी, "अबे अब क्या मुंह में बैठ कर दांत निकालेगा?
----------
गोली का खेल!
एक आदमी नाई की दुकान पर दाढ़ी बनवाने गया। जब नाई उसके चेहरे पर ब्रश से बढ़िया क्रीम से उतना ही बढ़िया झाग बना रहा था तो उस आदमी ने अपने चेहरे के पिचके गालों की ओर इशारा करते हुए बोला, "मेरे गालों के इस गड्ढे के कारण दाढ़ी बढ़िया नहीं बन पाती और कुछ बाल छूट जाते हैं।"

आगे से नाई बोला, "कोई बात नहीं, मेरे पास इसका इलाज है।" उसने पास के दराज में से लकड़ी की एक छोटी से गोली निकाली और उसे देते हुए बोला, "इसे अपने मुँह में मसूड़ों और गाल के बीच रख लो।"

उस आदमी ने वह गोली मुँह में रख ली जिससे उसका गाल फूल गया और नाई ने उसकी अब तक की सबसे शानदार, सबसे बढ़िया दाढ़ी बनाई।

गोली उसके मुह में ही फंसी हुई थी, इसलिए उस आदमी ने कठिनाई से बोलते हुए पूछा, "यदि यह गोली गलती से उसके पेट में चली जाए तो?"

नाई बोला, "कोई बात नहीं। कल लेते आना, जैसे कि बहुत से लोग अब तक लेते आए हैं।"
----------
भिन्न-भिन्न फेसबुक स्टेटस!
लड़की का फेसबुक पे स्टेटस - वो बेवफा निकला।

कमेंट्स लड़कों के:
1. डिअर, वो आपके लायक था ही नहीं।
2. तुम कहाँ वो साला बन्दर कहाँ।
3. हमने तो पहले ही कहा, सब मेरे जैसे नहीं होते।
4. कभी हमें अजमा के देखो, पता चलेगा भरोसा क्या है।
5. जो भी हुआ अच्छा ही हुआ, चिंता मत करो जानू।

लड़के का फेसबुक पे स्टेटस - वो बेवफा निकली।

कमेंट्स नजदीकी दोस्तों के:
1. साले, तेरी शकल ही गधे जैसी है।
2. तेरे से बस आज तक कोई पटी है?
3. तुझ जैसो से भी लड़की पटेगी।
4. उससे तेरी नामर्दी का पता चल गया होगा।
5. तेरे से कुछ नहीं होगा बच्चे, चल अब उसका नम्बर मुझे दे।
----------


व्हाट्सएप्प राशिफल!
अपना-अपना ऱाशिफल देखकर अपने बारे में जान लीजिये

मेष
वाट्सप के डाटा सही चलेंगे। समुह से संबंध प्रगाढ़ होंगे। समुह से संदेश अर्जित करेंगे। रचनात्मक काम करेंगे। सव निर्मित सन्देशो को प्रसारीत करने का शुभ अवसर मिलेगा

वृषभ
डाउन लोड का ध्यान रखें। किसीसन्देश से समस्या का हल आपके प्रयासों से संभव है। विद्यार्थियों को मन लगाकर वाट्सप पर ध्यान देना चाहिए। परिवार में खुशी, उत्साह रहेगा।

मिथुन
वाट्सप में रुकावटों का सामना करना पड़ सकता है। छोटी- बड़ी बात से परेशानी होगी। मोबाईल हेंग होने से मन मे साधारण तनाव रहेगा।

कर्क
वाट्सप पर समय सीमित रखें। पारिवारिक समस्या रह सकती है। लोभ-प्रलोभन से बचें। नए विडियो संग्रहित नहीं करें। पुराने सन्देशो का विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

सिंह
मोबाईल चार्जिग पक्ष कमजोर रहेगा। वाट्सप में समय पर निर्णय नहीं ले पाने से डाटा नुकसान के योग। समुहो से दूर रहें। सन्देश प्राप्ती की स्थिति संतोषजनक रहेगी।

कन्या
अधिकतर भजे सन्देशो में सफलता मिलेगी। दूसरों के सन्देश भी प्राप्त होगा। राजनेतिक सन्देशो से सावधान रहें। समुह मे मन मुटाव से राहत मिलेगी।

तुला
सभी संमुहो में सुखद, सौहार्दपूर्ण माहौल रहेगा। व्यावहारिक संबंधों का लाभ सन्देश प्राप्त करने मे ले पाएंगे। नेट पेक लेने हेतु सोच बदलेगा। संमुहो से लेफ्टा लेफ्टी में स्थायित्व के अवसर बढ़ेंगे।

वृश्चिक
वाट्सप से कोयी तनाव नही उपजेगा दाम्पत्य जीवन अच्छा रहेगा। उत्साहवर्धक समाचार आएंगे। सोच-विचार के अनुकूल स्थिति बनेगी। नया मोबाईल क्रय करने के योग बनेंगे।

धनु
वाट्सप मे में उन्नति की संभावना है।ऐडमिन बनने के चान्स हे . सन्देशो पर संयम रखें। व्यर्थ में परेशानी मोल न लें। स्वयं का सोच, लगन, मेहनत पर विश्वास करें।

मकर
समुह गठन के कार्यों के लिए दिन उत्तम रहने की संभावना है। रुके व धीरे पडे डाटा में गति आएगी। अनजान लोगों को समुह मे न जोडे ।सन्देशो के आवक में सुधार होगा।

कुंभ
वाट्सप पर सम्पर्क बढाने के प्रयास सफल होंगे। सन्देशो को भेजने मे नियमितता,व जवाबदारी ही रहेगी। समुह की स्थिति सुधरेगी। कार्य में परिवर्तन से संतोष रहेगा।

मीन
वाट्सप पर समस्याओं का हल निकलेगा। यात्रा हो सकती है। वाट्सप से व्यावसायिक मामलों में अनबन हो सकती है। समुह से सुखद समाचार मिलेंगे।
----------
दिखावे पे ना जाओ अपनी अक्ल लगाओ!
एक लड़की हर रोज़ जब कॉलेज से घर आती तो एक लड़के को अपने घर के आगे खड़ा देखती। जब लड़की उस लड़के की तरफ देखती तो लड़का या तो इधर-उधर देखने लग जाता या फिर अपने मोबाइल पर देखता।

हर रोज़ ऐसा होता और ऐसा होते-होते पूरा एक साल बीत गया।

लड़की को यकीन हो गया कि लड़का उससे प्यार करता है पर कुछ कह नहीं पा रहा। इसलिए लड़की ने एक दिन खुद ही अपने घर वालों से बात कर ली। घर वाले भी बात समझ गए और उनकी शादी के लिए तैयार हो गए।

अगले दिन लड़की ने हिम्मत करके लड़के से कहा, "तुम लगातार एक साल से हर रोज़ मेरे घर के आगे खड़े हो जाते हो। मुझे पता है कि तुम मुझ से बहुत प्यार करते हो और मैं भी तुमसे शादी करने के लिए तैयार हूँ।"

यह सुनकर लड़का डर गया और कांपते-कांपते बोला, "आप गलत समझ रही हैं बहन जी, दरअसल आपके Wi-Fi पर पासवर्ड नहीं लगा हुआ और मैं तो हर रोज़ मुफ्त में Wi-Fi का इस्तेमाल करने के लिए आपके घर के आगे खड़ा होता हूँ!"
----------
जोश में होश खोना ठीक नहीं!
एक बार छगन अपनी बीवी के साथ कहीं जा रहा था। रास्ते में उसे एक दोस्त मिला जिसे पुलिस ने पकड़ रखा था।

छगन ने उससे पूछा, "क्या हुआ?"

दोस्त: मैंने अपनी बीवी को मार डाला।

छगन: सजा कितनी मिली?

