Hindi Jokes on Kids

कहानी से सबक!
स्कूल में टीचर ने चौथी क्लास के बच्चों को होमवर्क दिया।
"कोई स्टोरी सोच के आना और फिर क्लास को बताना कि उससे हमें क्या सबक मिलता है?"

अगले दिन एक बच्चे ने क्लास में स्टोरी सुनाई:
"मेरा बापू कारगिल की जंग में लड़ा। उस के हेलीकॉप्टर को दुश्मनों ने मार गिराया। वो दारू की एक बोतल के साथ पहले ही हेलिकॉप्टर से कूद गया लेकिन बार्डर के पार दुश्मनों के इलाके में जा गिरा। जहां कि उस को घेरने के लिए दुश्मनों की फौज दौड पड़ी।

बापू ने गटागट दारू की बोतल पीकर खाली की और अपनी बंदूक संभाल ली। दुश्मन के सौ फौजियों ने आ कर उसे घेर लिया तो उसने तड़ातड़ गोलियां चला कर दुश्मन के सत्तर फौजी मार ड़ाले। फिर उसकी गोलियां खत्म हो गयीं तो उसने बंदूक पर लगी किर्च से दुश्मन के बीस फौजी मार गिराये। तब उसने बंदूक फेंक दी और निहत्थे ही बाकी के दस और दुश्मन फौजी मार गिराये और फिर टहलता हुआ बार्डर पार कर के अपने इलाके में आ गया।"

टीचर भौंचक्का सा उसका मुँह देखने लगा, फिर वैसा ही भौंचक्का सा बोला, "कहानी बढिया है, लेकिन इस से हमें सबक तो कोई नहीं मिलता।"

"मिलता है न।" बच्चा शान से बोला।

"क्या सबक मिलता है?" टीचर ने पूछा।

"यही कि बापू टुन्न हो तो उस से पंगा नहीं लेने का।"


----------

 
बच्‍चा और टीचर!
टीचर क्‍लास में सो गई, तो एक छोटा शरारती बच्‍चा उन्‍हें जगाने गया।

बच्‍चा बोला,"टीचर, आप क्‍लास में सो रही हैं।"

टीचर: नहीं बेटा, मैं सो नहीं रही, मैं तो आंखें बंद करके भगवान से बातें कर रही थी।

अगले दिन वह बच्‍चा क्‍लास में सो गया, तो टीचर ने उसे जगाया।

टीचर: बेटा, क्‍लास में सोते नहीं है।

बच्‍चा: नहीं मैम मैं सो नहीं रहा था। मैं तो भगवान से बातें कर रहा था।

टीचर: अच्‍छा, तो क्‍या बोले भगवान?

बच्‍चा: भगवान बोले कि उनकी तो आपसे कोई बात नहीं हुई थी।


----------

 
स्वर्ग जाने का रास्ता!
एक बच्चा बाजार के बाहर अपनी माँ के आने का इन्तजार कर रहा था, तभी वहां से एक बाबाजी कुछ इधर उधर देखते हुए बच्चे की तरफ आ रहे थे उसने बच्चे को देखा तो यकायक पूछ लिया बेटा, जरा मुझे ये तो बताओ की ये पोस्ट ऑफिस कहाँ है?

बच्चे ने कहा बाबा यहाँ से सीधे आगे चले जाईये, आगे से अपने सीधे हाथ की तरफ मूढ़ जाईये, वहां तीन चार सीढ़ियाँ नजर आएँगी बस उनको पार कर लेना वहीँ सामने पोस्ट ऑफिस है।

बाबा ने बच्चे का धन्यवाद किया और कहा कि मैं एक बहुत बड़े मठ का बाबा हूँ कभी हमारे मठ में आना मैं तुम्हें स्वर्ग जाने का रास्ता दिखाऊंगा।

बच्चे ने मजाकिया लहजे में कहा बाबा जाईये जाईये अभी पोस्ट ऑफिस का रास्ता तो पता नहीं स्वर्ग का रास्ता क्या खाक दिखाएंगे।


----------

 
घर पर कोई है क्या?
एक बार एक आदमी ने एक घर की घंटी बजाई तो अंदर से एक बच्चा बाहर आया।

आदमी: बेटा पापा घर पर हैं?

बच्चा: अंकल, पापा तो बाज़ार गए हैं।

आदमी: चलो बड़े भाई को बुला दो।

बच्चा: वह क्रिकेट खेलने गया है।

आदमी: बेटा, मम्मी तो होंगी घर पर?

बच्चा: जी वह किट्टी पार्टी में गई हैं।

आदमी गुस्से में आकर बोला: तो बेटा तुम घर पर क्यों बैठे हुए हो? तुम भी कहीं चले जाओ।

बच्चा: अरे अंकल मैं भी तो अपने दोस्त के घर आया हुआ हूँ।


----------


हो गया पोपट!
एक आदमी एक दस साल के लड़के के साथ नाई की दुकान पर पहुंचा और बोला कि उसे पास ही कहीं जरुरी काम से जाना है। इसलिये वो पहले उसकी कटिंग कर दें। नाई ने उसकी कटिंग कर दी तो उसने बालक को अपने स्थान पर कुर्सी पर बिठाया, उसके सिर पर प्यार से हाथ फ़ेरा और कहा, "आराम से कटिंग कराना, अंकल को तंग न करना।" इतना कहकर वो वहां से चला गया।

नाई ने लड़के की कटिंग की, उसे कुर्सी से उतारा और कहा, "तू उधर बैठ जा, बेटा, तेरे डैडी अभी आते होंगे।"

लड़का: वो मेरे डैडी थोड़े ही थे।

नाई: तो अंकल होंगे, बेटा।

लड़का: नहीं।

नाई: तो कौन थे वो?

लड़के: मुझे क्या पता कौन थे, मैं तो गली में खेल रहा था कि वो आकर बोले कि फ़्री में कटिंग करायेगा? मैंने कहा, "कराऊंगा" और मैं उसके साथ यहां चला आया।


----------

    
दरियादिली!
गाँव से एक मुसाफिर गुज़र रहा था उसने एक बच्चे को खेलते देखा और बोला, "बेटा क्या आप मुझे थोड़ा सा पानी पिला देंगे?"

बच्चा: अगर लस्सी हो जाये तो।

मुसाफिर: तब तो बहुत ही अच्छा होगा।

बच्चा भाग कर गया और लस्सी ले आया। मुसाफिर ने 5 लोटे लस्सी पीने के बाद बच्चे से पूछा, "क्या तुम्हारे घर में कोई लस्सी नही पीता?"

बच्चा: पीते तो सब हैं लेकिन आज लस्सी में चूहा गिर गया था और उसी में मर गया था।

मुसाफिर ने गुस्से में लोटा ज़मीन पर दे मारा।

बच्चा रोते हुए बोला, "मम्मी इन्होने लोटा तोड़ दिया। अब हम टॉयलेट क्या लेकर जायेंगे?"


----------

 
बज गयी सीटी!
एक आदमी को गैस की बीमारी थी। वो बहुत परेशान था, ना कही आता था ना कही जाता था।

एक बार किसी वजह से उसे अपने बहन के घर जाना पड़ा। बहन के घर जाते समय रास्ते मे सोचने लगा कि एक 5 साल का भांजा है उसके लिए क्या लेके जाऊँ?

फिर एक दुकान से क्रीम वाला बिस्किट ले लिया, घर पहुँचते ही भांजे ने देखा तो "मामा आ गये, मामा आ गये" करते हुए पास आया।

मामाजी जेब से बिस्किट निकालकर जैसे ही उसे देने के लिए झुके, जोर की आवाज के साथ गैस निकल गयी। अब तो हुई मुसीबत। वो 5 साल का बच्चा बिस्किट फेँककर जमीन पर लेटकर रोने लगा।

मामा ने उसे उठाकर पुछा, "क्या हुआ क्यों रो रहे हो?"
तो बच्चा और जोर से रोने लगा। मामा ने उसे गोद मे लेकर प्यार से पुछा, "क्या चाहिए बेटा, क्यों रोते हो?"

वो बच्चा रोते रोते बोला, "हमको बिस्किट नही चाहिए, वो सीटी चाहिए जो आपने अभी अभी बजायी है।"


----------

   
पड़ गयी ठंड!
टीचर: अगर तुम एक जंगल में हो और वहां शेर आ जाए तो तुम क्या करोगे?

लड़का: सर मैं पेड़ पर चढ़ जाऊंगा।

टीचर: अगर वह वहां भी आ जाए तो?

लड़का: तो मैं पानी में कूद जाऊंगा?

टीचर: और अगर वह पानी में भी आ जाए तो?

लड़का: सर, पहले आप यह बताओ कि शेर क्या आपका रिश्तेदार है जो आप उसकी तरफदारी किये जा रहे हो?


----------


गर्लफ्रेंड का फ़ोन!
एक बार एक लड़की ने अपने बॉयफ्रेंड को फोन किया, फोन बॉयफ्रेंड के भतीजे ने उठाया।

लड़की ने प्यार से कहा,"जरा अपने अंकल को फोन देना।"

बंटी ने पूछा,"मैं उन्हें आपका क्या नाम बताऊं?"

लड़की ने इतरा कर कहा, "उनसे कहो कि उनकी जानेमन का फोन है।"

बंटी बोला,"लेकिन फोन में तो आपके नंबर के आगे आइटम नंबर 3 लिखा है।"


----------

   
परिवार की परम्परा!
अध्यापक: पप्पू तुम बहुत ज्यादा बोलते हो। 

पप्पू: ये हमारी खानदानी परम्परा है।

अध्यापक: क्या मतलब है तुम्हारा?

पप्पू: सर, मेरे दादा जी एक फेरीवाले थे, और मेरे पिताजी एक अध्यापक।

अध्यापक: और अपनी माँ के बारे में बताओ?

पप्पू: सर वो एक औरत हैं।


----------

  
खतरे की दोस्ती!
मैं घर गया तो पापा ने पूछा, "कहाँ पर थे?"

मैंने कहा, "दोस्त के घर पर था।"

पापा ने मेरे ही सामने मेरे 10 दोस्तों को फोन किया।

4 ने कहा, "हां अंकल यहीं पर है।"

2 ने कहा, "अभी निकला है।"

3 ने कहा, "यहीं है अंकल पढ़ रहा है, फोन दूँ क्या?"

