Krishan janmashtai messages

Radhe Ji Ka Prem, Murli Ki Mithaas;
Makhan Ka Sawad, Gopiyon Sang Raas;
In Sab Se Mil Kar Bane Janmashtami Ka Din Yeh Khaas.
Wish you a very Happy Janmashtami!
----------
Maiya Yashoda Ka Lal, Gokul Ka Gwal;
Jinke Janam Se Hua Gokul Aur Brij Nihal,
Krishan Kanhaiya Rakhe Aapko Sada Khushal.
Happy Janmashtami!
----------
May Lord Krishna's flute invite the melody of love into your life;
And may Radha's love teach not only how to love but to love eternally.
Happy Janmashtami!
----------
On this holy day of Janmashtami, may Lord Krishna bless you and your family the immortal strength of peaceful life and a path of love and happiness.
Wish you a very Happy Krishna Janmashtami!
----------
May the love and blessings of Lord Krishna fill your life with happiness, contentment and compassion.
Wish you a very Happy Krishna Janmashtami!
----------
May this Janamashtami shower on you blossoms of love and peace.
May the divine grace of Lord Krishna be with you today and always.
Happy Janamashtami!
----------
May Lord Krishna's flute invite the melody of love into your life.
May Radha's love teach not only how to love but to love eternally.
Happy Janamashtami!
----------
May Krishna shows you the way in your life as He showed the way to Arjuna in the battle of Mahabharata.
Have a blessed Krishna Janmashtami!
----------
Gokul Mein Jo Kare Niwaas;
Gopiyo Sang Jo Rachaye Raas.
Devki Yashoda Jinki Maiya;
Aise Hamare Krishan Kanhaiya.
Happy Krishna Janamashtami!
----------
Makhan Churakar Jisne Khaya;
Bansi Bajakar Jisne Nachaya.
Khushi Manao Uske Janamdin Ki;
Jisne Duniya Ko Prem Ka Path Padhaya.
Happy Janamashtami to all!
----------
Knahhaiya Hamare Hain Dulare;
Wahi Hain Jag Mein Sabse Pyare.
Makhan Ke Liye Jhagad Hain Jate;
Gopiya Dekh Akarshit Ho Jate.
Lekin Sabke Hain Woh Rakhwale;
Tabhi To Sabhi Ke Hain Dulare Wo Bansi Wale.
Happy Janmashtami!
----------
Mishri Se Meethe Hain Krishna Ke Bol,
Koi Kaise Lagaye Unka Mol,
Heere Se Jyada Hai Krishna Anmol,
Basa Ke Mann Mein Bal Gopal Ko,
Mukh Se Bolo 'Jai Shri Krishna' Ke Bol!
Happy Krishna Janmashtami!
----------
May Lord Krishna, also known as:
Ajaya - The Conqueror of Life and Death
Bihari - The Travelling Lord
Hari - The Lord Of Nature
Jagannatha - Master Of The Universe
Madana - The Lord Of Love
Narayana - The Refuge Of Everyone
Purshottama - The Supreme Soul
Sanatana - The Eternal Lord
Shyam - Dark-Complexioned Lord
Vishwatma - Soul Of The Universe
Yogi - The Supreme Master
bless you at all times!
Happy Krishna Janmashtami!
----------
Krssnna Govinda Hey Rama Naaraayanna
Shrii-Pate Vaasudeva-Ajita Shrii-Nidhe |
Acyuta-Ananta He Maadhava-Adhokssaja
Dvaarakaa-Naayaka Draupadii-Rakssaka ||

Meaning:
1.1: I Salute You O Krishna the Incarnation of Govinda (Who can be known through Vedas), I Salute You O Rama the Incarnation of Narayana (Who is without any blemish)
1.2: I Salute You O Sripati (the Consort of Sri), I Salute You O Vasudeva (Son of Vasudeva) the Unconquerable One, I Salute You O Srinidhi (the Storehouse of Sri)
1.3: I Salute You O Acyuta (Who is Infallible) the Endless One, I Salute You O Madhava (Consort of Mahalakshmi) the Incarnation of Adhokshaja (Who can be known only through Agamas)
1.4: I Salute You O Lord of Dwaraka and I Salute You Who Saved Draupadi.
Happy Krishna Janmashtami!
----------
Vasudeva Sutam Devam, Kansa Chaanuuramardanam |
Devakii Paramaanandam Krishhnam Vande Jagad Gurum ||

Meaning:
Krishna is the Supreme Lord, Son of Devaki (Sister of Kansa) and Vasudeva. He is the slayer of Kansa and Chanur. I bow to such great Lord and may God bless me with His grace always.