दोस्त: 6 हफ्ते।

छगन ने आव देखा ना ताव पुलिस की पिस्तौल छीनी और अपनी पत्नी को गोली मार दी।

फिर पुलिस से बोला, "चलो मैं भी चलता हूँ, 6 हफ्ते की तो बात है।"

.
.
.
.
दोस्त: अबे ये तुमने क्या किया? पूरी बात तो सुन लेता 6 हफ्ते बाद मुझे फांसी है।
----------
बिहारी शब्द और उनके अर्थ!
बिहार के प्राचीन Dictionary से लिए गए कुछ चुनिंदा अँग्रेजी शब्दों के अर्थ:

What - आंय

Why - काहे

Where - कहवाँ

Who - कवन

Whom - केकरा

How - कईसे

Hey Dude - का बेटा

What's up - का होता हो/ का हाल बीया

Done - हो गइल

Not done - ना होइल

Let him go - जाए दे सार के

I don't know - हम का जानी

Smooth - चीक्कन

Woman - मेहरारु

Father - बाउजी

Mother - महतारी

Resolved - निबटाइ दीहलस

Slapped - हउक देलस

Get lost - भक्क साला

Stay here - हिंयैं रह

Now - अबही

Not now - अबही ना

Never - कबहू ना

Wife - दुलहिन

My Husband - हमार उ

Friend - ईयार

Come here - हेने आव

Go There - होने जो

Same to same - एक्के जइसन

Sunlight - घाम

Salt - नून

Bag - झोरा

Gate - केवाड़ी

Leg - गोड़

Finger - अंगुरी

Ox - बएल

Rat - मुस

Cat - बिलाइ

अकेल्ले मत हँस, दूसरों के हंसाव।
----------


सोच को साफ़ रखो!
एक लड़की सब्ज़ी वाले से: मुझे कोई ऐसी सब्ज़ी दो जिसके 7 फायदे हों।

सब्ज़ी वाला: यह लो मैडम यह गाज़र ले लो।

1. आलू के साथ पका सकती हो।

2. जूस निकाल कर पी सकती हो।

3. सलाद बना सकती हो।

4. गाजर का हलवा बना सकती हो।

5. नूडल्स में डाल सकती हो।

6. मुरब्बा बना सकती हो।

7. आचार बना सकती हो।
.
.
.
.
.
.
.
.
.
बेटा तू जो ढूंढ रहा है ऐसा कुछ नहीं मिलेगा!
----------
लड़कों को रिजेक्ट करते वक्त लड़कियों के 10 बहाने
1. तुम तो मेरे भाई जैसे हो- प्यार का इजहार करते ही लड़कों के दिलों दिमाग में रक्षा बंधन का एहसास लाने वाला जो बहाना सबसे पहले आता है, वो है- तुम तो मेरे भाई जैसे हो। मैंने तुम्हें कभी इस नजर से नहीं देखा। मैं तो तुम्हें भाई मानती थी और तुम...छी छी। यह बहाना लड़कों में धिक्कार भाव को अनचाहा जन्म देता है। बहाना सुनते ही आशिक को कई दिन सदमे से निकलने में लग जाते हैं।

2. प्यार माई फुट- जिस तरह भूत है या नहीं, इसको लेकर काफी संशय है, ठीक उसी तरह कुछ सुंदरियों को प्यार के अस्तित्व पर शक रहता है। ऐसे में कोई मासूम दिल किसी सुंदरी से प्यार करने की गुस्ताखी कर बैठता है तो पहला जवाब आता है। 'प्यार माई फुट', मुझे प्यार में यकीन नहीं है। हालांकि यह बहाना आज के दौर में वीसीआर कैसेट की तरह हो गयाहै, जिसका इस्तेमाल कम ही होता है।

3. अपनी शक्ल देखी है क्या- जब बात दिल की चल रही हो और शक्ल बीच में आ जाए तो समझ लीजिए कि आपका मामला अमुक इश्क के मंदिर में फिट नहीं होगा।

लड़कियां प्यार का इजहार करते वक्त अक्सर गुस्से में यह कह देती हैं कि 'अपनी शक्ल देखी है क्या'। ऐसे में उन लड़कों का दिल सबसे ज्यादा टूटता है, जो महीने में कई बार छिप-छिप कर फेशियल करवाते हैं। 4. सारे लड़के एक जैसे होते हैं- वो लड़कियां जिन्हें प्यार में लड़के धोखा दे देते हैं, ऐसी लड़कियां लड़कों को लेकर एक बुरी छवि बना लेती हैं और हर बार करीब आने वाले लड़के को इस पुरस्कार से नवाजती हैं कि 'सारे लड़के एक जैसे होते हैं'। हालांकि यह बहाना 'शक्ल देखी है' वाले बहाने की काट करता है।

5. मां-बाप को धोखा- बॉर्नवीटा और भगवान कृष्ण को गुरु मानते हुए लड़के अपने रपटते दिल की बात जैसे ही लड़कियों के सामने रखते हैं, फट से जैसे जवाब आता है, मैं अपने मां-बाप-परिवार को धोखा नहीं दे सकती। इस बहाने को सुनते ही लड़कों के मन में ख्याल आता है कि प्यार मांगा है तुम्हीं से।।घर की रजिस्ट्री के कागज नहीं मांगे हैं।

6. करियर जरूरी है भई- प्यार करने के बाद करियर चौपट हो जाता है। इस अटूट सत्य का ज्ञान लड़कों के प्यार का इजहार करते ही लड़कियां दे देती हैं। इजहार करने वाले लड़कों को यह ज्ञान तब मिलता है, जब वो अपनी ट्यूशन फीस से कई मर्तबा ग्रीटिंग कार्ड खरीदने में खर्च कर चुके होते हैं।

7. मेरी उम्र ही क्या है- प्यार करने के लिए वोटर कार्ड जरूरी होता है क्या। यही सवाल सोचते हुए लड़कों ने घंटों पार्क में बिता दिए होंगे, जब किसी खूबसूरत प्रेमिका ने यह कहा होगा कि मेरी अभी उम्र ही क्या है। तुम मुझसे उम्र में बड़े या छोटे हो।

8. बाबा जी का ठुल्लू- प्यार को कबूल न करने के बहानों में इस बहाने का एंट्री जल्दी ही हुई है। पर जिस तेजी से इसने एकतरफा इश्क की बगिया में पांव पसारे हैं, ऐसा मालूम होता है कि आने वाला कल इसी बहाने का है।

9. मेरा ब्वॉयफ्रेंड है- मेरा ब्वॉयफ्रेंड है।।बस ये सुनते ही लड़कों के दिमाग और जुबां पर यही सवाल आ जाता है कि मुझमें क्या कमी है। इस बहाने को कुंठा पैदा करने कीश्रेणी में अव्वल दर्जा प्राप्त है। इस बहाने के कान में घुसते ही लड़के आसमान की ओरदेखते हुए कल्पनाओं के सागर में उतरकर अपनी तुलना उस लड़के से करने लगते हैं, जिसका जिक्र बहाने के तौर पर या सच्चाई बताते हुए लड़कियां कर देती हैं।

10. मैं उस तरह की लड़की नहीं हूं- महिलाओं को बांटने की रणनीति के तहत ही इस बहाने का जन्म हुआ था। लड़कों को कई मर्तबा 3 जादुई शब्द सुनने को मिल जाते हैं। मैं बाकी लड़कियों जैसी नहीं हूं। ऐसे में प्यार का इजहार करने वाले के मन में भी यह शक और खोज करने की इच्छा पैदा हो जाती है कि मैं अब उस तरह की लड़की कहां से लाऊं।प्यार का मजा तब ही है, जब कई बार इंकार हो, तकरार हो, कभी कभार मार भी हो। तो ऐसे में अगर कोई लड़का किसी लड़की से सच्ची मोहब्बत करता है, तो वो इन बहानों से न घबराए और प्यार को साबित करने की कोशिश करते रहे। लेकिन सीमाओं का ध्यान रहे, डर फिल्म के शाहरुख खान बनोगे तो भैया वही हाल होगा जो शाहरुख का कि।।कि। करते हुए फिल्म के आखिरमें हुआ था। बाकी प्यार सच्चा है तो राहत इंदौरी के तोड़े गए इस शेर को दिमाग में बैठा लीजिए, 'फूलों की दुकानें खोलो, खुशबू का व्यापार करो, मल्लाहों का चक्कर छोड़ो, तैर कर नदियां पार करो'।
----------
परमात्मा का शुक्र है!
ज़िंदगी में पहली बार तीन मित्र किसी के यहाँ मातम के लिए गए। जब कुछ देर चुप बैठे हो गई तो मरने वाले के बाप से पूछा: आखिर आपके बेटे की मौत हुई कैसे?

जवाब मिला: उससे गलती से बंदूक का घोड़ा दब गया था, गोली लगी और मर गया।

तभी दुसरे ने पूछा: गोली कहाँ लगी थी?

जवाब मिला: आँख के नीचे।

तभी तीसरा मित्र बोला: परमात्मा का शुक्र है, गोली आँख के नीचे ही लगी वरना आँख चली जाती।
----------
लॉटरी लग गयी!
बेटा अपने पिता से पूछ रहा था कि आप ने यह बेशुमार दौलत कैसे कमाई।

पिता: शादी के बाद शुरु-शुरु के दिनों की बात थी। मेरे पास सिर्फ 50 रुपये थे। मैने उन रुपयों से कुछ सेब खरीदे और बेच दिए। अगले दिन मैने दोबारा वही किया और ऐसा कई दिनो तक चलता रहा।

बेटा: अच्छा फिर?

पिता: फिर तुम्हारे नाना जी की मृत्यू हो गई और बस उन की सारी जायदाद हमें मिल गयी। आखिर कब तक सेब बेच कर गुज़ारा करते?
----------


मिल गया जवाब?
एक बूढ़े आदमी ने सोचा कि उसकी बीवी को शायद सुनना कम हो गया है। यह चेक करने के लिए एक दिन वो उसके पीछे गया और बोला, "जानू, क्या तुम मुझे सुन रही हो?"