1 ने तो हद ही कर दी कहा, "बोलो पापा क्या हुआ है?"

पिटवा दिया साले ने।


----------

   
लिंकन ने क्या किया!
एक बाप अपने बेटे कि शरारतों से बहुत परेशान था, उसका बेटा हमेशा कम्प्यूटर पर गेम्ज खेलता रहता था।

एक दिन पढ़ाई व होमवर्क करने के लिए उसे प्रेरित करते हुए उसके बाप ने कहा,"जब अब्राहम लिंकन तुम्हारी उम्र के थे तो वो लकड़ियों की आग जला कर उसके सामने पढ़ाई किया करते थे।"

बच्चे ने जवाब दिया, "पर जब लिंकन आपकी उम्र के थे तो यूनाईटेड स्टेटस के राष्ट्रपति थे।"


----------

 

अमीर बाप!
एक भिखारी एक दरवाजे के सामने खड़ा था उसने दरवाजा खटखटाया। 

घर के मालिक ने दरवाजा खोला और पूछा क्या चाहिए तुम्हें?

भिखारी ने कहा क्या आप कुछ पैसे देकर इस भिखारी की मदद कर सकते हो।

घर का मालिक अन्दर गया और कुछ सिक्के लेकर बाहर आया और भिखारी को दे दिए।

भिखारी ने जब सिक्कों को देखा तो उसने शिकायती अंदाज में कहा जब आपका लड़का घर पर होता है तो वह तो बहुत पैसे देता है।

घर के मालिक ने कहा मेरा बेटा तुम्हें जितना चाहे उतना पैसा दे सकता है क्योंकि उसके पास एक अमीर बाप है।


----------

   
बदसूरत बच्चा!
एक महिला एक बच्चे को गोद में उठाये हुए बस में चढ़ी। 

बस ड्राईवर ने उसके बच्चे कि तरफ देखा और कहा, "मैंने ऐसा बदसूरत बच्चा आज तक नहीं देखा।"

महिला ने कन्डक्टर को किराया पकड़ाया और पीछे जाकर सीट पर बैठ गयी। 

उसे ड्राईवर की बात का बुरा लगा था, इसलिए वह थोड़ी उदास सी थी। 

उसके साथ बैठे आदमी ने पूछ लिया कि, "बहनजी क्या बात है? आप कुछ परेशान लग रही है।" 

महिला ने कहा, "अभी अभी ड्राईवर ने मेरी बेइज्जती की है।" 

उस आदमी ने उसे सहानुभूति देते हुए कहा, "क्यों? वह तो जानता का नौकर है उसे इस प्रकार यात्रियों की बेइज्जती नहीं करनी चाहिए।"

महिला ने कहा, "आप ठीक कहते हैं, मुझे लगता है कि मुझे उसकी बदतमीजी का जवाब दे देना चाहिए जिससे मेरे मन को शांति मिले।"

उस आदमी ने कहा, "ये बहुत अच्छी बात कही आपने, आप जाईये और.......... इस बंदर को मुझे दीजिये।"


----------

   
बच्चा किस पे गया है?
जब कोई बच्चा पैदा होता है तो सारे खानदान वाले उसे देखने आते हैं।

बच्चे का बाप बेटे को गोद में उठा के बोलता है,"मेरे बेटे का चेहरा तो मेरे पे गया है।"

माँ प्यार से देखकर बोलती है,"इसकी आँखें मेरे पे गई हैं।"

बच्चे का मामा देखकर बोलता है,"इसके हाथ पांव तो बिलकुल मेरे पे गए हैं।"

चाचा भी देखता है और बोलता है,"अरे इसकी मुस्कुराहट तो बिलकुल मेरे जैसी है।"

फिर जब वही बच्चा बड़ा होकर लड़कियां छेड़ता है तो सारे खान दान वाले कहते हैं,"पता नहीं ये कमबख्त किस पे गया है?"


----------

   
मूर्ख बच्चा!
एक लड़का एक नाई की दुकान में गया और, नाई ने अपने ग्राहक से फुसफुसाते हुए कहा,"ये दुनिया का सबसे मूर्ख बच्चा है तुम देखो मैं अभी कैसे साबित करता हूँ।" 

नाई ने अपने एक हाथ में 10 रूपए का नोट रखा और दूसरे में 2 रूपए का सिक्का, तब उस लड़के को अपने पास बुलाया और कहा, "बेटा तुम्हें कौन सा चाहिए?"

बच्चे ने 2 रूपए का सिक्का उठाया और बाहर चला गया।

नाई ने कहा, "मैंने तुमसे क्या कहा था ये लड़का कुछ भी नहीं जानता, बाद में जब वो ग्राहक बाल कटवा कर बाहर निकला तो उसे वही बच्चा दिखा जो आइसक्रीम की दुकान के पास खड़ा आइसक्रीम खा रहा था।"

ग्राहक: अरे बेटा क्या मैं तुमसे एक बात पूछूँ? तुमने 10 रूपए लेने के बजाय 2 रूपए का सिक्का क्यों लिया?

बच्चे ने अपनी आइसक्रीम चाटते हुए जवाब दिया, "अंकल जिस दिन मैंने 10 रूपए का नोट ले लिया उस दिन खेल खत्म।"


----------


सबसे तेज कौन!
एक बार तीन बच्चे स्कूल से घर लौट रहे थे और रास्ते में आते हुए वे अपने घर के बारे में बातचीत कर रहे थे बात करते करते वे अपने अपने पापा के बारे में बात करने लगे। 

पहला लड़का: अरे मेरे पापा से तेज तो दुनिया में कोई भी नही है वे 90 kmph की रफ़्तार से गेंद फैंकते है और जब तक यह दूसरी तरफ के विकेट तक पहुँचती है तब तक मेरे पापा उसे भागकर पकड़ लेते है। 

दूसरा लड़का: अरे मेरे पापा तो तुम्हारे पापा से कई गुना तेज है वे इतने तेज है कि जब वे गोली चलाते है तो टार्गेट पर पहुँचने से पहले ही भागकर उसे पकड़ लेते है। 

तभी उनमे से तीसरा लड़का बोला, "अरे ...तुम दोनों के पापा तो मेरे पापा के सामने कुछ भी नही मेरे पाप सरकारी कर्मचारी है हालांकि वे रोज 5 बजे तक काम करते है फिर भी 4 बजे घर पहुँच जाते है।"


----------

   
होनहार बेटा बनाम नालायक बेटा!
पापा: बेटा आगे का क्या प्लान है?

होनहार बेटा: बस दसवीं में 98% आ जाये फिर 2 साल की मेहनत और आईआईटी। 

उसके बाद एक साल की और मेहनत फिर आईआईएम तब 20 लाख का जॉब पैकेज .......लाइफ हैप्पी। 

नालायक बेटा: बस दसवीं पास हो जाये फिर "रोडीज" में से बाइक जीत के आऊंगा।

"स्पलिटविल्ला" में से आपकी बहु फिर "इमोशनल अत्याचार" से उसे प्रमाणित करवाऊंगा। 

अच्छी रही तो ठीक, नही तो.....

.

.


प्रोसेस रिपीट।


----------

   
होशियार बच्चा!
शिक्षक: नेपोलियन की मृत्यु किस लड़ाई में हुई?

बच्चा: उसकी आखिरी लड़ाई में। 

शिक्षक: स्वतन्त्रता की घोषणा पर कहाँ हस्ताक्षर किये गए? 

बच्चा: किताब के पृष्ठ के आखिर पे। 

शिक्षक: तलाक का मुख्य कारण क्या होता है?

बच्चा: शादी। 

शिक्षक: असफल होने का मुख्य कारण क्या है?

बच्चा: परीक्षा। 

शिक्षक: आप ब्रेकफास्ट में क्या नही खा सकते?

बच्चा: लंच और डिनर।

शिक्षक: आधे सेब की तरह क्या दिखता है?

बच्चा: दूसरा आधा सेब। 

शिक्षक: अगर आप नीले समुंद्र में लाल पत्थर फेंकेंगे तो ये कैसा हो जायेगा? 

बच्चा: यह गिला हो जायेगा। 

शिक्षक: कोई आदमी आठ दिन तक बिना सोये कैसे रह सकता है?

बच्चा: कोई समस्या नही है, वह रात को सो जायेगा।

शिक्षक: तुम एक हाथी को एक हाथ से कैसे उठा सकते हो? 

बच्चा: आपको ऐसा हाथी ही नही मिलेगा जिसका एक ही हाथ हो। 

शिक्षक: अगर एक दीवार को आठ आदमी दस घंटे में बनाते है तो चार आदमी को इस दीवार को बनाने में कितना समय लगेगा?

बच्चा: थोड़ा भी नही, क्योंकि दीवार तो पहले ही बन चुकी है।


----------

  
बचपन की मासूमियत!
एक छात्र ने परीक्षा में सारे सवालों के जवाब दिए, फिर भी फेल हो गया। 

सवाल: टीपू सुल्‍तान की मृत्‍यु किस युद्ध में हुई थी?
जवाब: उनके आखिरी युद्ध में। 

सवाल: गंगा किस स्‍टेट में बहती है?
जवाब: लिक्विड स्‍टेट में।

सवाल: महात्‍मा गांधी का जन्‍म कब हुआ था? 
जवाब: उनके जन्‍मदिन के दिन।

सवाल: 15 अगस्‍त को क्‍या होता है? 
जवाब: 15 अगस्‍त।

सवाल: 6 लोगों के बीच 8 आम कैसे बांटे?
जवाब: मैंगो शेक बनाकर।


----------


बच्‍चा और टीचर!
टीचर क्‍लास में सो गई, तो एक छोटा शरारती बच्‍चा उन्‍हें जगाने गया।

बच्‍चा बोला,"टीचर, आप क्‍लास में सो रही हैं।"

टीचर: नहीं बेटा, मैं सो नहीं रही, मैं तो आंखें बंद करके भगवान से बातें कर रही थी।

अगले दिन वह बच्‍चा क्‍लास में सो गया, तो टीचर ने उसे जगाया।

टीचर: बेटा, क्‍लास में सोते नहीं है।

बच्‍चा: नहीं मैम मैं सो नहीं रहा था। मैं तो भगवान से बातें कर रहा था।

टीचर: अच्‍छा, तो क्‍या बोले भगवान?