Happy Krishna Janmashtami!
----------
If you don't fight for what you want;
Don't cry for what you lost.
~The Bhagvad Gita

Likewise:
Nothing depends on luck... everything depends on work because, even Luck has to work!
Happy Krishna Janmashtami!
----------
Aakaashaath Patitam Toyam, Yathaa Gachchhati Saagaramh |
Sarvadeva Namaskaaraanh, Keshavam Pratigachchhati ||

Meaning: Lord Krishna is great. Just as every rain drop that falls from the sky flows into the Ocean, in the same way every prayer offered to any deity flows to Lord Krishna. I bow to such great Lord Krishna!
Happy Krishna Janmaashatami!
----------
Let's celebrate the birth of Lord Krishna by:
Re-creating Rasa Lila, the flirtatious aspects of Krishna's youthful days;
Celebrate Lord Krishna's playful and mischievous side by enacting Dahi Handi!
Happy Krishna Janmashtami!
----------
May Lord Krishna's flute fill the melody of love and life in your world at all times!
Happy Krishna Janmashtami!
----------
May Natkhat Nandlal always make your life colourful with lively pranks that keep you on your toes and instills and evokes child-like traits in you, at all times! Happy Krishna Janmashtami!
----------
Nand Ke Ghar Anand Hi Anand Bhayo;
Jo Nand Ke Ghar Gopal Aayo.
Jai Ho Murli Dhar Gopal Ki;
Jai Ho Kanhaiya Lal Ki!
Happy Krishna Janmashtami!
----------
While the Rasa lila re-creates the flirtatious aspects of Krishna's youthful days;
The Dahi Handi celebrate God's playful and mischievous side.
Happy Krishna Janmashtami!
----------
Janmashtami is an annual commemoration of the birth of the Hindu deity Krishna, the eighth avatar of Vishnu.
It is celebrated on the eighth day (Ashtami) of the Krishna Paksha (dark fortnight) of the month of Bhadrapada.
Happy Krishna Janmashtami!
----------
Love is a consistent passion to give... not a meek persistent hope to receive.
~ Lord Krishna
Happy Krishna Janmashtami!
----------
Lord Krishna believed in Karam Yoga:
Follow the right path;
See unity in diversity;
Serve humanity without expecting rewards;
Happy Krishna Janamashtmi!
----------
May lord Krishna show you the way in your life as He showed the way to Arjuna in the battle of Mahabharata at Kurukshetra!
May lord Krishna bless you at all times!
----------
May the Natkhat Nand Lal always give you happiness, health & prosperity; and may you find peace in Krishna consciousness!
Happy Janmashtami!
----------
May Lord Krishna steal all your tensions and worries on this Janmashtmi! And give you all the love, peace and happiness!
Happy Janmashtmi!
----------
May you find your love on this Janmashtmi and Gopis may shower all their love and affection on your body and soul!
Happy Krishna Janmashtmi!
----------
May Lord Krishna steal all your tensions and worries on this Janmashtmi! And give you all the love, peace and happiness!
----------
May the Natkhat Nand Lal always give you many reasons to be happy, healthy & prosperous; and may you find peace in Krishna consciousness!
Happy Janmashtami!
----------
May lord Krishna show you the way in your life as He showed the way to Arjuna in the battle of Mahabharata at Kurukshetra! May lord Krishna bless you at all times!
----------
Whatever belongs to you today, belonged to someone else yesterday; and it will belong to some one else tomorrow.
Don't be illusioned by maya. Maya is the root cause of all pain and misery.
LORD KRISHNA
Happy Janmashtami!
----------
माखन चोर नंद किशोर,
बाँधी जिसने प्रीत की डोर,
हरे कृष्ण, हरे मुरारी,
पूजा करे इनकी दुनिया सारी,
आओ राधे-राधे हम सब गयें;
मिल कर सब हम जश्न मनायें।
कृष्ण जन्माष्टमी की सभी को हार्दिक शुभ कामनायें!
----------
गोपाल सहारा तेरा है,
नंदलाल सहारा तेरा है,
तू मेरा है मैं तेरा हूँ,
मेरा और सहारा कोई नहीं,
तू माखन चुराने वाला है,
तू चित को चुराने वाला है,
तू गाय चराने वाला है,
तू बंसी बजाने वाला है,
ओ मेरे मुरारी तू रास रचाने वाला है।
कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई!