कोई जवाब नहीं आया। वो थोडा सा और आगे गया और फिर बोला, "जानू, क्या तुम मुझे सुन रही हो?"

इस बार भी कोई जवाब नहीं आया। वो बिलकुल उसके करीब चला गया और बोला, "जानू, क्या तुम मुझे सुन रही हो?"

बूढी चिल्लाते हुए बोली, "साले बहरे, तीसरी बार हाँ बोल रही हूँ। अब फिर पूछा तो तेरा सिर फोड़ दूंगी।"
----------
अमीरी की हकीकत!
एक ताऊ हस्पताल में आखिरी साँसे गिन रहा था उसका परिवार व एक नर्स उसके बिस्तर के पास खड़े थे।

ताऊ अपने बड़े बेटे से बोला,"बेटा, तुम मेरे TDI City वाले 15 बंगले ले लो।

बेटी से कहा,"तू सोनीपत सेक्टर 14 के बंगले ले ले।

छोटे बेटे से कहा,"तू सबसे छोटा है और मुझे सबसे ज्यादा प्यारा भी तुझे मैं रोहिणी सेक्टर 24 पॉकेट 13 की 20 दुकाने देता हूँ"।

आखिर में ताऊ पत्नी से बोला,"मेरेबाद तुम्हें पैसों के लिए किसी का मुँह न ताकना पड़े इसलिए मेरे यूनिटी वाले 12 फ़्लैट तुम अपने पास रख लो।"

पास में खड़ी नर्स, जो यह सब सुन रही थी, बहुत प्रभावित हुई उसने ताऊ की पत्नी से कहा, "आप बहुत भाग्यशाली हैं कि आपको इतने अमीर पति मिले जो इतनी सारी जायदाद देकर जा रहे हैं।"

पत्नी: "कौन अमीर ? कैसी जायदाद ? अरे ये दुधिया है हम सबको जिम्मेदारियां बाँट रहे हैं सुबह-सुबह दूध पहुंचाने की।
----------
स्वर्ग जाने का रास्ता!
एक बच्चा बाजार के बाहर अपनी माँ के आने का इन्तजार कर रहा था, तभी वहां से एक बाबाजी कुछ इधर उधर देखते हुए बच्चे की तरफ आ रहे थे उसने बच्चे को देखा तो यकायक पूछ लिया बेटा, जरा मुझे ये तो बताओ की ये पोस्ट ऑफिस कहाँ है?

बच्चे ने कहा बाबा यहाँ से सीधे आगे चले जाईये, आगे से अपने सीधे हाथ की तरफ मूढ़ जाईये, वहां तीन चार सीढ़ियाँ नजर आएँगी बस उनको पार कर लेना वहीँ सामने पोस्ट ऑफिस है!

बाबा ने बच्चे का धन्यवाद किया और कहा कि मैं एक बहुत बड़े मठ का बाबा हूँ कभी हमारे मठ में आना मैं तुम्हें स्वर्ग जाने का रास्ता दिखाऊंगा!

बच्चे ने मजाकिया लहजे में कहा बाबा जाईये जाईये अभी पोस्ट ऑफिस का रास्ता तो पता नहीं स्वर्ग का रास्ता क्या खाक दिखाएंगे!
----------
दुनिया गोल है!
बॉस (सेक्रेटरी से): तुम और मैं एक हफ्ते के लिए लंदन जा रहे हैं। ज़रूरी मीटिंग है।

सेक्रेटरी (पति से): ऑफिस के काम से मुझे बॉस के साथ एक हफ्ते के लिए लंदन जाना है। जरूरी मीटिंग है।

पति (अपनी गर्लफ्रेंड से, जो एक टीचर है): मेरी बीवी एक हफ्ते के लिए बाहर जा रही है। उसके जाते ही तुम घर आ जाना।

गर्लफ्रेंड (स्टूडेंट्स से): बच्चो, मैं एक हफ्ते के लिए बाहर जा रही हूं, इसलिए तुम्हारी एक हफ्ते की छुट्टी।

एक स्टूडेंट (अपने पिता से, जो कि बॉस है): डैड, मेरी एक हफ्ते की छुट्टी है। मैं घर आ रहा हूं, आप कहीं मत जाना।

बॉस (सेक्रेटरी से): मेरा बेटा आ रहा है। लंदन जाना कैंसल।

सेक्रेटरी (पति से): लंदन जाना कैंसल हो गया।

पति (गर्लफ्रेंड से, जो कि टीचर है): पत्नी नहीं जा रही। हमारा प्रोग्राम कैंसल।

टीचर (स्टूडेंट्स से): बच्चो, आपकी छुट्टियां कैंसल।

स्टूडेंट (पिता से, जो कि बॉस है): पापा, मैं नहीं आ सकता। छुट्टियां कैंसल हो गईं।
.
.
.
.
बॉस (सेक्रेटरी से): मेरा बेटा नहीं आ रहा, हम एक हफ्ते के लिए लंदन जा रहे हैं!
----------

बन गए ना पोपट!
यह एक डरावनी कहानी है, कमजोर दिल वाले इसे ना पढ़ें।

बरसात की एक रात में एक बूढ़ा आदमी हाथ में एक किताब बेचने के लिए खड़ा था। एक आदमी आया और उसने वो किताब 3000 रूपए में खरीद ली।

बूढ़े आदमी ने किताब दे कर कहा, "जब तक कोई मुसीबत ना आए, किताब का आखिरी पन्ना मत देखना।"

आदमी ने किताब पूरी पढ़ ली। लेकिन डर के कारण आखिरी पन्ना नहीं खोला। एक दिन उससे रहा नहीं गया और आखिरी पन्ना खोल के देख ही लिया और सदमें से मर गया।

पन्ने पर लिखा था 'मूल्य सिर्फ 70 रूपए'!
----------
सबसे भयानक कौन?
एक बार जंगल में कुछ लोग हवन कर रहे थे। देवताओं को खुश करने के लिए ज़ोर-ज़ोर से मंत्र पढ़े जा रहे थे, लेकिन अचानक ही वहाँ एक राक्षस प्रकट हो गया। लपलपाती, आग उगलती जिव्हा और खून से सने उसके लंबे नुकीले दाँत उसे बहुत ही भयानक बना रहे थे।

चारों तरफ भगदड़ मच गई।

जिसे जैसी जगह दिखी भाग निकला। कुछ ही पलों में सब खाली हो गया।

इस सब में एक व्यक्ति वहीँ बैठा हुआ था।

राक्षस गरजते हुए उसके पास पहुंचा और पूछा, "तुम जानते नहीं मैं कौन हूँ?"

उस व्यक्ति ने कहा, "हाँ मैं जानता हूँ। तुम कुम्भीपाक नर्क के राक्षस हो।"

राक्षस ने गरजते हुए, आग उगली और फिर पूछा, "तुम्हें मुझसे डर नहीं लगता?"

उस व्यक्ति ने जवाब दिया, "नहीं, बिलकुल भी नहीं।"

यह सुनकर गुस्से में पागल राक्षस बोला, "अब कोई भी तुम्हारी रक्षा नहीं कर पायेगा मूर्ख! ये बता तुझे मेरा भय क्यों नहीं है?"

उस व्यक्ति ने उसी शान्ति से जवाब दिया, "क्योंकि मैं पिछले पच्चीस वर्षों से शादीशुदा हूँ और मेरी बीवी तुमसे भी भयानक है!"
----------
हो गया नेता जी का पोपट!
एक नेता स्टेज पर भाषण दे रहे थे।

बहनों और भाइयो...

इतने मे उस के नकली दांतों का सेट गिर जाता है वो उठाता है और कहता है
बहनों और भाइयो...

इतने मे फिर से उस के नकली दांतों का सेट फिर गिर जाता है वो फिर उठाता है और कहता है
बहनों और भाइयो...