बच्‍चा: भगवान बोले कि उनकी तो आपसे कोई बात नहीं हुई थी।


----------

   
बेचारी मैडम!
पहली क्लास का बच्चा मैडम से,"मैं आपको कैसा लगता हूँ?"

मैडम: बहुत ही प्यारे।

बच्चा: तो फिर मैं अपने मम्मी-पापा को आपके घर कब भेजू?

मैडम: वह क्यों?

बच्चा: ताकि वो हमारी बात आगे चलाये।

मैडम: ये क्या बकवास हैं?

बच्चा: अरे मैडम ट्यूशन पढ़ाने के लिए, आप भी ना क़सम से टीवी देख देख कर खराब हो गयी हैं।


----------

   
फीस माफ़ी के लिए आवेदन
सेवा में,

प्रधानाचार्य
हाई स्कूल,पटना

सर,
बात ये हुई कि मेरे पिताजी ने मुझे फीस के लिए 500 रुपये दिए थे, 100 रुपये की फिल्म देखी, 150 की ड्रिंक, 50 रुपये का गर्लफ्रेंड का रिचार्ज करवा दिया, 200 रुपये कॉमर्स वाली मैडम की वजह से शर्त में हार गया, मैं समझता था कि उसका सिर्फ गणित वाले सर से चक्कर है, पर उसका तो आपके साथ भी चक्कर निकला।

अब आपके पास दो ही रास्ते हैं, मेरी फीस माफ़ या आपके राज़ का पर्दाफाश।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी

आपकी बेटी का बॉयफ्रेंड


----------

   
कहानी की सीख!
एक बार एक शिक्षक महोदय महान वैज्ञानिक न्यूटन के बारे में बता रहे थे।

शिक्षक: बच्चों क्या आप जानते हो एक बार न्यूटन बगीचे में बैठा हुआ था कि तभी एक सेब उसके सिर पर आकर गिरा। और तब उसने गुरुत्वाकर्षण के नियम की खोज की। तो अब आप बताओ की इस घटना से आपको क्या सिख मिलती है?

शिक्षक की बात सुन कर किसी बच्चे ने हाथ नहीं उठाया बस हमेशा की तरह पप्पू ने हाथ उठा दिया।

शिक्षक: हाँ बेटा पप्पू बताओ।

पप्पू: बात बिलकुल साफ है मास्टर जी कि अगर न्यूटन बगीचे न बैठकर कक्षा में बैठा होता, जैसे कि हम लोग बैठे हुए हैं, तो किसी चीज की भी खोज न कर पाता।


----------


चाँद पे दूसरा कदम!
एक बार विज्ञान की शिक्षिका ने पप्पू से पूछा, "पप्पू बताओ चाँद पर पहला कदम किसने रखा था?"

पप्पू: नील आर्मस्ट्रांग।

शिक्षिका: शाबाश, और दूसरा ?

पप्पू: दूसरा भी उसी ने रखा होगा मैडम, लंगड़ा थोड़े ना था वो।


----------

 
पप्पू का व्यापार!
पढाई में अच्छा ना होने की वजह से संता अपने बेटे पप्पू को हमेशा डांटता रहता था।

एक दिन जब दोनों इकट्ठे बैठ कर टीवी देख रहे थे तो अचानक से पप्पू, संता से बोला, "पापा मैं जब अपना व्यापार करूँगा तो देख लेना अच्छे-अच्छो के हाथ में कटोरा पकड़ा दूंगा"।

संता ने ये सुना और हैरानी से पप्पू से पूछा, "बेटा वो कैसे?"

बेटा मुस्कुराते हुए बोला, "गोल-गप्पे बेचकर"।


----------

   
लड़कियों के रंग!
एक बार पप्पू की गर्लफ्रेंड ने उसे फ़ोन किया और उससे बोली, " हेल्लो जानू, मैं कल तुमसे मिलने नहीं आ सकती।"

पप्पू: पर क्यों?

गर्लफ्रेंड: बस कुछ ज़रूरी काम है।

पप्पू: ओह! चलो कोई बात नहीं तो फिर मैं तुम्हारा गिफ्ट किसी और को दे देता हूं।

गर्लफ्रेंड: जानू मेरा मतलब था, मैं कल नहीं आ सकती इसीलिए क्या हम आज मिल सकते हैं?


----------

  
3 इडियट्स की सीख!
शरारती पप्पू की क्लास टीचर छुट्टी पर थीं, सो वैकल्पिक अध्यापिका के रूप में भेजी गई मैडम ने बच्चों से उनकी पसंदीदा फिल्मों के बारे में बातचीत करना शुरू किया।

चर्चा के दौरान पता चला कि लगभग सभी बच्चों को आमिर खान और करीना कपूर अभिनीत 'थ्री इडियट्स' बेहद पसंद आई थी, तो मैडम ने पूछा,"क्या तुम लोग बता सकते हो, '3 इडियट्स' से हमें क्या-क्या सीखने को मिला?"

तुरन्त ढेरों बच्चों ने जवाब देने के लिए हाथ खड़ा कर दिया।

मैडम ने एक बच्चे को इशारा किया और कहा, "हां बेटे, बताओ।"

बच्चे ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया, "मैडम, '3 इडियट्स' से हमें यह पता चलता है कि इंजानियरिंग करते हुए भी मेडिकल कॉलेज की लड़की पटाई जा सकती है।"

मैडम भौंचक्की-सी रह गई और तुरन्त बोलीं, "अच्छा, अच्छा... बैठ जाओ।"

उसके बाद दूसरे बच्चे को खड़ा किया, उसने कहा, "मैडम, '3 इडियट्स' से हमें यह शिक्षा मिलती है कि कॉलेज के पहले दिन अंडरवियर ज़रूर पहनना चाहिए।"

मैडम का पारा चढ़ गया और डपटकर बोलीं, "बकवास बंद करो और बैठ जाओ।"

अब उन्होंने तीसरे बच्चे को इशारा किया, और कहा, "तुम बताओ, और कोई बकवास मत करना।"

बच्चे ने चेहरे पर मुस्कुराहट के साथ कहा, "मैडम, '3 इडियट्स' से हमें यह पता चलता है कि डॉक्टर ही नहीं, इंजीनियर भी डिलीवरी करवा सकता है।"

अब तो मैडम आगबबूला हो गई और बोलीं, "तुम सब बेहद बदतमीज़ हो... चुपचाप बैठ जाओ।"

सभी बच्चों ने डरकर हाथ नीचे कर लिए, लेकिन शरारती पप्पू अपना हाथ ज़ोर-ज़ोर से लहराने लगा।

मैडम ने उसकी तरफ घूरकर देखा, लेकिन कोई असर न होते देखकर बोलीं, "ठीक है, लेकिन सोच लो, कोई काम की बात ही कहना।"

पप्पू ने तपाक से जवाब दिया, "मैडम, '3 इडियट्स' से हमें यह शिक्षा मिलती है कि किस करते वक्त नाक बीच में नहीं आती।"


----------


पप्पू की दबंगई!
पप्पू दबंग देखकर स्कूल में आया तो मास्टर जी बोले, "बेटा तुम्हारे सारे उत्तर तो गलत हैं नंबर दें तो कहाँ?"

पप्पू: कमाल है मास्टर जी, नंबर ही तो मांग रहे हैं, चुप चाप दे दो, वर्ना हम थप्पड़ मार के भी ले सकते हैं।

मास्टर: बदतमीज़।

पप्पू: बदतमीज़ से याद आया आपके पापा कैसे हैं?

मास्टर: निकल जा मेरी क्लास से।

पप्पू: चुपचाप से नंबर दे दो वर्ना उत्तर पुस्तिका में इतने छेद करेंगे कि कंफ्यूज हो जाओगे कि नंबर कहाँ दें और जीरो कहाँ दें।


----------

   
ज्यादा समझदारी भी अच्छी नहीं!
एक दिन पप्पू ढेर सारी चॉकलेट खा रहा था।

एक आदमी ने देखा तो उससे रहा नहीं गया और वह पप्पू को सलाह देने लगा।

आदमी: बेटा इतनी ज्यादा चॉकलेट नहीं खाते, सेहत के लिए ठीक नहीं होती।

पप्पू: एक बात बोलूं मेरे दादा जी 105 साल के हैं।

आदमी: अच्छा! क्या वो भी बहुत सारी चॉकलेट खाते हैं?

पप्पू: नहीं।

आदमी: तो, फिर?

पप्पू: उल्लू के पट्ठे, वो अपने काम से काम रखते हैं, तेरी तरह ऊँगलीबाजी नहीं करते।


----------

    
हाजिर-जवाब बच्चा!
एक आदमी अपने दोस्त के घर गया और दरवाज़े की घंटी बजाई, जो सुन कर एक बच्चा बाहर आया।

आदमी: बेटा पापा घर पर हैं?

बच्चा: अंकल पापा तो बाजार गए हैं।

आदमी: चलो बड़े भाई को बुला दो?

बच्चा: जी वो क्रिकेट खेलने गया है।

आदमी: बेटा मम्मी तो होंगी घर पर?

बच्चा: जी वो किट्टी पार्टी में गई हैं।

आदमी गुस्से में, "तो बेटा तुम घर पर क्यों बैठे हुए हो तुम भी कहीं चले जाओ।"

बच्चा: जी मैं भी तो अपने दोस्त के घर आया हुआ हूं।


----------

   
अजनबी से बात करना ठीक नहीं!
पप्पू ट्रेन में सफ़र कर रहा था।

उसने सामने खड़े आदमी की जेब में हाथ डाला।

आदमी ने ये देखा और गुस्से से चिल्लाकर बोला।

आदमी: तुमने मेरी जेब में हाथ क्यों डाला?

पप्पू मुस्कुराते हुए बोला, "मुझे माचिस चाहिए थी, इसलिए।"

आदमी हैरानी से, "अबे, पर तुम मुझसे मांग भी तो सकते थे ना?"

पप्पू: पर मैं अजनबियों से बात नहीं करता।


----------


पप्पू का शिक्षक-प्रेम!
एक बार एक शिक्षक ने क्लास में बच्चों से एक सवाल पूछा।

शिक्षक: बच्चों अगर तुम देखो की तुम्हारे स्कूल के सामने एक बदमाश बम रख कर जा रहा है तो तुम क्या करोगे?