----------
कृष्ण की महिमा, कृष्ण का प्यार,
कृष्ण में श्रद्धा, कृष्ण से संसार,
मुबारक हो सब को जन्माष्टमी का त्यौहार।
----------
चोरी की हर आदमी, करता निंदा घोर,
दुनिया को भाया मगर, अपना माखन चोर।
जय श्री कृष्णा! जन्माष्टमी की बधाई!
----------
बाल रूप है सब को भाता माखन चोर वो कहलाया है,
आला आला गोविंदा आला बाल ग्वालों ने शोर मचाया है।
झूम उठे हैं सब ख़ुशी में, देखो मुरली वाला आया है।
कृष्णा जन्माष्टमी की बधाई!
----------
मुरली मनोहर कृष्ण कन्हैया;
यमुना तट पर विराजे है;
मोर मुकुट पर, कानों में कुंडल;
कर में मुरलिया साजे है।
कृष्णा जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!
----------
गोकुल में जो करे निवास,
गोपियों संग जो रचाये रास,
देवकी यशोदा जिनकी मईया,
ऐसे हमारे कृष्ण कनहैया।
कृष्णा जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!
----------
चढ़ा हुआ कलयुग का सूरज कितने और जलाओगे,
धरती की रक्षा की खातिर हे कृष्णा! तुम कब आओगे;
बुझा दिए अरमाँ लाखो है कितने और बुझाओगे,
फँसे हुए इस कालचक्र में कब तुम हमे बचाओगे;
जन्म से ही लग गया कलंक खुशियों का खो गया चमन,
काटों भरा हो गया जहाँ गुल तुम कब खिलाओगे;
मर चूका इंसान यहाँ पे भरे है बस हैवान,
पाठ पढ़ाने इंसानियत का जाने तुम कब आओगे।
हे कृष्णा तुम कब आओगे!
----------
मेरे तो गिरधर गोपाल दूसरा न है कोई,
जाके सिर मोर मुकुट है हैं मेरे प्रभु सोई।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!
----------
मुरली मनोहर, बृज के धरोहर वो नंद लाल गोपाला हैं,
बंसी की धुन पे सब जग के दुःख हरने वाले नंद लाल गोपाला हैं,
आया है शुभ दिन देखो जन्माष्टमी का फैला चारों ओर उजाला है,
सब के मन में बसने वाले उस बंसी वाले का देखो अंदाज़ ही निराला है।
कृष्ण जन्माष्टमी की सभी को शुभ कामनायें!
----------
माखन चुराकर जिसने खाया;
बंसी बजाकर जिसने नचाया;
ख़ुशी मनाओ उसके जन्म की;
जिसने दुनिया को प्रेम सिखाया।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!
----------
वो मोर मुकुट, वो है नंद लाला;
वो मुरली मनोहर, बृज का ग्वाला;
वो माखन चोर, वो बंसी वाला;
खुशियां मनायें उसके जन्म की;
जो है इस जग का रखवाला।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!
----------
देखो फिर जन्माष्टमी आई है;
माखन की हांडी ने फिर मिठास बढ़ाई है;
कान्हा की लीला है सबसे प्यारी;
दे आपको वो दुनिया की खुशियां सारी।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!
----------
कृष्ण की महिमा, कृष्ण का प्यार;
कृष्ण में श्रद्धा, कृष्ण से ही ये संसार;
मुबारक़ हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!
----------
नंद के घर आनंद ही आनंद भयो;
जो नंद के घर गोपाल आयो;
जय हो मुरलीधर गोपाल की;
जय हो कन्हैया लाल की।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें
----------
राधे कृष्ण
इसे धीरे-धीरे बोलें
रा. . .ह. . .दे. . . कृष्ण
जिसका मतलब है;
हे ईश्वर! मुझे वो दिशा दिखा जिससे मैं सही राह पर चल सकूं।
----------
माखन का कटोरा मिश्री का थाल;
मिटटी की खुशबु बारिश की फुहार;
राधा की उम्मीदें कन्हैया का प्यार;
मुबारक हो जन्माष्टमी का त्यौहार!
----------
मुरली मनोहर कृष्ण कन्हैया;
यमुना तट पर विराजे है;
मोर मुकुट पर, कानों में कुंडल;
कर में मुरलिया साजे है।
हैप्पी जन्माष्टमी!
----------
राधा की चाहत है कृष्ण;
उसके दिल की विरासत है कृष्ण;
चाहे कितना भी रास रचा ले कृष्ण;
दुनिया तो फिर भी यही कहती है;
राधे कृष्ण, राधे कृष्ण।
----------
मेरो तो गिरधर गोपाल;
दूसरो न कोई;
जाके सर मोर मुकुट;
मेरो प्रभु सोई।
शुभ जन्माष्टमी!