यही क्रम बार बार चलता है, तभी भीड़ मे से कोई बोला, "आगे भी कुछ बोलोगे या सिर्फ कैसेट (cassette) ही बदलते रहोगे?"
----------
गलत नंबर!
एक बार एक कामकाजी महिला की पदोन्नति के बाद उसका एक बड़े शहर में तबादला हो गया तो वह अपना कार्यभार संभालने उस महानगर में पहुँच गयी।

वहां पहुँच कर उसने देखा कि उसे कंपनी ने रहने के लिए एक फ्लैट भी दे दिया है, यह देख उसने तुरंत अपने पत्नी को इसके बारे में सूचना देने के इरादे से अपने मोबाइल पे SMS लिखा, परन्तु गलती से उसे गलत नंबर पर भेज दिया।

जिस आदमी को वह SMS मिला वह अपनी पत्नी का अंतिम संस्कार करके लौट रहा था, SMS पढ़ते ही वह आदमी बेहोश हो गया और उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा क्योंकि SMS में लिखा था:

प्रियतम,
मैं सही-सलामत पहुंच गई हूं और यहां रहने के लिए अच्छी जगह भी मिल गई है, आप बिलकुल चिंता मत करना बस 1-2 दिन में ही आपको भी बुला लूंगी।

आपकी प्यारी पत्नी!
----------


तोते को सज़ा!
एक बार एक तोता उड़ रहा था फुल स्पीड पर।

उसके सामने अचानक फुल स्पीड में एक कार आ रही थी। दोनो की टक्कर हो गयी।

तोता बेहोश हो गया। वहीँ रास्ते में एक भिखारी जा रहा था, उसने तोते को उठाया और घर ले गया।

उसको मरहम लगाया और पिंजरे में रख दिया।

जब तोते को होश आया, उसने अपने आप को पिंजरे में देखा और बोला, "आईला, जेल! वो कार का ड्राइवर मर गया क्या?"
----------
फ़रमाईश करो मगर, सोच-समझ कर!
3 लोगों को गिरफ्तार किया गया जिनमें एक हिंदुस्तानी, एक अमेरिकी और एक बांग्लादेशी था।

तीनों को 6 साल की सजा हुई, जेल भेजे जाने से पहले हिंदुस्तानी ने बहुत सारी किताबों की मांग की। अमरीकी ने लड़कियों की, जबकि बांग्लादेशी ने बहुत सारी सिगरेट मांग ली।

6 साल की सजा पूरी होने पर जेल से हिंदुस्तानी बाहर आया उसकी दाढ़ी बढ़ी और बाल बढे हुए थे।

जब अमरीकी बाहर आया तो उसके साथ बच्चे थे।

जब बांग्लादेशी बाहर आया तो गुस्से में चेहरा लाल था। वो चीखते हुए बोला, "कमीने कहीं के,सिगरेट तो इतनी दे दी पर लाइटर तो दिया ही नहीं!"
----------
ऊपर वाले का संकेत!
एक आदमी और एक औरत दोनों की कारों का आपस में ज़बरदस्त एक्सीडेंट हो जाता है। किस्मत से दोनों अपनी कारों से सही सलामत बाहर निकलते हैं।

महिला कारों की तरफ हैरत से देखकर आदमी से बोलती है, "देखो हमारी कारों की क्या हालत हो गई है और हम दोनों को कुछ नहीं हुआ। लगता है ऊपर वाला हमें संकेत दे रहा है कि हम दोनों को दोस्त बन जाना चाहिए और एक दूसरे को दोष देने में नहीं उलझना चाहिए।"

आदमी कहता है, "हाँ मैं बिलकुल सहमत हूँ।"

महिला अपनी कार से सड़क पर लुढक कर आई एक बोतल की तरफ इशारा करके बोली, "देखो ये मेरी स्कॉच की बोतल भी टूटने से बच गई। ये भी उपरवाले का ही संकेत हो सकता है कि हमें इसे खोलकर इसी वक्त सेलिब्रेट करना चाहिए।"

यह कहकर उसने अपनी गाड़ी की पिछली सीट से गिलास निकालकर उस आदमी को थमा दिया जो रज़ामंदी में मुंडी हिलाता हुआ अपने आप को आराम देने के लिए झटपट दोनों बोतल खाली कर गया। उसकी दूसरी बोतल खाली हुई ही थी कि महिला ने एक और बोतल खोल कर झट से उसके हाथ में रख दी।

आदमी ने पूछा, "क्या हुआ तुमने तो एक घूँट भी नहीं लिया। किसका इंतज़ार कर रही हो?"

महिला ने जवाब दिया, "नहीं, मैं बस पुलिस का इंतज़ार कर रही हूँ।"
----------
हाज़िर जवाब नौकर!
एक कर्मचारी अपने वेतन का चेक लेकर अपने मालिक के पास पहुंचा और बोला, "यह चेक मेरे वेतन से दो सौ रुपये कम का है।"

मालिक: पिछले महीने जब मैंने तुम्हें दो सौ रुपये ज्यादा का चेक दिया था तो तुमने कोई शिकायत नहीं की थी।

कर्मचारी: ठीक है, वह आपकी पहली गलती थी इसलिए मैंने ध्यान नहीं दिया। लेकिन अगर गलती करना आप अपनी आदत बना लेंगे तो मुझे कहना ही पड़ेगा ना।
----------


भारत के रायचंद!
भारत एक अत्यंत राय बांटू प्रवत्ति का देश है। यहाँ प्राय: चार किस्म के 'रायचंद' पाए जाते हैं।

1. लघु ज्ञानचंद - अकर्मण्य एवं निक्कमे लोग देश चलाने पर ज्ञान की गंगा बहाते नजर आते हैं। हालांकि वे स्वयं के काम में निम्न कोटि की उत्पादकता प्रेषित करते हैं। इन्हें बस बहस का मुद्दा दीजिए और कमाल देखिए।

2. मध्यम ज्ञानचंद- वह लोग जो पचास हजार रुपए महीना तक कमाते हैं। प्राय: दाल, टमाटर, प्याज के भाव पर चिंतन के बहाने ज्ञान बांटा करते हैं। ऐसे लोग ज्यादातर मॉल में Window Shopping करते एवं McDonald पर बर्गर खाते पाए जाते हैं। महंगाई को ताख में रख कर Multiplex में 180 के टिकट पर फिल्म देखना पसंद करते हैं। जहाँ कहीं भी सेल लगी हो वहाँ इनका जमघट देखा जा सकता है।

3. उत्तम ज्ञानचंद - ऐसे लोग जो लाखों में खेलते हैं, प्राय: किसानों की मृत्युदर, भ्रष्टाचार, उद्योग जगत और अर्थव्यवस्था पर ज्ञान पेलते पाए जाते हैं। तुलनात्मक विश्लेषण में पारंगत ऐसे लोग पानी सिर्फ Bisleri का पीते हैं, कपड़े ब्रांडेड पहनते हैं और जनसंख्या एवं गंदगी पर सरकार से क्षुब्ध नजर आना इनका विशेष शौक है। गाड़ी का शीशा नीचे करके टिशु पेपर/ सोडा बॉटल फेंकने में विशेष महारत हासिल यह लोग स्वच्छ भारत अभियान को कोसना नहीं भूलते।

4. अत्यंत ज्ञानचंद - वह लोग जो करोड़ों अरबों में खेलते हैं प्राय: सहिष्णुता-असहिष्णुता, सांप्रदायिकता एवं धर्म-निरपेक्षता जैसे भारी भरकम शब्दों पर मीडिया के सामने ज्ञान वितरण का मौका ढूंढते हैं और अवसर प्राप्त होते ही विशेष ज्ञान का उत्सर्जन कर समस्त छोटे ज्ञानचंदों को भौंचक्का कर देते हैं। ऐसे लोगों की एक टाँग हमेशा विदेश में रहती है और स्विस बैंक से विशेष प्रेम। नैतिकता का उपदेश देना इनका फेवरेट पास टाइम है और देश को अपमानित करना इनकी महानता का मापदंड। पेज थ्री की पार्टियां अटेंड करना और ट्वीट करना इनका विशेष शौक है। अनैतिकता का कचरा इनके कारपेट के नीचे हमेशा दबा मिलता है।
----------
सास - बहू!
नौकरानी, भागती-भागती आयी और बोली,

"मालकिन! आपकी सास को बाहर तीन औरतें पीट रही हैं।"

मालकिन अपनी नौकरानी के साथ भाग कर बाहर आयी और चुप-चाप खड़ी होकर तमाशा देखने लगी।

नौकरानी: मालकिन! आप मदद के लिए नहीं जाएँगी?

मालकिन: नहीं, उसके लिए तीन ही काफी हैं।
----------
कबीर के आधुनिक दोहे!
यदि कबीर जिन्दा होते तो आजकल के दोहे यह होते:

नयी सदी से मिल रही, दर्द भरी सौगात;
बेटा कहता बाप से, तेरी क्या औकात;

पानी आँखों का मरा, मरी शर्म औ लाज;
कहे बहू अब सास से, घर में मेरा राज;

भाई भी करता नहीं, भाई पर विश्वास;
बहन पराई हो गयी, साली खासमखास;

मंदिर में पूजा करें, घर में करें कलेश;
बापू तो बोझा लगे, पत्थर लगे गणेश;

बचे कहाँ अब शेष हैं, दया, धरम, ईमान;
पत्थर के भगवान हैं, पत्थर दिल इंसान;

पत्थर के भगवान को, लगते छप्पन भोग;
मर जाते फुटपाथ पर, भूखे, प्यासे लोग;

फैला है पाखंड का, अन्धकार सब ओर;
पापी करते जागरण, मचा-मचा कर शोर;

पहन मुखौटा धरम का, करते दिन भर पाप;
भंडारे करते फिरें, घर में भूखा बाप।
----------
फ़ालतू की बकवास!
एक सिनेमा घर में कोई किशोर किशोरी लगभग आधा समय आपस में ही बातें करते रहे।

उनके पास बैठे दर्शकों को यह बहुत बुरा लग रहा था। जब एक दर्शक से रहा ना गया तो बोल उठा, "क्या तोते की तरह टांय-टांय लगा रखी है, कभी चुप ही नहीं होते।"

इस पर किशोर ने बिगड़कर कहा, "क्या आप हमारे बारे में कह रहे हैं?"