शिक्षक का सवाल सुन कर बच्चे एक दूसरे का मुंह ताकने लगे पर जवाब किसी को नहीं सुझा, तो आखिरी बेंच पर शिक्षक ने देखा की पप्पू बैठा हुआ मुस्कुरा रहा है। पप्पू को मुस्कुराता हुआ देख कर शिक्षक ने उस से पूछा, "बेटा पप्पू क्या तुम जवाब जानते हो"?

पप्पू: जी मास्टरजी जवाब तो मेरे पास है पर मैं बताउंगा नहीं क्योंकि उसके बाद आप मुझे मारोगे।

शिक्षक: नहीं बेटा नहीं मारूंगा तुम जवाब बताओ।

पप्पू: मास्टरजी पहले तो हम कुछ देर इंतज़ार करेंगे कि पुलिस आकर उस बम को निष्क्रिया कर दे और अगर पुलिस नहीं आयी तो हम चुपचाप वह बम लाकर स्टाफ रूम में रख देंगे।


----------

   
देशभक्त पप्पू!
अध्यापक: बच्चो कसम खाओ कि कभी, शराब, सिगरेट नहीं पियोगे, नॉन व़ेज नहीं खाओगे।

बच्चे: नहीं खायेंगे सर जी।

अध्यापक: कभी लड़कियां नहीं छेड़ोगे।

बच्चे: ठीक है सर।

अध्यापक: कभी जुआ नहीं खेलोगे।

बच्चे: जी सर।

अध्यापक: देश के लिए जान भी दे दोगे।

पप्पू: दे ही देंगे सर, भला ऐसी जान का करेंगे भी क्या?


----------

   
अच्छा शिक्षक!
एक बार गणित के शिक्षक ने पप्पू को बुलाया और अपनी कापी चेक कराने के लिए कहा।

पप्पू: मास्टरजी मैंने तो होमवर्क किया ही नहीं।

मास्टर: तुम्हारा तो पढने में मन ही नहीं लगता, अब बताओ की होमवर्क ना करने का तुम्हारे पास क्या बहाना है?

पप्पू: जी मास्टर जी वो कल आपने जो गुणा-भाग समझाया था ना वो मुझे समझ नहीं आया।

मास्टर: नालायक तुम्हे वह सामान्य सा गुणा-भाग समझ नहीं आया, मैं जब तुम्हारी उम्र का था तो 15-15 अंकों वाला गुणा-भाग चुटकियों में कर देता था।

पप्पू: कर देते होंगे मास्टर जी, क्योंकि आपको पक्का कोई अच्छा टीचर पढाता होगे।


----------

  
मैडम भी लाइन मारती है!
एक बार पप्पू अपनी क्लास टीचर के पास गया और उस से बोला, "मैडम जी एक बात पूछूं?"

शिक्षिका: हाँ बेटा पप्पू बोलो।

पप्पू: मैडम जी मैं आपको कैसा लगता हूँ?

शिक्षिका ने मुस्कुराते हुए पप्पू के गाल को थपथपाया और बोली, "बहुत ही प्यारे लगते हो"।

यह सून पप्पू ने अपने साथ बैठे लड़के को कोहनी मारी और बोला, "बोला था ना लाइन मारती है"।


----------


पप्पू से सवाल-जवाब अच्छे नहीं!
एक बार पप्पू अपने पड़ोस में जाता है और दरवाज़े की घंटी बजाता है जो सुन कर उस घर में रहने वाली महिला दरवाज़ा खोलती है।

महिला: अरे बेटा पप्पू क्या हुआ?

पप्पू: आंटी मम्मी ने एक कटोरी चीनी मंगाई है।

महिला मुस्कुरा कर पप्पू का सिर सहलाते हुए कहती है, "अच्छा और क्या कहा है तेरी मम्मी ने?"

पप्पू: कहा है कि अगर वो डायन न दे तो सामने वाली चुड़ैल से ले आना।


----------

    
सच्चा प्यार किससे?
एक बार पप्पू, गोलू और राजू इस बारे में चर्चा कर रहे होते हैं कि किस देश के आदमी कैसे होते है!

पहले पप्पू ने जापानी लोगों के बारे में बताया;

पप्पू: इनकी एक पत्नी और एक गर्लफ्रेंड होती है, लेकिन वो अपनी पत्नी को ज्यादा पसंद करते है!

उसके बाद गोलू ने अमेरिकी लोगों के बारे में बताया;

गोलू: इनकी एक पत्नी और एक गर्लफेंड्र होती है, लेकिन ये अपनी गर्लफेंड्र को ज्यादा प्यार करते है;

सबसे अंत में राजू की बारी आई तो वो कुछ देर सोच में पड़ गया और कुछ देर के बाद भारतीयों के बारे में बोलना शुरू किया;

राजू: इनकी एक पत्नी और चार गर्लफेंड्र होती है, लेकिन ये अपने घर की नौकरानी से ज्यादा प्यार करते हैं!


----------

   
मास्टरजी का रक्त प्रवाह!
एक बार एक शिक्षक कक्षा में बच्चों को रक्त प्रवाह (ब्लड प्रेशर ) के बारे में पढ़ा रहा होता है!

शिक्षक: बच्चों जैसा की आप जानते हैं की अगर मैं अपने सिर के बल खड़ा हो जाऊँगा तो मेरा रक्त मेरे सिर की ओर तेजी से प्रवाहित होने लगेगा जिसकी वजह से मेरा चेहरा लाल पड़ जाएगा!

बच्चे: जी मास्टर जी!

शिक्षक: तो फिर बच्चों एक बात बताओ अभी जैसे मैं अपने पैरो पर खड़ा हुआ हूँ तो रक्त का प्रवाह मेरे पैरों की तरफ क्यों नहीं हो रहा!

शिक्षक की बात सुन कर एक बच्चा उठता है और कहता है;

बच्चा: मास्टरजी मैं बताऊँ?

शिक्षक: हाँ बताओ बेटा!

बच्चा: मास्टरजी क्योंकि आपके सिर की तरह आपके पैर खाली नहीं हैं!


----------

 
मनोविज्ञान का प्रयोग!
एक बार एक शिक्षक कक्षा में बच्चों को मनोविज्ञान का प्रयोग करके दिखा रहा होता है! प्रयोग की शुरुआत मैं वह एक चूहा लेता है और उसके एक तरफ केक और दूसरी तरफ एक चुहिया रख देता है, और बच्चों से कहता है;

शिक्षक: बच्चों अब ध्यान से देखिएगा की यह चूहा केक की तरफ जाता है या चुहिया की तरफ?

जैसे ही शिक्षक की बात ख़त्म होती है चूहा केक की तरफ जाता है और केक खा लेता है, उसके बाद शिक्षक फिर वही प्रयोग दोहराता है और केक की जगह रोटी रख देता है!

इस बार फिर चूहा चुहिया की तरफ ना जा कर रोटी की तरफ जाता है और रोटी खाने लगता है, यह देख शिक्षक बच्चों से कहता है;

शिक्षक: देखा बच्चों दोनों बार चूहा खाने की तरफ गया, तो इसका यह अभिप्राय है कि भूख ही सबसे बड़ी अभिप्रेरणा होती है!

शिक्षक की बात सुन कक्षा में बैठा हुआ एक बच्चा उठा और शिक्षक से बोला;

बच्चा: मास्टर जी आप ने दो बार खाने की चीजें बदली और दोनों ही बार चूहा खाने तरफ गया, एक बार ज़रा चुहिया भी बदल कर देख लेते!


----------


समुद्र में नीबू का पेड़!
एक बार अध्यापिका नें कक्षा में बच्चों से एक सवाल पूछा;

अध्यापिका: बच्चों अगर समुद्र में नींबू का पेड़ हो तो तुम नींबू कैसे तोड़ोगे?

अध्यापिका का सवाल सुन कर इस से पहले कि कोई और कुछ कहता पप्पू ने हाथ उठा दिया, जिसे देख अध्यापिका ने उस से कहा;

अध्यापिका: हाँ बेटा पप्पू बताओ?

पप्पू: मैडम जी मैं चिडि़या बनकर नींबू तोड़ लाऊँगा!

पप्पू का जवाब सुन अध्यापिका गुस्से में बोली; 

अध्यापिका: नालायक, तुझे चिडि़या क्या तेरा बाप बनाएगा?

अध्यापिका की बात सुन पप्पू ने भी तपाक से जवाब दिया;

पप्पू: मैडम जी तो क्या समुद्र में नीबू का पेड़ आपका बाप लगाएगा?


----------

  
प्यार और इश्क में फर्क!
एक बार शिक्षिका ने क्लास में बच्चों कि समझदारी जानने के लिए पूछा;

शिक्षिका: बताओ बच्चो,कि इश्क और प्यार में क्या फर्क है?

इस से पहले कि कोई बच्चा कुछ बोलता पप्पू खड़ा हुआ और बोला;

पप्पू: मैडम प्यार वो है जो आप अपनी बेटी से करती हो और इश्क वो है जो हम आपकी बेटी से करते है!


----------

  
बहादुर पप्पू!
एक बार क्लास में मैडम ने बच्चों से एक सवाल पूछा;

मैडम: तुम सब में से सबसे बहादुर कौन है बच्चों?

मैडम का सवाल सुन के सारे बच्चों ने हाथ उठा दिए, यह देख मैडम ने एक और सवाल पूछा;

मैडम: अच्छा बताओ, अगर तुम्हारे स्कूल के सामने कोई बम रख दे तो तुम क्या करोगे?

मैडम का सवाल सुन पप्पू ने हाथ उठाया और बोला;

पप्पू: मैडम जी एक, दो मिनट देखेंगे अगर कोई ले जाता है तो ठीक है, नहीं तो स्टाफरूम में रख देंगे!


----------

  
सयाने बच्चे!
आज कल के बच्चे भी बड़े सयाने (समझदार) होते हैं!

मैडम: एक दफा का ज़िक्र था अकबर बादशाह अपने बिस्तर पर लेटा था कि... 

(एक लड़का उनके बीच में आ जाता है)

बच्चा: मिस, राहुल मेरे लंच बॉक्स को खोल रहा है!

मैडम: राहुल, मैं थप्पड़ मार दूंगी, बैठ जाओ!

मैडम: अच्छा बच्चों मैं कहा थी?

बच्चे: अकबर के बिस्तर पर!