----------
मथुरा की खुशबु गोकुल का हार;
वृन्दावन की सुगंध, ब्रिज का फुहार;
राधा की उम्मीद और कन्हैया का प्यार;
मुबारक हो आपको ये जन्माष्टमी का त्यौहार।
----------
सोचा किसी अपने से बात करें;
अपने किसी ख़ास को याद करें;
किया जो फैसला जन्माष्टमी की शुभकामना देने का;
दिल ने कहा क्यों न आपसे शुरुआत करें।
हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी!
----------
कृष्ण के क़दमों पे कदम बढ़ाते चलो;
अब मुरली नहीं तो सीटी बजाते चलो;
राधा तो घर वाले दिलायेंगे ही मगर;
तब तक गोपियाँ पटाते चलो।
हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी!
----------
जन्माष्टमी का त्योहार;
एक राधा और एक मीरा;
दोनों ने श्याम को चाहा;
अब श्याम पर है, सारा भार;
किसकी प्रीत करे स्वीकार।
शुभ जन्माष्टमी!
----------
माखन का कटोरा मिश्री का थाल;
मिटटी की खुशबु बारिश की फुहार;
राधा की उम्मीदें कन्हैया का प्यार;
मुबारक हो जन्माष्टमी का त्यौहार।
----------
इस जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण आपके घर आये;
और माखन, मिश्री के साथ आपके सारे दुःख और कष्ट ले जायें।
शुभ जन्माष्टमी!
----------
माखन चुराकर जिसने खाया;
बंसी बजाकर जिसने नचाया;
ख़ुशी मनाओ उसके जन्म की;
जिसने दुनिया को प्रेम सिखाया।
जय श्री कृष्णा! शुभ जन्मआष्ट्मी!
----------
गोकुल में जो करे निवास;
गोपिय संग जो रचाए रास;
देवकी-यशोदा है जिनकी मैया;
ऐसे ही हमारे कृष्ण कन्हैया!
जय श्री कृष्णा!
शुभ जन्मआष्ट्मी!
----------
आपको मिले खुशियों के सारे रंग;
जीवन में भर जाये उमंग और तरंग;
ले चलो, हमें भी अपने संग;
हम नटखट है, लेकिन नहीं डालेंगे, आपके रंग में भंग!
जय श्री कृष्णा! शुभ जन्मआष्ट्मी!
----------
क्रिशन जी ने गोपिओं के साथ बहुत चक्कर चलाये और सफल भी रहे! लेकिन आपकी असफलता निरंतर चल रही है! भगवन श्री क्रिशन जी की कृपा आप पर भी हो; और इस जन्माष्टमी को आप का भी चक्कर चल जाये!
शुभ जन्माष्टमी!
----------
चन्दन की खुशबु को रेशम का हार;
सावन की सुगंध और बारिश की फुहार;
राधा की उम्मीद को कन्हैया का प्यार;
मुबारक हो आपको जन्मआष्ट्मी का त्योंहार!
शुभ दिवस जन्मआष्ट्मी!
----------
जय श्री कृष्णा!
मंगल, मूहं आपकी कृपा अपरम्पार;
ऐसे श्री कृष्णा जी को, हम सबका नमस्कार!
----------
आओ मिलकर सजाये नन्दलाल को;
आओ मिलकर करें उनका गुणगान!
जो सबको राह दिखाते हैं;
और सबकी बिगड़ी बनाते हैं!
शुभ जन्मआष्ट्मी!
----------
कृषण की महिमा, कृषण का प्यार;
कृषण में श्रधा, कृषण से ही संसार;
मुबारक हो आप सबको जन्मआष्ट्मी का त्योहार!
----------
गोकुल में जिसने किया निवास;
उसने गोपियों के संग रचा, इतिहास!
देवकी-यशोदा जिनकी मैया;
ऐसे ही हमारे कृषण कन्हैया!
जन्मआष्ट्मी शुभ दिवस !
----------
नन्द के घर आनंद भयो;
हाथी घोड़ा पालकी;
जय कन्हैया लाल की!
शुभ दिवस जन्मआष्ट्मी!
----------
राधा: आपने प्रेम मुझसे किया, पर शादी रुखमनी से क्यों की?
कृष्ण: शादी में दो लोग चाहिए और हम तो एक हैं!
कृष्ण जन्मआष्ट्मी शुभदिवस!