उत्तर मिला: जी नहीं, फ़िल्म वालों को कह रहा हूँ। शुरू से ही बकवास करे जा रहे हैं। आपकी बातों का एक भी शब्द सुनने नहीं दिया।'
----------


वसूली का तरीका!
एक व्यक्ति ने होटल के मालिक को बोला, "जनाब! इस समय आपका बिल चुकाने के लिए मेरे पास पैसे नहीं हैं।"

होटल का मालिक बोला, "आप चिंता मत कीजिए, हम आपका नाम दीवार पर लिख देंगे। आप जब अगली बार आएं तो दे दीजिएगा।"

व्यक्ति: मगर ऐसे तो सबको पता चल जाएगा।

होटल का मालिक: कैसे पता लग जाएगा श्रीमान जी, नाम के ऊपर आपका कोट जो टंगा होगा।
----------
मंदी की मार!
एक छोटे से शहर मे एक बहुत ही मश्हूर बनवारी लाल सामोसे बेचने वाला था। वो ठेला लगाकर रोज दिन में 500 समोसे खट्टी मीठी चटनी के साथ बेचता था। रोज नया तेल इस्तमाल करता था और कभी अगर समोसे बच जाते तो उनको कुत्तो को खिला देता, बासी समोसे या चटनी का प्रयोग बिलकुल नहीं करता था, उसकी चटनी भी ग्राहकों को बहुत पसंद थी जिससे समोसों का स्वाद और बढ़ जाता था। कुल मिलाकर उसकी क्वालिटी और सर्विस बहुत ही बढ़िया थी।

उसका लड़का अभी अभी शहर से अपनी MBA की पढाई पूरी करके आया था। एक दिन लड़का बोला, "पापा मैंने न्यूज़ में सुना है मंदी आने वाली है, हमे अपने लिए कुछ Cost Cutting करके कुछ पैसे बचने चाहिए, उस पैसे को हम मंदी के समय इस्तेमाल करेंगे।

बनवारी लाल: बेटा में अनपढ़ आदमी हूँ मुझे ये Cost Cutting - Wost Cutting नहीं आता ना मुझसे ये सब होगा, बेटा तुझे पढ़ाया लिखाया है अब ये सब तू ही सम्भाल।

बेटा: ठीक है पिताजी आप रोज रोज ये जो फ्रेश तेल इस्तमाल करते हो इसको हम 80% फ्रेश और 20%पिछले दिन का जला हुआ तेल इस्तेमाल करेंगे।

अगले दिन समोसों का टेस्ट हल्का सा चेंज था पर फिर भी उसके 500 समोसे बिक गए और शाम को बेटा बोलता है देखा पापा हमने आज 20%तेल के पैसे बचा लिए और बोला पापा इसे कहते है Cost Cutting

बनवारी लाल: बेटा मुझ अनपढ़ से ये सब नहीं होता ये तो सब तेरे पढाई लिखाई का कमाल है।

लड़का: पापा वो सब तो ठीक है पर अभी और पैसे बचाने चाहिए। कल से हम खट्टी चटनी नहीं देंगे और जले तैल की मात्र 30% प्रयोग में लेंगे।

अगले दिन उसके 400 समोसे बिक गए और स्वाद बदल जाने के कारन 100 समोसे नहीं बिके जो उसने जानवरो और कुत्तो को खिला दिए।

लड़का: देखा पापा मैंने बोला था ना मंदी आने वाली है आज सिर्फ 400 समोसे ही बिके है।

बनवारी लाल: बेटा अब तुझे पढ़ाने लिखाने का कुछ फायदा मुझे होना ही चाहिए। अब आगे भी मंदी के दौर से तू ही बचा।

लड़का: पापा कल से हम मीठी चटनी भी नहीं देंगे और जले तेल की मात्रा हम 40% इस्तेमाल करेंगे और समोसे भी कल से 400 हीे बनाएंगे।

अगले दिन उसके 400 समोसे बिक गए पर सभी ग्राहकों को समोसे का स्वाद कुछ अजीब सा लगा और चटनी ना मिलने की वजह से स्वाद और बिगड़ा हुआ लगा।

शाम को लड़का अपने पिता से बोला, "देखा पाप आज हमे 40% तेल, चटनी और 100 समोसे के पैसे बचा लिए। पापा इसे कहते है Cost Cutting और कल से जले तेल की मात्रा 50% कर दो और साथ में Tissue पेपर देना भी बंद कर दो।

अगले दिन समोसों का स्वाद कुछ और बदल गया और उसके 300 समोसे ही बिके।

शाम को लड़का अपने पिता से, "पापा बोला था ना आपको की मंदी आने वाली है।"

बनवारी लाल: हाँ बेटा तू सही कहता है मंदी आ गई है। अब तू आगे देख क्या करना है कैसे इस मंदी से लड़े?

लड़का :पापा एक काम करते हैं कल 200 समोसे ही बनाएंगे और जो आज 100 समोसे बचे है कल उन्ही को दोबारा तल कर मिलाकर बेचेंगे।

अगले दिन समोसों का स्वाद और बिगड़ गया, कुछ ग्राहकों ने समोसे खाते वक़्त बनवारी लाल को बोला भी और कुछ चुप चाप खाकर चले गए। आज उसके 100 समोसे ही बिक पाये और 100 बच गए।

शाम को लड़का बनवारी लाल से, "पापा देखा मैंने बोला था आपको और ज्यादा मंदी आएगी अब देखो कितनी मंदी आ गई है।"

बनवारी लाल: हाँ बेटा तू सही बोलता है तू पढ़ा लिखा है समझदार है। अब आगे कैसे करेगा?

लड़का: पापा कल हम आज के बचे हुए 100 समोसे दोबारा तल कर बेचेंगे और नए समोसे नहीं बनाएंगे।

अगले दिन उसके 50 समोसे ही बिके और 50 बच गए। ग्राहकों को समोसे का स्वाद बेहद ही ख़राब लगा और मन ही मन सोचने लगे बनवारी लाल आज-कल कितने बेकार समोसे बनाने लगा है और चटनी भी नहीं देता कल से किसी और दुकान पर जाएंगे।

शाम को लड़का: पापा देखा मंदी आज हमने 50 समोसों के पैसे बचा लिए। अब कल फिर से 50 बचे हुए समोसे दोबारा तल कर गरम करके बचेंगे।

अगले दिन उसकी दुकान पर शाम तक एक भी ग्राहक नहीं आया और बेटा बोला, "देखा पापा मैंने बोला था आपको और मंदी आएगी और देखो आज एक भी ग्राहक नहीं आया और हमने आज भी 50 समोसे के पैसा बचा लिए। इसे कहते है Cost Cutting"

बनवारी लाल: तू सच में MBA करके आया है या अरुण जेटली से मिलकर आया है जो हर चीज़ में Cost Cutting कर दी और मेरी दूकान बंद करवा दी।
----------
मुफ़्त्खोर!
एक पार्टी में काफी मुफ्त का खाना खाने बहुत लोग घुस गए थे।
यह देख मेजबान महिला परेशान हो गयी।

उसने अपने पति से कहा: मेहमान ज्यादा हैं, खाना कम! कैसे चलेगा?

पति ने कुछ देर सोचा और बोला कि मैं कुछ करता हूँ।

इतना कह कर वो बाहर गया और बोला:
लड़के वालों की तरफ से जो लोग आए हैं, कृपया अलग खड़े हो जाएं।

करीब 50 लोग अलग खड़े हो गए।

इसके बाद उसने कहा: लड़की वालों की तरफ से जो आए हैं, कृपया वे भी अलग खड़े हो जाएं।

इस बार करीब 40 लोग अलग खड़े हो गए।

अब वह मुस्कुराते हुए बोला: कृपया आप सभी लोग बाहर निकल जाएं,
क्योंकि यह हमारे बच्चे की बर्थडे पार्टी है!
----------
जैसा धंधा वैसी फितरत!
तीन औरतें पार्टी में बातें कर रही थी।

पहली औरत: कोई कुछ भी बोले मेरे पति सिर्फ आधे पर ही विश्वास करते हैं।

दूसरी औरत: क्या करते हैं तुम्हारे पति?

पहली औरत: वो वकील हैं।

दूसरी औरत: कोई कुछ कहता है तो मेरे पति उससे दोगुणा समझते हैं।

पहली औरत: वो क्या करते हैं?