----------


अच्छी आदतें!
एक बार एक शिक्षिका ने बच्चों को अच्छी आदतों के बारे में बताते हुए बच्चों से एक सवाल पूछा;

शिक्षिका: अगर गलती से तुम्हारा पैर एक वृद्ध महिला पर पड़ गया तो क्या करोगे?

बच्चा: जी मैं माफ़ी मांगूंगा!

शिक्षिका: बहुत अच्छा, अगर वह खुश होकर तुम्हें चाकलेट दे तो फिर तुम क्या करोगे?

बच्चा: जी दूसरे पैर पर चढ़ जाऊंगा ताकि एक और चाकलेट मिले!


----------

  
ब्याज का पैसा!
एक बार शिक्षक ने कक्षा में पप्पू से एक सवाल पूछा;

शिक्षक: अगर तुम्हारे पिता 10% के हिसाब से मुझसे 50,000 रुपए का लोन लेते हैं तो बताओ एक वर्ष बाद वह कितना पैसा वापस करेंगे?

पप्पू: एक भी नहीं!

शिक्षक: तुम गणित नहीं जानते क्या?

पप्पू: मास्टरजी मैं तो गणित जानता हूँ पर आप मेरे पापा को नहीं जानते!


----------

  
सजा का हक!
शिक्षक के कक्षा में घुसते ही एक बच्चा बोला;

बच्चा: सर क्या आप मुझे उस काम की सजा देंगे जो मैंने किया ही नहीं?

शिक्षक: बिल्कुल नहीं, मैं ऐसा क्यों करूंगा रामू!

रामू: सर, मैं आज फिर होमवर्क करना भूल गया हूं!


----------

   
कर भला हो बुरा!
एक बार एक एक बुज़ुर्ग आदमी ने देखा कि एक बच्चा घर के दरवाज़े पर लगी घंटी बजाने कि कोशिश कर रहा होता परन्तु उसका हाथ घंटी तक नहीं पहुँच पा रहा होता है, यह देख बुज़ुर्ग आदमी उस बच्चे के पास जाता है और उस से पूछता है;

बुज़ुर्ग: क्या हुआ बेटा?

बच्चा: कुछ नहीं मुझे यह घंटी बजानी है पर मेरा हाथ नहीं पहुँच रहा तो क्या आप मेरे लिए ये घंटी बजा देंगे!

यह सुन बूढ़ा आदमी तुरंत हाँ कर देता है और घंटी बजा देता है, और घंटी बजाने के बाद बच्चे से पूछता है;

बुज़ुर्ग: और बताओ बेटा क्या मै तुम्हारे लिए कुछ और कर सकता हूँ?

यह सुन बच्चा जवाब देता है;

बच्चा: हाँ अब मेरे साथ भाग बुढ्ढे वरना तू भी पिटेगा अगर मकान का मालिक बाहर आ गया तो!


----------


घर पर कोई है क्या?
एक बार एक आदमी ने एक घर की घंटी बजाई तो एक बच्चा बाहर आया

आदमी: बेटा पापा घर पर हैं?

बच्चा: अंकल, पापा तो बाज़ार गए हैं!

आदमी: चलो बड़े भाई को बुला दो!

बच्चा: वह क्रिकेट खेलने गया है!

आदमी: बेटा, मम्मी तो होंगी घर पर?

बच्चा: जी वह किट्टी पार्टी में गई हैं!

आदमी गुस्से में आकर बोला: तो बेटा तुम घर पर क्यों बैठे हुए हो? तुम भी कहीं चले जाओ!

बच्चा: जी मैं भी तो अपने दोस्त के घर आया हुआ हूं!


----------

    
पप्पू की हाज़िर जवाबी!
एक बार एक शिक्षिका कक्षा में बच्चों से सवाल पूछती है;

शिक्षिका: खाली स्थान की पूर्ति करो, 900 चूहे खा कर बिल्ली ________ चली?

पप्पू: 900 चूहे खा कर बिल्ली धीरे-धीरे चली!

शिक्षिका (गुस्से से): खड़े हो जाओ, मजाक करते हो!

पप्पू: मैडम जी ये भी मैंने आपका दिल रखने के लिए कह दिया वरना 900 चूहे खा कर बिल्ली तो क्या बिल्ली का बाप भी नहीं चल सकता!


----------

   
तुम लेट क्यों आए ?
एक बार पप्पू अपने स्कूल पहुँचने में लेट हो जाता है तो अध्यापक उसे डांटते हुए देर से आने का कारण पूछता है;

अध्यापक: तुम लेट क्यों आए हो?

पप्पू: मम्मी पापा लड़ रहे थे!

अध्यापक: वो लड़ रहे थे तो तुम क्यों लेट आये?

पप्पू: मेरा एक जूता मम्मी के पास था और दूसरा पापा के पास!


----------

   
पहले पिताजी पीट रहे थे!
एक बच्चा दौड़ा-दौड़ा पुलिस स्टेशन गया और बोला, "इंस्पेक्टर साहब, जल्दी चलिए, एक चोर एक घंटे से मेरे पिताजी को पीट रहा है!"

बच्चे की बात सुन इंस्पेक्टर बड़ा हैरान हुआ और कड़क आवाज़ में बोला," जब चोर तुम्हारे पिता को एक घंटे से पीट रहा था तो क्या तुम इतनी देर से खड़े तमाशा देख रहे थे?"

बच्चा घबराते हुए जवाब देता है, " नहीं अंकल इससे पहले पिताजी चोर को पीट रहे थे!"


----------


दाल में मक्खी!
पप्पू - पापा आपकी दाल! 

पिता- पप्पू, कितनी बार कहा है, कि खाना खाते वक्त बीच में मत बोला करो!

पप्पू डर के मारे चुप हो जाता है और खाना खाने लगता है, खाना खाने के बाद पप्पू के पिता जी उससे पूछते हैं!

पिता - "हाँ पप्पू, अब बताओ उस वक़्त तुम क्या कह रहे थे?"

पप्पू- "पापा, मैं तो केवल इतना कह रहा था आपकी दाल में मक्खी गिर गयी है!"


----------

  
काबिल कौन
एक दिन बच्चा अपने पिता से सवाल करता है," पापा हम दोनों में से ज्‍यादा काबिल कौन है मै या आप?"

यह सुन पिता जवाब देते हैं, " मैं हूँ , क्‍योंकि एक तो मैं तुम्‍हारा बाप हूं और दूसरा तुम से उम्र में बड़ा हूं और मेरा तर्जुबा भी तुम से ज्‍यादा है!" 

बच्चा कुछ देर सोचने के बाद फिर एक सवाल पूछता है," फिर तो आपको पता ही होगा कि अमे‍रिका की खोज किसने की थी?" 

पिता जवाब देता है ," हां मुझे पता है, कोलंबस ने की थी!" 

यह सुन बच्चा तुरंत जवाब देता है," कोलम्बस के बाप ने क्यों नही की, उसका तजुर्बा भी तो कोलम्बस से ज्यादा ही रहा होगा ना पिताजी?"


----------

  
नि: शुल्क सवारी
एक महिला और उसका बेटा बस स्टॉप पर खड़े बस का इंतज़ार कर रहे थे और माँ अपने बेटे से कहती है," बेटा अगर बस में कंडक्टर तुमसे तुम्हारी उम्र पूछे तो कहना कि तुम पांच साल के हो! इससे तुम्हारा किराया माफ़ हो जाएगा और तुम बस में निशुल्क सफ़र कर सकोगे!"!"

जैसे ही वह बस में चढ़ते हैं, कंडक्टर बच्चे से उसकी उम्र पूछता है!!"

यह सुन बच्चा बड़े ही गर्व से जवाब देता है, "मैं 5 साल का हूँ "!!"

क्योंकि कंडक्टर का भी उतनी ही उम्र का एक बेटा होता है इसीलिए वह मुस्कुरा कर बच्चे से पूछता है, " और आप 6 साल के कब हो जाओगे?"!"

बच्चा बड़ी मासूमियत से जवाब देता है, "जैसे ही मैं इस बस से उतरूंगा!"


----------

   
रोता पप्पू
एक बार छह वर्षीय पप्पू जोर-जोर से रोता, सीढियों से नीचे उतरता हुआ आ रहा था!

यह देख उसकी माँ ने पूछा, "क्या बात है?"

सिसकियाँ भरते हुए पप्पू बोला, "पिताजी ऊपर दीवार पर एक चित्र लटकाने के लिए कील लगा रहे थे, तो गलती से उन्होंने हथौड़ा अपने ही अंगूठे पर मार लिया!"

पप्पू को चुप कराते हुए उसकी माँ बोली, " बेटा यह कोई बहुत गंभीर या घबराने वाली बात तो नहीं है, तो चलो अब ज़रा बहादुर बच्चों जैसे हँस कर दिखाओ!

पप्पू रोते हुए जवाब देता है, " ऊपर वही तो किया था!"


----------


परिवार के साथ छुट्टियां
एक बार एक स्कूल में प्राचार्य के कार्यालय में टेलीफोन बजता है!

फ़ोन उठाकर प्राचार्य कहते हैं "नमस्ते, मै शिशु विद्यालय से बोल रहा हूँ!" 

तभी दूसरी ओर से आवाज़ आती है "नमस्कार राजू अगले सप्ताह स्कूल नहीं आ सकेगा!

प्राचार्य जवाब देते हैं, ठीक है पर क्या मैं छुट्टी लेने का कारण जान सकता हूँ?

दूसरी तरफ से जवाब आता है, "क्योंकि हम सारे परिवार के साथ छुट्टियां मनाने जा रहे हैं!"

जवाब में प्राचार्य कहते हैं, ठीक है पर क्या मैं जान सकता हूँ कि आप कौन बोल रहे हैं?

जी, मैं अपना पिता बोल रहा हूँ !


----------

 
कुत्ते का कर्तव्य
एक बार एक नर्सरी स्कूल का शिक्षक स्कूल बस में बच्चों को घर छोड़ने जा रहा था, कि तभी अचानक पास से एक अग्निशमन वाहन बड़ी तेजी से निकला, जिसमे कि एक कुत्ता आगे वाली सीट पर बैठा था जिसे देख बच्चों में चर्चा छिड गयी कि अग्निशमन गाडी में कुत्ता क्या करता होगा!

पहला बच्चा बोला, "वे उसे भीड़ को पीछे रखने के लिए इस्तेमाल करते होंगे!"

तभी दूसरा बच्चा बोला नहीं वे उसे सिर्फ अच्छे भाग्य कि कामना हेतु रखते होंगे!

तभी इन दोनों बच्चों कि बात सुन कर एक तीसरा बच्चा बोला, मुझे तो लगता है कि वे इसे आग बुझाने के लिए नल ढूँढने के काम में लाते होंगे!


----------

   
युद्ध और शांति!
एक सामाजिक अध्ययन का अध्यापक कक्षा में 'युद्ध और शांति' विषय पर पढ़ा रहा था, जब चैप्टर समाप्त हुआ तो अध्यापक ने बच्चों से पूछा:

तो तुम में से कितने लोग हैं जो युद्ध का विरोध करते हैं? 

सभी ने बिना किसी झिझक के हाथ उठा दिए! 

अध्यापक ने फिर पूछा आप में से कोई मुझे कारण देकर बता सकता है कि आप युद्ध का विरोध क्यों करते हैं?

कक्षा में सबसे पीछे बैठे हुए बच्चों ने सुस्ताते हुए अपने हाथ ऊपर उठाये और उन में से पप्पू खड़ा हो गया!

पप्पू ने कहा सर मैं बताता हूँ: 

मैं युद्ध पसंद नही करता क्योंकि युद्ध से इतिहास बनते है और मुझे इतिहास (विषय) बिल्कुल पसंद नही!


----------

   
होशियार बच्चा!
नेपोलियन की मृत्यु किस लड़ाई में हुई?

उसकी आखिरी लड़ाई में! 

स्वतन्त्रता की घोषणा पर कहाँ हस्ताक्षर किये गए? 

किताब के पृष्ठ के आखिर में! 

तलाक का मुख्य कारण क्या होता है?

शादी!

असफल होने का मुख्य कारण क्या है?

परीक्षा! 

आप ब्रेकफास्ट में क्या नही खा सकते?

लंच और डिनर!

आधे सेब की तरह क्या दिखता है?

दूसरा आधा सेब!

अगर आप नीले समुंद्र में लाल पत्थर फेंकेंगे तो ये कैसा हो जायेगा? 

यह गिला हो जायेगा! 

कोई आदमी आठ दिन तक बिना सोये कैसे रह सकता है?

कोई समस्या नही है, वह रात को सो जायेगा!

तुम एक हाथी को एक हाथ से कैसे उठा सकते हो? 

आपको ऐसा हाथी ही नही मिलेगा जिसका एक ही हाथ हो! 

अगर एक दीवार को आठ आदमी दस घंटे में बनाते है तो चार आदमी को इस दीवार को बनाने में कितना समय लगेगा?

थोड़ा भी नही, क्योंकि दीवार तो पहले ही बन चुकी है!


----------


घर खाली है!
एक आदमी अपने दोस्त के घर गया

डोरबेल बजाई ..

डिंग डोंग.. टिंग टोंग

एक बच्चा बाहर आया

आदमी: बेटा पापा घर पर हैं?

बच्चा: अंकल पापा तो बाज़ार गए हैं!

आदमी: चलो बड़े भाई को बुला दो?

बच्चा: जी वो क्रिकेट खेलने गया है!

आदमी: बेटा मम्मी तो होंगी घर पर?

बच्चा: जी वो किट्टी पार्टी में गई हैं!

आदमी गुस्से में: तो बेटा तुम घर पर क्यों बैठे हुए हो तुम भी कहीं चले जाओ

बच्चा: जी मैं भी तो अपने दोस्त के घर आया हुआ हूँ!


----------

  
होनहार बेटा!
होनहार बेटा बनाम नालायक बेटा:

पापा: बेटा आगे का क्या प्लान है?

होनहार बेटा: बस दसवीं में 98% आ जाये फिर 2 साल की मेहनत और आईआईटी!

उसके बाद एक साल की और मेहनत फिर आईआईएम!

तब 20 लाख का जॉब पैकेज .......लाइफ हैप्पी! 

नालायक बेटा: बस दसवीं पास हो जाये फिर रोडीज में से बाइक जीत के आऊंगा!

स्पलिटविल्ला में से आपकी बहु फिर इमोशनल अत्याचार से उसे प्रमाणित करवाऊंगा! 

अच्छी रही तो ठीक नही तो.....

.

.


प्रोसेस रिपीट!


----------

   
फेसबुक!
टीचर: जब तुम बड़े हो जाओगे तो क्या करोगे?

स्टुडेंट: फसबुकिंग! 

टीचर: मेरा कहने का मतलब है तुम क्या बनोगे?

स्टुडेंट: फेसबुक पृष्ठों का व्यवस्थापक!

टीचर: हे भगवान ....मेरा मतलब है तुम बड़े होकर क्या प्राप्त करना चाहते हो?

स्टुडेंट: फेसबुक व्यस्थापक अधिकार! 

टीचर: अरे बेवकूफ! मेरा मतलब है तुम अपने माता पिता के लिए क्या करोगे?

स्टुडेंट: मैं उनके लिए फेसबुक पर अलग से 'मेरे माता पिता' के नाम से एक पृष्ठ खोलूँगा!

टीचर: नालायक ....तुम्हारे मम्मी पापा तुमसे क्या चाहते हैं?

स्टुडेंट: मेरा फेसबुक पासवर्ड!

टीचर: हे भगवान! तुम्हारे जीवन का उद्देश्य क्या है?

स्टुडेंट: फेसबुक .....................पर कभी भी आपकी किताबों को फेस न करना!


----------

  
पप्पू का गणित!
पप्पू गणित में काफी कमज़ोर था, अतः उसके माता-पिता ने उसका नामांकन एक कॉन्वेंट स्कूल में करवा दिया!

अपने नए स्कूल से पहले दिन वापस आते ही वह सीधा अपने कमरे में जाकर गणित के गृहकार्य करने लगा रात का खाना खाने के बाद वह फिर ऊपर अपने कमरे में जा कर जोड़ घटाव करने लगा!

उसकी माँ उसके कमरे में जाती है और कहती है, तुम अपमे होमवर्क के लिए अत्यधिक कठिन परिश्रम कर रहे हो!

हाँ पप्पू उत्तर देता है, आज जब मैंने उस आदमी को जोड़ के चिन्ह के सामने झुकते देखा तो, मैंने समझा कि वह किसी को मूर्ख नहीं बना रहा है!


----------


लाइट नही थी!
टीचर: होमवर्क क्यों नही किया?

पप्पू: सर, लाइट नही थी!

टीचर: तो मोमबत्ती जला लेते! 

पप्पू: सर, माचिस नही थी!

टीचर: माचिस क्यों नही थी! 

पप्पू: पूजाघर में रखी थी!

टीचर: तो वहां से ले आते! 

पप्पू: नहाया हुआ नही था! 

टीचर: नहाये क्यों नही थे! 

पप्पू: पानी नही था सर!

टीचर: पानी क्यों नही था?

पप्पू: सर मोटर नही चल रही थी!

टीचर: उल्लू के पट्ठे, मोटर क्यों नहीं चल रही थी?

पप्पू: सर बताया तो था, लाइट नही थी!


----------

   
भगवान मुझे बचा ले!
एक बार पप्पू रेलवे ट्रैक से जा रहा था अचानक से उसका पैर ट्रैक से जुड़े ज्वाइंट में फंस गया वह इसे निकालने की कोशिश कर रहा था पर वह निकल ही नही पा रहा था तभी उसे ट्रेन के आने की आवाज सुनाई दी जिसे सुनकर उसके होश उड़ गए!



जब उसे कोई रास्ता नजर नहीं आया तो वह भगवान से प्रार्थना करने लगा हे भगवान! मेरा पैर बाहर निकाल दे इसके बाद मैं अपनी सारी बुराईयाँ छोड़ दूंगा!

पर कुछ नहीं हुआ उसका पैर वैसे ही फंसा रहा उसने फिर प्रार्थना की हे भगवान! मैं गाली गलौच देना और भी सारी बुराईयाँ छोड़ दूंगा मुझे बचा ले!

फिर भी कुछ नहीं हुआ ट्रेन उससे कुछ ही दूरी पर थी वह लगातार पैर निकालने की कोशिश में लगा था पर कुछ नहीं हो पा रहा था उसने अंतिम बार भगवान से प्रार्थना की!

हे भगवान! एक बार मेरा पैर निकाल दे मैं सारी बुराईयाँ, गाली गलौच देना और लड़कियों को देखना सब कुछ छोड़ दूंगा!

तब तक ट्रेन बिलकुल पास पहुँच चुकी थी थोड़ी कोशिश करने के बाद अचानक उसका पाँव निकल गया और वह सीधा जाकर जमीन पर गया अपने कपड़ों से धूल झाड़ते हुए उसने आसमान की तरफ देखा और हल्का सा धन्यवाद करके कहा वैसे इस बार मैं अपनी कोशिश से बचा हूँ!


----------

   
स्वर्ग जाने का रास्ता!
एक बच्चा बाजार के बाहर अपनी माँ के आने का इन्तजार कर रहा था, तभी वहां से एक बाबाजी कुछ इधर उधर देखते हुए बच्चे की तरफ आ रहे थे उसने बच्चे को देखा तो यकायक पूछ लिया बेटा, जरा मुझे ये तो बताओ की ये पोस्ट ऑफिस कहाँ है?

बच्चे ने कहा बाबा यहाँ से सीधे आगे चले जाईये, आगे से अपने सीधे हाथ की तरफ मूढ़ जाईये, वहां तीन चार सीढ़ियाँ नजर आएँगी बस उनको पार कर लेना वहीँ सामने पोस्ट ऑफिस है!

बाबा ने बच्चे का धन्यवाद किया और कहा कि मैं एक बहुत बड़े मठ का बाबा हूँ कभी हमारे मठ में आना मैं तुम्हें स्वर्ग जाने का रास्ता दिखाऊंगा!

बच्चे ने मजाकिया लहजे में कहा बाबा जाईये जाईये अभी पोस्ट ऑफिस का रास्ता तो पता नहीं स्वर्ग का रास्ता क्या खाक दिखाएंगे!
बच्चे   
पानी दे दो न!
पत्नी मायके गई तो तीन वर्षीय बच्चे को पति की देखभाल में छोड़ गई रात हुई तो पति ने आराम से सोने के लिए बच्चे को अलग चारपाई पर लिटा दिया घंटे भर बाद बच्चा कुनमुनाया पापा, पापा प्यास लगी है चुपचाप सो जाओ, सुबह पी लेना पिता ने नींद में ही जवाब दिया!