दूसरी औरत: वो इनकम टैक्स अफसर हैं।

तीसरी औरत: मेरे पति कुछ भी कहते हैं तो कोई उनका विश्वास ही नहीं करता।

पहली और दूसरी औरत हैरान होकर: क्या करते हैं वो?

तीसरी औरत: वो राजनीति में हैं।
----------


एक से बड़ कर एक!
प्रेमी-प्रेमिका बाग में बैठे बातें कर रहे थे।

प्रेमी: कल रात मैंने एक बहुत ही सुन्दर सपना देखा।

प्रेमिका: अच्छा, क्या देखा सपने में?

प्रेमी: मैंने देखा कि मेरी शादी हो गयी है, एक बहुत ही खूबसूरत और समझदार लड़की के साथ।

प्रेमिका: तब तो मुझे मंदिर में प्रसाद चढ़ाना चाहिए।

प्रेमी: लेकिन मेरी शादी तो किसी और के साथ हो गयी फिर तुम क्यों प्रसाद चढाओगी?

प्रेमिका: क्योंकि मैंने मन्नत मांगी थी कि जब तुमसे मेरा पीछा छूट जायेगा तो मैं मंदिर में प्रसाद चढ़ाऊंगी!

----------
काम तमाम!
एक पादरी, वकील और इंजीनियर को विद्रोह के कारण मौत की सजा मिली। जब सजा देने का वक़्त आया तो अपराधियों को आखिरी ख्वाहिश की प्रथा बताई तो उन्हें गर्दन ऊपर और नीचे रखने के विकल्प मिले।

पादरी ने ऊपर देखना स्वीकारा ताकि भगवान को देख सके और जैसे ही बटन दबाया गया तो आरी, गर्दन से सिर्फ दो इंच ऊपर रुक गई। अधिकारियों ने इसे ईश्वर की मर्जी समझ के उसे छोड़ दिया।

वकील ने भी ऊपर देखा और जब आरी रुकी तो वह बोला कानूनन एक व्यक्ति को दो बार सजा नहीं दी जा सकती और वह भी छूट गया।

इंजीनियर ने भी ऊपर ही देखने का फैंसला किया। जब बटन दबाया जा रहा था तो वो चिल्लाया, "एक मिनट रुको, अगर आप उस हरे और लाल तार को आपस में बदल देंगे तो काम हो जायेगा।"

बस काम तमाम हो गया।
----------
सबसे तेज़ कौन?
बीमा कंपनी के तीन सेल्समैन अपनी-अपनी कंपनी की तेज सेवा के बारे में बातें कर रहे थे।

पहला: हमारी कंपनी की सर्विस इतनी तेज है कि आदमी की सोमवार को मौत हुई और हमारी कंपनी ने बुधवार को ही मुआवजे की सारी रकम उनके घर पहुंचा दी।

दूसरा: हमारी कंपनी तो मरने की शाम ही आदमी के घर जाकर मुआवजे की सारी रकम दे देती है।

आखिरी सेल्समैन: अरे ये तो कुछ भी नहीं। हमारा ऑफिस बिल्डिंग के 10वीं मंज़िल पर है। उसी बिल्डिंग में हमारी कंपनी का बीमाकृत व्यक्ति 30वीं मंज़िल पर खिड़की साफ करते-करते नीचे गिर गया। हमारे ऑफिस तक पहुंचा तो हमने उसके मुआवजे वाला चेक उसके हाथ में ही पकड़ा दिया।
----------
प्रेम पत्र!
जीतो की एक सहेली ज्यादा पड़ी लिखी ना थी उसकी शादी एक अच्छे पढ़े-लिखे साहब से हो गई। जो शहर में काम करता था। शादी के लगभग तीन-चार माह बाद उसके पति का पत्र आया। पत्र काफी साहित्यिक था, अंत: उसने जवाब भी उसी तरह देना चाहा।

उसने जीतो से पूछा कि सम्भोधन कैसे करूँ और अंत में क्या लिखूं।

जीतो ने उसे बताया कि शुरू में लिखना, 'मेरे प्राण पति और अंत में आप के चरणों की दासी।'

यह पूछकर वो चली गई। उसने पत्र लिखा। तीसरे दिन उसके पति का नाराजगी भरा पत्र आया। वो जीतो के पास रोती हुई आई तो जीतो ने उससे पूछा, "ऐसा क्या लिख दिया कि तुम्हारे पति नाराज हो गए। मैंने तो ऐसी कोई बात नहीं लिखाई।"

इस पर जीतो की सहेली ने अपने पति का पत्र जीतो की तरफ बढ़ा दिया। पत्र पढ़कर उसका हंसी के मारे बुरा हाल हो गया। उसकी सहेली ने अपने पत्र में लिखा था, 'मेरे चरण पति और अंत में लिखा था आपके प्राणों की प्यासी।'
----------


अनोखा दहेज़!
एक बार एक अमीर आदमी एक लड़की के प्यार में पड़ गया और

हर हालत में उससे शादी करना चाहता था।

एक दिन उसने लड़की के पिता के आगे शादी का प्रस्ताव रख दिया कि

अगर आप अपनी बेटी की शादी मेरे साथ करवा दें तो मैं उसके वजन के बराबर आपको सोना दूंगा।

यह सुनकर लड़की के पिता कुछ सोच में पड़ गए और सोचने के बाद बोले कि

आप मुझे कुछ समय दीजिये।

आदमी: कुछ दिन और, क्या आप कुछ और सोचना चाहते हैं?

पिता: नहीं, सोचना तो कुछ नहीं बस मेरी बेटी का वजन थोडा बढ़ जाये!
----------
घर जैसा नर्क!
एक आदमी की मौत हो गयी और उसे अपने कर्मों की कारण नर्क की प्राप्ति हुई। उसने वहाँ जाकर देखा कि हर देश के लिए अलग-अलग नर्क है।

वह सबसे पहले अमरीकन नर्क में गया और पूछा कि,"यहाँ आत्माओं को किस तरह पीड़ा दी जाती है।"

उसे बताया गया कि पहले तो वो आपको बिजली की कुर्सी के साथ बांध देते हैं, फिर उसमे करंट छोड़ दिया जाता है, फिर कीलों के बिस्तर पर नंगा लिटा दिया जाता है और फिर अमरीकन जल्लाद आता है और दिन भर कोड़े मारता है।

आदमी यह सुनकर बहुत भयभीत हो गया और आगे बढ़ गया। आगे जाकर उसने अलग-अलग देशों के सभी नर्क देखे लेकिन सभी जगह लगभग एक ही तरह की सजा दी जाती थी।

घूमते-घूमते वो आदमी आखिर कर भारतीय नर्क पहुंचा। वहाँ उसने देखा कि आत्माओं की लम्बी कतारें लगी हुई थी। हैरान होकर उसने वहाँ भी सजा के बारे में पूछा कि यहाँ किस प्रकार की सजा दी जाती है जो इतनी लम्बी कतार बना कर सब यही खड़े हुए हैं?

उसे बताया गया कि, "यहाँ सबसे पहले आपको बिजली की कुर्सी के साथ बांध देते हैं फिर उसमे करंट छोड़ दिया जाता है, फिर आपको कीलों के बिस्तर पर नंगा लिटा दिया जाता है और फिर भारतीय जल्लाद आता है और दिन भर आपको कोड़े मारता है।"

आदमी परेशान होकर बोला कि, "ऐसी ही सजा तो बाकी सारे देशों के नर्क में भी मिलती है पर वहाँ तो इतनी भीड़ नहीं है पर यहाँ इतनी भीड़ क्यों है?"

तो किसी ने उसकी परेशानी दूर की और उसे इसका कारण बताया कि, "क्योंकि यहाँ भीड़ के कारण बदहाली है, मैन्टेन्स भी ठीक नहीं है, बिजली भी आती नहीं जिस कारण करंट वाली कुर्सी काम में नहीं आती, कीलों वाले बिस्तर से लोग कीलें चुरा कर ले गए हैं और कोड़े लगाने वाले जल्लाद भी कम हैं और वो भी आकर अपनी हाज़िरी लगा कर कैंटीन में चले जाते हैं, जिस कारण यहाँ लोग बस चक्कर ही काटते रहते हैं और घर जैसा महसूस करते हैं!"
----------
युद्ध की शुरुआत!
बेटा: पिता जी, युद्ध कैसे शुरू होते है?

पिता: मान लो कि अमेरिका और इंग्लैंड में किसी बात पर मतभेद हो गया।

माँ: लेकिन अमेरिका और इंग्लैंड में मतभेद हो ही नहीं सकता।

पिता: अरे, भई मैं तो केवल एक उदाहरण दे रहा था।

माँ: मगर तुम बच्चे को गलत उदाहरण देकर बहका रहे हो।

पिता: नहीं, मैं बहका नहीं रहा हूँ।

माँ: जरुर बहका रहे हो।

पिता: बकवास बंद करो। एक बार कह दिया ना, नहीं बहका रहा हूँ।

माँ: मैं क्यों चुप रहूं, तुम्हारी कोई धींगा-मुश्ती है?