थोड़ी देर बाद फिर बच्चे की आवाज आई पापा प्यास लगी है एक गिलास पानी दे दो न!

उसने डांटते हुए कहा चुपचाप सो जा नहीं तो आकर एक थप्पड़ मारूंगा!

कुछ देर बाद बच्चा फिर कुनमुनाया पापा!

क्या है?

बच्चा: थप्पड़ मारने आओ तो एक गिलास पानी भी ले आना!


----------


इसमें कौन सी बड़ी बात है!
तीन दोस्त आपस में बात कर रहे थे!

पहला: मेरा लड़का तो स्वीमिंग पुल में मछली की तरह तैरता है!

दूसरा: यह तो कुछ भी नहीं मेरा लड़का तो स्वीमिंग पुल में हवा की तरह तैरता है!

तीसरे ने कहा इसमें कौन सी बड़ी बात है मेरा लड़का तो दोनों से तेज है!

पहला और दूसरा वो कैसे?

क्योंकि मेरा बेटा तो बिस्तर में ही स्वीमिंग पुल बनाता है!


----------

   
होशियार पप्पू!
एक पहली कक्षा की अध्यापिका अपने एक स्टुडेंट से बहुत परेशान थी, अध्यापिका ने उससे पूछा पप्पू तुम्हारी परेशानी क्या है?

पप्पू ने कहा मैडम मैं पढ़ाई में इतना अच्छा हूँ फिर भी आपने मुझे पहली कक्षा में ही रखा है जबकि मेरी बहन मुझसे पढ़ाई में ज्यादा अच्छी नहीं है फिर भी वो तीसरी कक्षा में है, मैं चाहता हूँ की आप मुझे भी तीसरी कक्षा में बिठाएं अध्यापिका ने कहा ये मेरे बस में नहीं है चलो प्रिंसिपल से बात करते हैं, अध्यापिका प्रिंसिपल के ऑफिस में गयी और पप्पू को बाहर रुकने को कहा प्रिंसिपल ने पूछा क्या बात है, अध्यापिका ने प्रिंसिपल से सारी बात कही प्रिंसिपल ने कहा ठीक है पहले मैं उससे कुछ प्रश्न पूछुंगा अगर उसने उसके जवाब दे दिए तो फिर सोचेंगे उसे किस कक्षा में बिठाना है प्रिंसिपल ने कहा आप उसे भीतर बुलाईये पप्पू अन्दर आया तो प्रिंसिपल ने उससे पहला प्रश्न पूछा

3 x 3 कितने होते हैं? पप्पू ने झट से कहा 9!

6 x 6 कितना होता है? 36 पप्पू ने जवाब दिया!

प्रिंसिपल ने लगभग तीसरी कक्षा के स्तर के बहुत से प्रश्न उसे पूछे और पप्पू ने झट से सभी के जवाब दिए प्रिंसिपल ने कहा जिस तरीके से पप्पू ने जवाब दिए है उस हिसाब से तो इसे तीसरी कक्षा में होना चाहिए!

ऐसा सुनकर अध्यापिका ने कहा सर मैं भी इससे कुछ प्रश्न पूछना चाहती हूँ, प्रिंसिपल और पप्पू दोनों राजी हो गए!

अध्यापिका ने पहला प्रश्न पूछा वो कौन सी चीज है जो गाए के पास चार है मेरे पास दो है? पप्पू ने थोड़ा सोचा और कहा 'पाँव'!

अध्यापिका तुम्हारी पैंट के अन्दर ऐसी क्या चीज है जो मेरे पास नहीं है? प्रिंसिपल इस प्रश्न को सुनकर थोड़ा सकपका गया वो कुछ कहना चाहता था इससे पहले ही पप्पू ने जवाब दे दिया 'जेब'

अध्यापिका ने फिर पूछा ऐसा कौन सा शब्द है जो 'F' से शुरू होता है 'K' पर ख़त्म होता है जिसका नाम सुनकर आदमी उत्तेजित हो जाता है पप्पू ने झट से कहा 'Firetruck' प्रिंसिपल ने राहत की सांस ली और अध्यापिका से कहा पप्पू को 5वी कक्षा में बिठा दो इन तीन प्रश्नों के जवाब तो मुझे भी नहीं आते थे!


----------

 
शरारती बच्चे!
एक दम्पति के दो बच्चे थे एक 8 साल का दूसरा 10 साल का जो काफी शरारती थे वे हमेशा कोई न कोई शरारत करते और मुसीबत में फंस जाते उनकी माँ उनकी शरारतों से बहुत परेशान थी, अगर उनके आस पड़ोस में किसी भी तरह की कोई शरारत या कोई गड़बड़ होती तो उनके माता-पिता को लगता कि ये सब उन दोनों ने ही किया है!

उन की माँ ने अपने कस्बे में किसी बाबा के बारे में सुना जो बच्चों को अनुशासन सिखाते थे, वो बाबा के पास गयी और अपने बच्चो के बारे में बताया बाबा ने कहा बेटी कोई बात नहीं इस उम्र में बच्चो का यही हाल होता है फिर मैं कोशिश करता हूँ!

बाबा ने कहा कि मैं तुम्हारे दोनों बच्चों को एक एक कर मिलूँगा इसलिए पहले तुम अपने छोटे बच्चे को मेरे पास भेजना!

अगले दिन सुबह ही उनकी माँ ने छोटे वाले बच्चे को बाबा के पास भेज दिया और बड़े वाले को दोपहर में भेजना था, जब बच्चा बाबा के सामने पहुंचा तो उसने देखा बाबा बहुत ही रौबदार और लम्बी लम्बी दाड़ी वाले हैं, बाबा ने बच्चे को बहुत प्यार से अपने पास बुलाया और एक कर्कश आवाज में पूछा बताओ भगवान कहाँ है?

ये सुनकर बच्चे का मुहं खुला का खुला ही रह गया और आँखें बड़ी बड़ी हो गयी!

बाबा ने फिर पूछा बताओ भगवान कहाँ है?

बच्चे ने फिर से उसकी बात का कोई उतर नहीं दिया अब बाबा ने और ज्यादा रौब से बच्चे की तरफ ऊँगली करते हुए पूछा बताओ भगवान कहाँ है?

बच्चा जोर से चिल्लाया और वहां से भागता हुआ सीधे घर पहुँच गया घर जाते ही चुपके से अलमारी के अन्दर छिप गया और जोर से अलमारी के दरवाजे को बंद कर दिया जब उसके भाई ने उसे अलमारी में ढूंढा तो उसने पूछा क्या हुआ?

तो छोटे भाई ने हांफते हुए बताया कि भाई हम बड़ी मुसीबत में फंस गए है भगवान कहीं खो गए हैं, और वो सोच रहे हैं ये हमने किया है!


----------

  
बैंक क्यों नहीं लुटा!
एक बच्चे को एक दूकान से घड़ी चुराने के आरोप में पुलिस ने पकड़ लिया उसे पुलिस स्टेशन ले गए और जेल में डाल दिया!

एक कुख्यात आरोपी पहले से ही जेल में कैद था, उसने बच्चे को देखा और सहानुभूति से कहा, तुम छोटी छोटी चीजों पर अपना समय गवा रहे हो, तुमने कोई बैंक क्यों नहीं लुटा?

बच्चे ने उतर दिया अरे यार जैसे ही मैं घर से निकला देखा तो सारे बैंक बंद थे नहीं तो...
बच्चे

तुम्हारे पापा कौन है!
एक लड़का गली में भागता हुआ आया और इधर उधर पुलिस को ढूंढने लगा!

उसे एक पुलिस वाला नजर आया उसने कहा सर प्लीज जल्दी मेरे साथ बार में चलिए वहां मेरे पापा का झगड़ा हो रहा है!

ठीक है! वे जल्दी से बार में पहुँच गए और वहां देखा तो तीन आदमी बुरी तरह से आपस में लड़ रहे थे!

कुछ देर बाद पुलिस वाला उस बच्चे की तरफ मुड़ा और पूछा की इनमें तुम्हारे पापा कौन से है!

बच्चे ने पुलिस वाले की तरफ देखा और कहा मैं नहीं जानता सर, इसी बात को लेकर तो इनमें झगड़ा हो रहा है!


----------

   
स्वर्ग कैसे मिलेगा!
एक अमीर आदमी एक स्कूल में गया और वहां बच्चों के बीच में जाकर उनसे कुछ प्रश्न पूछने लगा बच्चों अगर मैं अपना घर, कार बहुत बड़ा गैरेज बेच दूँ और सारा पैसा दान में दे दूँ तो क्या मुझे स्वर्ग मिलेगा!

नहीं बच्चों ने उतर दिया!

अगर में रोज मंदिरों की सफाई करूँ, रोज पूजा पाठ करूँ और अपने आप को साफ़ सुथरा रखूं तो क्या मुझे स्वर्ग मिलेगा?

बच्चों ने फिर कहा नहीं!

तो फिर मैं सभी जीवों के लिए दयालु बन जाऊं, बच्चों को टॉफियां दूँ, अपनी बीवी को प्यार करूँ तो क्या मुझे स्वर्ग मिल जायेगा वो आदमी बार बार बच्चों से पूछने लगा बच्चे बार बार कहने लगे नहीं नहीं!

तो उस आदमी ने कहा फिर तुम मुझे बताओ मुझे स्वर्ग कैसे मिलेगा?

एक छोटा सा बच्चा खड़ा हुआ और जोर से कहा इसके लिए आपको मरना पड़ेगा!


----------

    
मूर्ख बच्चा!
एक लड़का एक नाई की दुकान में गया और, नाई ने अपने ग्राहक से फुसफुसाते हुए कहा ये दुनिया का सबसे मूर्ख बच्चा है तुम देखो मैं अभी कैसे साबित करता हूँ!

नाई ने अपने एक हाथ में 10 रूपए का नोट रखा और दूसरे में 2 रूपए का सिक्का, तब उस लड़के को अपने पास बुलाया और कहा बेटा तुम्हें कौन सा चाहिए?

बच्चे ने 2 रूपए का सिक्का उठाया और बाहर चला गया!

नाई ने कहा मैंने तुमसे क्या कहा था ये लड़का कुछ भी नहीं जानता, बाद में जब वो ग्राहक बाल कटवा कर बाहर निकला तो उसे वही बच्चा दिखा जो आइसक्रीम की दुकान के पास खड़ा आइसक्रीम खा रहा था!

अरे बेटा क्या मैं तुमसे एक बात पूछूँ? तुमने 10 रूपए लेने के बजाय 2 रूपए का सिक्का क्यों लिया?

बच्चे ने अपनी आइसक्रीम चाटते हुए जवाब दिया, अंकल जिस दिन मैंने 10 रूपए का नोट ले लिया उस दिन खेल खत्म!


----------

   
बच्चे को क्यों खाया?
एक तीन साल का बच्चा हॉस्पिटल के बाहर बैठा अपनी माँ का इन्तजार कर रहा था जो अंदर डाक्टर के पास गयी थी, तभी एक गर्भवती महिला वहां आयी!

बच्चे ने बड़ी उत्सुकता से उस महिला को पूछा, आपका पेट इतना बड़ा क्यों है? उसने कहा मेरे पेट में बच्चा है!

उसने हैरानी से कहा क्या आपके पेट में बच्चा है?

उसने कहा हाँ बिलकुल!

तब छोटे से बच्चे ने बड़ी उलझन के साथ कहा, क्या यह असली बच्चा है?

उसने कहा, हाँ बिलकुल, ये असली बच्चा है!

फिर उसने हैरानी और चौंकते हुए उसकी तरफ देखते हुए कहा, फिर तुमने इसे क्यों खाया?


----------


विकास और उत्पत्ति!
एक छोटी सी लड़की ने अपनी माँ से पूछा, माँ मानव जाति कब और कहाँ से आयी?

माँ ने जवाब दिया भगवान ने "एडम और ईव" को बनाया उनके बच्चों से सारी मानव जाति विकसित हुई!

दो दिन बाद लड़की ने वही प्रश्न अपने पापा से पूछा!

पापा ने जवाब दिया: कई वर्ष पहले बंदरों की एक प्रजाति से मानव जाति विकसित हुई!

उलझन में पड़ी लड़की फिर से अपनी माँ के पास आयी और कहने लगी, माँ ये कैसे हो सकता है की मानव प्रजाति के बारे में आपने कहा की वो भगवान ने बनाई है और पापा कहते हैं ये बंदरों की एक प्रजाति से विकसित हुई है! 

माँ ने उत्तर दिया बेटा ये बड़ी सीधी बात है मैंने तुम्हें अपने परिवार की प्रजाति बताई और तुम्हारे पापा ने अपने परिवार की!


----------

   
परिवार की परम्परा!
अध्यापक: पप्पू तुम बहुत ज्यादा बोलते हो!

पप्पू: ये हमारी खानदानी परम्परा है!

अध्यापक: क्या मतलब है तुम्हारा?

पप्पू: सर, मेरे दादा जी एक फेरीवाले थे, और मेरे पिताजी एक अध्यापक!

अध्यापक: और अपनी माँ के बारे में बताओ?

पप्पू: सर वो एक औरत हैं....!


----------

  
भगवान ने बनाया है!
एक छोटी सी लड़की अपने दादा से बातें कर रही थी उसने अपने दादा को पूछा दादा जी क्या आपको भगवान ने बनाया है?

हाँ बेटा, मुझे भगवान ने बनाया है दादा ने उत्तर दिया!

थोड़ी देर बाद लड़की ने फिर पूछा दादाजी क्या मुझे भी भगवान ने बनाया है?

हाँ, तुम्हें भी दादा ने उत्तर दिया!

कुछ देर बाद वो लड़की अपने दादा को बड़ी गौर से देखने लगी, और अपनी परछाई को भी आईने में देखने लगी उसका दादा हैरानी से उसको देख रहा था, और सोचने लगा इसके मन में क्या चला होगा,आखिर वो लड़की बोल पड़ी!

दादा जी, आप जानते है भगवान ने अब जाकर एक बेहतर काम किया है!


----------

  
किशोरावस्था क्या है?
टीचर ने पांचवी कक्षा की कहानी पढ़ा कर पूरी की और उनकी सामान्य जानकारी जानने के लिए उनसे शब्दार्थ पूछने लगी!

उसने पूछा "किशोरावस्था" का क्या अर्थ होता है?

30 बच्चों की क्लास में किसी ने भी हाथ नहीं उठाया!

कुछ देर चुप रहने के बाद उसने उन्हें संकेत दिया!

किशोरावस्था, जैसे तुम सभी हो पर मैं नहीं!

अंत में पप्पू ने अपना हाथ उठाया और धीरे से कहा "कुंवारी"!


----------


कब करें तैयारी?
आमतौर पर विद्यार्थिओं को फेल होने या कम नम्बर आने के लिए दोषी ठहराया जाता है पर हम विद्यार्थी अगर फेल होते हैं तो इसमें हमारा कोई दोष नहीं अगर कोई विद्यार्थी फेल होता है तो साल में सिर्फ 365 दिन होते हैं जिसमें 52 रविवार होते हैं (वो आराम करने और टी.वी देखने के लिए) बचे 313 दिन 60 गर्मियों कि छुट्टियाँ तब इतनी गर्मी होती है कि पढ़ाई करना मुश्किल 8 घंटे रोज का सोना कुल मिलाकर साल में 122 दिन, अब बचे 131 दिन 1 घंटा रोज बात करने के लिए (क्योंकि आदमी सामाजिक प्राणी है) जिसका मतलब हुआ साल में 15 दिन अब बचे 116 दिन, 2 घंटे हर दिन के खाने और दूसरे आवश्यक कामों के लिए जिसका मतलब 30 दिन, अब बचे 86 दिन 1 घंटा रोज का खेलने के लिए मतलब 15 दिन साल में अब बचे साल के 71 दिन पूरे साल परीक्षाएं चलती हैं 21 दिन अब रह गए 50 दिन सर्दी कि छुटियाँ मॉनसून कि छुट्टियाँ, राष्ट्रीय पर्वों कि छुट्टियाँ पिकनिक और दूसरी छुट्टियाँ मिलाकर लगभग 40 अब बचे 10 दिन 6 दिन बीमारी के लिए अब रहे 4 दिन साल में तीन दिन फिल्मों के लिए अब बचा 1 दिन वार्षिक परीक्षों के लिए सिर्फ एक दिन! तो हमारे अध्यापक हमें बताएँ, कि परीक्षा कि तैयारी हम कब करें ताकि हम परीक्षाओं में अच्छा कर सके!


----------

   
जीसस कौन थे?
एक बच्चे ने टी.वी पर जीसस क्राईस्ट का नाम सुना, उसने जीसस की अच्छाई और महानता के बारे में भी सुना, वो उससे बहुत प्रभावित हुआ और जीसस के बारे में जानने के लिए उत्सुक हो गया, वो भागता हुआ पहले अपनी माँ से पूछने लगा, कि जीसस कौन थे? 

तो माँ ने कहा की वो अभी व्यस्त है, फिर वो अपने पापा के पास गया और पापा भी व्यस्त थे, फिर वो अपने भाई के पास गया और उससे पूछा, उसने उसे लात मार कर बाहर कर दिया और कहा, क्या मूर्खों वाला प्रश्न पूछ रहा है, बहुत उत्सुकता के साथ वो घर से बाहर गया, उसे एक भिखारी सा आदमी दिखा!

उसने उससे पूछा, जीसस क्राईस्ट कौन है? उस भिखारी ने कहा मैं हूँ! 

बच्चे को उसकी बात पर विशवास नहीं हुआ उसने पूछा इसका क्या सबूत है? तब वो भिखारी उस बच्चे को गली में एक बार के पास ले गया, अभी वो बार के सामने से गुजर ही रहे थे की बार वाले ने एक आवाज देकर कहा, अरे जीसस क्राईस्ट तुम फिर यहाँ आ गए!


----------

   
लिंकन ने क्या किया!
एक बाप अपने बेटे कि शरारतों से बहुत परेशान था, उसका बेटा हमेशा कम्प्यूटर पर गेम्ज खेलता रहता था!

एक दिन पढ़ाई व होमवर्क करने के लिए उसे प्रेरित करते हुए उसके बाप ने कहा जब अब्राहम लिंकन तुम्हारी उम्र के थे तो वो लकड़ियों की आग जला कर उसके सामने पढ़ाई किया करते थे!

बच्चे ने जवाब दिया, पर जब लिंकन आपकी उम्र के थे तो यूनाईटेड स्टेटस के राष्ट्रपति थे!


----------

    
भारतीय होने पर गर्व है!
एक टीचर अपनी क्लास के बच्चों को कहती है की वो अमेरिकन है, वो अपनी क्लास के बच्चों से कहती है की यदि वो भी अमेरिकन है तो हाथ उठायें, वो नहीं जानते थे की ऐसा क्यों कह रही है पर अपनी टीचर की तरह लगने के लिए, उन्होंने अपने हाथ आग की लपटों की तरह हवा में उठा दिए!

पर वहां एक लड़की अपवाद की तरह बैठी थी!

उसका नाम गीता था और वो भीड़ के साथ नहीं भागी!

टीचर ने उसको पूछा, वो सबसे अलग क्यों रहना चाहती है गीता ने कहा, क्योंकि वो अमेरिकन नहीं है!

तब टीचर ने पूछा तो तुम क्या हो?

उसने गर्व से कहा, मैं भारतीय हूँ, और इस पर मुझे गर्व है!

टीचर को अब गुस्सा आ गया उसका चेहरा गुस्से से लाल हो गया उसने पूछा, तुम भारतीय क्यों हो?

गीता ने कहा क्योंकि मेरे मम्मी पापा भारतीय हैं, इसलिए मैं भी भारतीय हूँ!

अब टीचर का गुस्सा और बढ़ गया!

ये कोई कारण नहीं है उसने चिल्लाते हुए कहा, अगर तुम्हारी मम्मी और पापा "ईडीयट" है तो तुम क्या हो?

थोड़ी देर रुकने के बाद हल्की सी मुस्कान के साथ!

गीता ने कहा फिर मैं अमेरिकन हूँ!