बेटा: आप लोग झगड़ा बंद करिए, मैं समझ गया कि युद्ध कैसे होते हैं।
----------
पुरुष!
भगवान की ऐसी रचना जो बचपन से ही त्याग और समझौता करना सीखता है।

वह अपने चॉकलेटस का त्याग करता है अपने दांत बचाने के लिये।

वह अपने सपनो का त्याग कर माता-पिता की खुशी के लिये उनके अनुसार कैरियर चुनता है।

वह अपनी पूरी पॉकेट-मनी गर्लफ़्रेंड के लिये गिफ़्ट खरीदने में लगाता है।

वह अपनी पूरी जवानी बीवी-बच्चों के लिये कमाने में लगाता है।

वह अपना भविष्य बनाने के लिये लोन लेता है और बाकी की ज़िंदगी उस लोन को चुकाने में लगाता है।

इन सबके बावज़ूद वह पूरी ज़िंदगी पत्नी, माँ और बॉस से डांट सुनने में लगाता है।

पूरी ज़िंदगी पत्नी, माँ, बॉस और सास उस पर कंट्रोल करने की कोशिश करते हैं।

उसकी पूरी ज़िंदगी दूसरों के लिये ही बीतती है।

इसलिए हमेशा एक पुरुष का सम्मान करें!
----------



गूगल आरती!
ओम जय गूगल हरे !! स्वामी ओम जय गूगल हरे !!
प्रोग्रामर्स के संकट, डेवलपर्स के संकट क्षण में दूर करे !!
ओम जय गूगल हरे !!
जो ध्यावे वो पावे, दुख बिन से मन का,
स्वामी दुख बिन से मन का !!

होमपेज की सम्पति लावे, होमपेज पूर्ण करावे !
कष्ट मिटे वर्क का!
स्वामी ओम जय गूगल हरे !!

तुम पूर्ण सर्च इंजिन तुम इंटरनेट यामी !
स्वामी तुम इंटरनेट यामी !!
पार करो हमारे पगार, पार करो हमारे साक्षात्कार !
तुम दुनिया के स्वामी !!

स्वामी ओम जय गूगल हरे !
तुम जानकारी के सागर,
तुम पालन कर्ता, स्वामी तुम पालन कर्ता!!
मैं मुर्ख खलकामी, मैं सर्चर तुम सर्वर,
स्वामी तुम कर्ता-धर्ता !!

स्वामी ओम जय गूगल हरे !!
दीन बन्धु दुख हर्ता, तुम रक्षक मेरे,
स्वामी तुम ठाकुर मेरे !!
अपनी सर्च दिखाओ, सारे रिसर्च कराओ;
साइट पर खड़ा मैं तेरे !!

स्वामी ओम जय गूगल हरे !!
गूगल देवता की आरती जो कोई प्रोग्रामर गावे,
स्वामी जो कोई भी प्रोग्रामर गावे;
कहत सुन स्वामी, लैरी पेज स्वामी,
मनवांछित फल पावे !!

स्वामी ओम जय गूगल हरे !!
बोलो गूगल देवता की जय !
----------
नालायक या होशियार!
एक लड़का स्कूल में नया-नया दाख़िल हुआ।

अध्यापक ने उससे बोला कि कहो 'A'।

पर लड़का कुछ नहीं बोला।

अध्यापक ने बहुत कोशिश की पर लड़के के मुंह से 'A' नहीं निकला।

क्लास ख़तम होने के बाद अध्यापक ने उससे पूछा,
"क्या तुम इतने नालायक हो कि तुम 'A' नहीं कह सकते।"

लड़के ने उत्तर दिया, "नहीं सर ऐसी बात नहीं है। कह तो सकता हूँ,
फिर आप 'B' कहलवाते, फिर 'C' और 'D'।
फिर अक्षरों को मिला कर शब्द बनवाते और शब्दों से वाक्य।
इतनी मेहनत कौन करता। इसलिए मैंने 'A' ही नहीं कहा।
----------
फ़ोकट ज्ञान:
1. DOG सड़क पे उल्टा पड़ा था तो लोग उसकी पूजा करने लगे, क्यों?
क्योंकि DOG उल्टा GOD होता है।

2. मरे हुए व्यक्ति के मुँह में क्या डालना चाहिए? बिड़ला सीमेन्ट, क्योंकि इस सीमेन्ट में जान है।

3. 13 का घनमूल क्या है?
सुरूर, क्योंकि 13...13...13... = सुरूर

4. जो लड़की कभी नही हँसती उसे क्या कहेंगे?
"हसी-ना"

5. जिसका दिल टूट जाता उसका GK कमजोर होता है?
क्योंकि, जब दिल ही टूट गया तो GK क्या करेगा।

6. अगर 2 पीपल के पेड़ को रस्सी से बाँध दिया जाये तो उस रस्सी को क्या कहेंगे?
नोकिया - कनेक्टिगं पीपल

इसी तरह के और फ़ोकट के ज्ञान के लिए हमारे साथ बने रहिए। हम आपको ऐसे ही ज्ञान गंगा में डुबकी लगवाते रहेगें।
----------
चूँकि मैं एक पुरुष हूँ!
चूँकि मैं एक पुरुष हूँ, जब मैं अपनी कार की चाबी कार के अंदर भूल जाता हूँ तो मैं बजाये इसके कि सर्विस सेंटर वालों को बुलाऊँ मैं खुद ही कपडे सुखाने वाले हेंगर के तार से कार का दरवाज़ा खोलने की तब तक कोशिश करता रहूँगा जब तक कि दरवाज़े का ताला पूरी तरह से खराब नहीं हो जाता या मैं पूरी तरह से पस्त नहीं हो जाता।

चूँकि मैं एक पुरुष हूँ, अगर मेरी कार ठीक से स्टार्ट नहीं होती तो मैं उसका बोनट खोल कर उसके इंजन में तांक-झांक करता हूँ। इस बीच कहीं से कोई दूसरा पुरुष प्रकट होता है और वो भी इंजन में इधर-उधर हाथ लगा कर देखता है, फिर हममें से कोई एक बोलता है कि मैं इन चीज़ों को बड़े आराम से ठीक कर लेता था पर आज कल सारी चीज़ें कम्प्युटराइज़ आ रहीं हैं तो पता ही नहीं चलता कि कहाँ से शुरू करूँ और फिर आखिरकार हम मैकेनिक का इंतज़ार करते हैं।

चूँकि मैं एक पुरुष हूँ, अत: घर में अगर कोई उपकरण खराब हो जाता है तो मैं उसे तुरंत खोल कर ठीक करने बैठ जाता हूँ। जबकि मेरे पुराने अनुभवों में मेरे द्वारा खोले गए उपकरण कभी ठीक नहीं हुए बल्कि हमेशा मैकेनिक ने उसे ठीक करने के लिए दोगुणा पैसे वसूलें हैं क्योंकि छोटी सी खराबी को मैं बहुत बड़ा देता हूँ।

चूँकि मैं एक पुरुष हूँ, अत: टीवी देखते हुए रिमोट कंट्रोल हमेशा मेरे हाथ में ही होना चाहिए। हाँ, यह अलग बात है कि मुझे चैनल बदलने के लिए इज़ाज़त लेनी पड़ती है।

चूँकि मैं एक पुरुष हूँ, इसलिए मुझे किसी से रास्ता पूछने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैं समझता हूँ कि मैं कभी रास्ता भूल ही नहीं सकता। चाहे इस चक्कर में मैं कितना भी खो जाऊं।

चूँकि मैं एक पुरुष हूँ और यह इक्कीसवीं सदी है अत: घेरलू कार्य में मैं तुम्हारा बराबर का हाथ बटाऊंगा। तुम कपडे धोना, खाना बनाना, घर की सफाई करना और घर के लिए शॉपिंग करना बाकी का सारा काम मैं अख़बार पढ़ते या टीवी देखते निपटाऊंगा!
----------


बस मिली ही समझो!
एक लेनदार अपना क़र्ज़ वसूलने के लिए अपने कर्ज़दार के पास गया और बोला, "अभी तक तुमने मेरा उधार चुकता नहीं किया?"

कर्ज़दार: बस जल्दी ही कर दूंगा। नौकरी का पहला वेतन मिलते ही तुम्हारा सारा उधार चुका दूंगा।

लेनदार: ओह ! बधाई हो आखिर तुम्हें नौकरी मिल ही गई।

कर्ज़दार: हाँ, मिल ही गई समझो। जैसे ही मेरी एप्लीकेशन जाएगी मुझे नौकरी मिल जाएगी।

लेनदार: तो अभी एप्लीकेशन भी नहीं भेजी।

कर्ज़दार: एप्लीकेशन भेज तो दूंगा, परन्तु बड़े साहब कह रहे थे कि पहले अख़बार में विज्ञापन देंगे, तब मैं एप्लीकेशन भेजूं।

लेनदार: तो अभी विज्ञापन भी नहीं दिया?

कर्ज़दार: नहीं, कह रहे थे कि जैसे ही जगह बनेगी, वह विज्ञापन दे देंगे।

लेनदार: तो अभी जगह भी खाली नहीं हुई?

कर्ज़दार: बस पहला कलर्क नौकरी छोड़ने ही वाला है। जैसे ही वह जायेगा तो जगह खाली हो जाएगी।

लेनदार ने तंग आकर बाकी की बात खुद ही कह दी, "और पहला क्लर्क भी नौकरी छोड़ेगा तब, जब उसे अच्छी नौकरी मिलेगी और उसे नौकरी तब मिलेगी जब उससे पहला क्लर्क छोड़ कर जायेगा और वह पहला कलर्क भी तब छोड़ेगा जब उसे कहीं और नौकरी मिलेगी और उसे नौकरी तब मिलेगी जब उससे पहला क्लर्क छोड़ के जायेगा और..."

कर्जदार हैरान होकर बोला, "अरे, आप तो बड़े समझदार हो गए हैं। सब बातें खुद ही समझ गये। मैंने आप से कर्ज लेकर अच्छा ही किया।"
----------
बिना टिकट यात्रा!
एक पहलवान बस में चढ़ा।

कंडक्टर: भाई साहब, टिकट!

पहलवान: हम टिकट नहीं लेते।

कंडक्टर ने पहलवान की तरफ देखा पर चाहकर भी कुछ न बोल सका।

ऐसे पहलवान हर रोज चढ़ता, पर टिकट न लेता और यही बात कंडक्टर के दिल पर लग गई।

ऐसे ही 6 महीने बीत गए और अब कंडक्टर ने भी पहलवान की तरह अपनी बॉडी बना ली।

अब पहलवान चढ़ा, तो कंडक्टर बोला: टिकट।

पहलवान: हम टिकट नहीं लेते।

कंडक्टर (छाती चौड़ी करके): क्यों नहीं लेते?

पहलवान: क्योंकि हमने पास बनवा रखा है।
----------
धोखेबाज़ आशिक़!
दो लड़कियां आपस में बातें कर रहीं थी।

पहली लड़की: आज के बाद किसी भी लड़के पर विश्वास नहीं करुँगी।
सब साले झूठे, धोखेबाज़ और कमीने होते हैं।

दूसरी लड़की: क्यों क्या हुआ? तेरे बॉयफ्रेंड ने तुझे कुछ कहा क्या?

पहली लड़की: नाम मत लो उस झूठे, धोखेबाज़ का।
मैं तो आज के बाद उसका मुंह भी नहीं देखूंगी।

दूसरी लड़की ने हैरानी से पूछा: क्यों, ऐसा क्या हो गया?
क्या तुमने उसे किसी और लड़की के साथ पकड़ लिया है?

पहली लड़की: अरे नहीं, उसने मुझे मेरे दूसरे बॉयफ्रेंड के साथ देख लिया।
जबकि उसने मुझे कल कहा था कि वो कुछ दिनों के लिए शहर से बाहर जा रहा है।
----------
धोखा लग गया!
एक चौराहे पर एक अभिनेत्री की कार खराब हो गयी तो वहाँ उसे देखने वालों की भीड़ लग गयी।

भीड़ में से एक लड़के ने भाग कर अभिनेत्री को चूम लिया।

चौराहे पर खड़े सिपाही ने यह सब कुछ देखा पर चुप-चाप अपने स्थान पर ही खड़ा रहा।

यह देख कर अभिनेत्री को बहुत गुस्सा आया और वो उसकी शिकयात करने पास के पुलिस स्टेशन चली गयी।

जब सिपाही को वहाँ बुलाया गया और उससे इसके बारे में पूछा तो उसने जवाब दिया,
"माफ़ करे श्रीमान, मैं समझ रहा था कि शूटिंग चल रही है!"
----------


समय का सदउपयोग!
एक स्टेनोग्राफर दफ्तर में हर सोमवार को देर से आया करती थी। एक सोमवार को देर से पहुँचने पर मैनेजर ने उसे अंदर बुलाया तो वह घबरा गई।

लेकिन जब मैनेजर ने मुस्कुरा कर पूछा कि अगले रविवार की रात तुम्हारा क्या प्रोग्राम है तो वह खिल उठी और बोली, "वैसे तो मैं अपने दोस्तों के साथ फ़िल्म देखने जाने वाली थी, लेकिन आप कहें तो अब की बार यह प्रोग्राम रद्द कर दूँ।

मैनेजर: बहुत अच्छा! सभी प्रोग्राम रद्द करके जल्दी सो जाना ताकि सुबह जल्दी उठ कर ठीक समय पर दफ्तर आ सको।
----------
बगुले की टांग!
एक बार एक शिकारी अपने नौकर के साथ शिकार पर गया। वहाँ उन्होंने पानी में एक जंगली बगुला देखा।

नौकर एक दम से चिल्लाया, "मारिये साहब, वो एक टाँग वाला बगुला है, उड़ नहीं पायेगा।"

शिकारी ने मुस्कुराते हुए हुश किया और बगुले ने अपनी दूसरी टाँग निकाली और उड़ने लगा।
शिकारी ने तुरंत उसे गोली मार दी।

जब नौकर ने शाम को बगुले को पकाया तो उसका मन हुआ कि उसका स्वाद चख लिया जाये।
उसे इतना स्वादिष्ट लगा कि वो पूरी टाँग खा गया।

खाने के वक़्त शिकारी ने देखा कि बगुले की एक टाँग गायब है।
लेकिन खाने के समय मूड ना बिगड़े इसलिए शिकारी ने चुप-चाप खाना खा लिया।
खाना खत्म करने के बाद शिकारी ने अपने नौकर से पूछा कि तुमने जो बगुला पकाया था, उसकी एक टाँग गायब थी।

नौकर ने झट से उत्तर दिया, "नहीं साहब, अगर आप सुबह की तरह हुश करते तो वो अपनी दूसरी टाँग भी निकाल लेता!"
----------
घडी का मसला!
रात का समय था, सुनसान सड़क पर शर्मा जी अकेले चले आ रहे थे।

अचानक सामने से दो व्यक्ति शर्मा जी के आगे आ गए।

उनमे से एक आदमी बोला: श्रीमान क्या आपके पास एक रुपये का सिक्का है?

शर्मा जी पहले तो घबरा गए फिर अपने-आप को संभालते हुए बोले:
हाँ-हाँ, है बिलकुल है। लेकिन आप एक रुपये के सिक्के का क्या करेंगे?

आदमी: जी हम बस सिक्का उछालकर अपना एक छोटा सा विवाद निपटाना चाहते हैं।

शर्मा जी (थोडा उत्साहित होकर): ऐसा कौन सा विवाद है जो बातचीत से हल नहीं हो रहा
और सिक्का उछाल कर हल हो जायेगा।

आदमी: जी बात यह है कि आपके पैसे तो हम आपस में बराबर बाँट लेंगे बस यह फैंसला
नहीं कर पा रहे कि आपकी घड़ी कौन रखेगा!

----------
भारत और महाभारत!
दुर्योधन और राहुल गांधी - दोनों ही अयोग्य होने पर भी सिर्फ राजपरिवार में पैदा होने के कारन शासन पर अपना अधिकार समझते हैं।

भीष्म और आडवाणी - कभी भी सत्तारूढ़ नही हो सके फिर भी सबसे ज्यादा सम्मान मिला। उसके बाद भी जीवन के अंतिम पड़ाव पे सबसे ज्यादा असहाय दिखते हैं।

अर्जुन और नरेंद्र मोदी - दोनों योग्यता से धर्मं के मार्ग पर चलते हुए शीर्ष पर पहुचे जहाँ उनको एहसास हुआ की धर्म का पालन कर पाना कितना कठिन होता है।

कर्ण और मनमोहन सिंह - बुद्धिमान और योग्य होते हुए भी अधर्म का पक्ष लेने के कारण जीवन में वांछित सफलता न पा सके।

जयद्रथ और केजरीवाल - दोनों अति महत्वाकांक्षी एक ने अर्जुन का विरोध किया दूसरे ने मोदी का। हालांकि इनको राज्य तो प्राप्त हुआ लेकिन घटिया राजनीतिक सोच के कारण बाद में इनकी बुराई ही हुयी।

शकुनि और दिग्विजय - दोनों ही अपने स्वार्थ के लिए अयोग्य मालिको की जीवनभर चाटुकारिता करते रहे।

धृतराष्ट्र और सोनिया - अपने पुत्र प्रेम में अंधे है।

श्रीकृष्ण और कलाम - भारत में दोनों को बहुत सम्मान दिया जाता है परन्तु न उनकी शिक्षाओं को कोई मानता है और न उनके बताये रास्ते का अनुसरण करता है।
----------