Basant Panchami messages

May the revered occasion of Basant Panchami, bring the wealth of knowledge to you.
May you be blessed by Goddess Saraswati and all your wishes come true.
Happy Basant Panchami!
----------
Spring is in air,
Fresh blossoms everywhere.
Sending you my warm greetings on the auspicious occasion of Basant Panchami!
Wish you a Happy Basant Panchami!
----------
Clasping thorns to their bosom,
In season spring flowers blossom.

It's green all around,
The birds produce sweet sound.

Flowers teach us ever to smile,
Never to be sad even for a while.

Never do they take to pricking,
To the plant they keep sticking.

Children enjoy flying the kites,
All around are beautiful sights.
Happy Basant Panchami!
----------
The fragrant flowers in full bloom, with butterflies fluttering all around and a warm breeze softly whispering by to wish you.
Happy Basant Panchami!
----------
Aayi Basant Paala Udant!
With this festival signalling advent of spring;
Your crises may tide and to your goal you sprint.
Your aspirations may fulfil and money you mint;
May God bless your life with a wonderful stint!
Happy Basant Panchmi!
----------
The harsh winter ends, spring is God sent;
A song on every lip, reminding one of yore;
Nature at its very best, charting a new course;
The flowers bloom, let's romance to the core! Happy Basant Panchami
----------
Let's worship Goddess Saraswati to attain enlightenment through knowledge and rid ourselves of lethargy, sluggishness and ignorance.
Happy Basant Panchami!
----------
The harsh winter ends, spring is God-sent;
A song on every lip; reminding one of yore;
Nature at its very best, charting a new course;
The flowers bloom, let's romance to the core!
Happy Basant Panchami!
----------
Lo Phir Basant Aayi, Phoolon Pe Rang Layi;
Chalo be Darang, Lab-e-Aab-e-Zang;
Baje Jal Tarang, Man Par Umang Chayi;
Lo Phir Basant Aayi!
Happy Basant Panchami!
----------
To go with the mustard flowers' bloom;
Let's flaunt our dresses in yellow hues;
Worship Goddess Saraswati with all divinity;
And share yellow sweets with all the swoon!
Happy Basant Panchami!
----------
No greeting card to give,
No sweet flowers to send,
No cute graphics to forward,
Just a carrying heart wishing you.
Happy Basant Panchami!
----------
Saraswathi Namasthubhyam,
Varadey Kaamarupinee,
Vidhyarambham Karishyami,
Sidhir bhavathu mey sada,
Happy Basant Panchami!
----------
May the occasion of Basant Panchami bring the wealth of knowledge to you;
And may you be blessed by Goddess Saraswati and all your wishes come true.
Happy Basant Panchami!
----------
On this auspicious day of Saraswati Puja, may you
Wear yellow and bloom life mustard fields;
Fly Kites and soar into sky like them;
Welcome the Spring season and shed lethargy;
And burn evils like Holika's pyre.
Happy Basant Panchmi!
----------
Let's worship Goddess Saraswati to attain enlightenment through knowledge and rid ourselves of lethargy, sluggishness and ignorance.
Happy Basant Panchami!
----------
Aye Basant, Palla Udant!
Happy Basant Panchmi!
----------
With the chill in the weather receding, may your sorrows also vanish like the cold weather.
Happy Basant Panchmi!
----------
On this festival of Basant Panchmi, may Goddess Saraswati fly you high with wisdom and intellect like a Kite; and may you be grounded to mother earth with a very strong thread of humility!
Happy Basant Panchmi!
----------
The Goddess Saraswati, sitting on a lotus, symbolizes her wisdom. She is also well-versed in the experience of truth.
When the goddess is seen sitting on a peacock, it is a reminder that a strong ego can be held back by wisdom.
May the Goddess bless you on this festival of Basant Panchmi!
----------
On this festival of Basant Panchmi, may Goddess Saraswati bless you with knowledge and wisdom!
Happy Basant Panchmi!
----------

सर्दी को तुम दे दो विदाई, बसंत की अब ऋतु है आई;
फूलों से खुशबू लेकर महकती हवा है आई;
बागों में बहार है आई, भँवरों की गुंजन है लायी;
उड़ रही है पतंग हवा में जैसे तितली यौवन में आई;
देखो अब बसंत है आई।
बसंत पंचमी की शुभ कामनायें!
----------
हलके-हलके से हो बादल, खुला-खुला सा आकाश;
मिल कर उड़ाएं पतंग अमन की;
आओ फैलायें खुशियों का पैगाम।
बसंत पंचमी की शुभ कामनायें!
----------
गाओ सखी होकर मगन आया है बसंत,
राजा है ये ऋतुओं का आनंद है अनंत;
पीत सोन वस्त्रों से सजी है आज धरती,
आंचल में अपने सौंधी-सौंधी गंध भरती;
तुम भी सखी पीत परिधानों में लजाना,
नृत्य करके होकर मगन प्रियतम को रिझाना;
सीख लो इस ऋतु में क्या है प्रेम मंत्र
गाओ सखी होकर मगन आया है बसंत।
बसंत पंचमी की शुभ कामनायें!
----------
लो फिर बसंत आई, फूलों पे रंग है लायी;
बज रहे हैं जल तरंग, दिल पे उमंग है छाई;
खुशियों को लेकर संग है आई;
लो फिर बसंत है आई।
बसंत पंचमी की शुभ कामनायें!
----------
बलबुद्धि विद्या देहु मोहि,
सुनहु सरस्वती मातु।
राम सागर अधम को,
आश्रय तू ही देदातु।
आप सब को बसंत पंचमी की बधाई!
----------
जीवन का यह बसंत, आप सबको खुशियां दे अनंत;
प्रेम और उत्साह का, भर दे जीवन में रंग।
बसंत पंचमी की बधाई!
----------
हलके हलके से हों बादल;
खुला-खुला हो आकाश;
ऐसे सुहाने मौसम में हो;
खुशियों को आगाज़।
बसंत पंचमी की बधाई!
----------
साहस शील ह्रदय में भर दे;
जीवन त्याग तपोमर कर दे;
संयम सत्य स्नेह का वर दे;
माँ सरस्वती आपके जीवन में उल्ल्हास भर दे।
बसंत पंचमी की बधाई!
----------
सरस्वती माँ आपको हर वो विद्या दे जो आपके पास नहीं है और जो है उस पर चमक दे जिससे आपकी दुनिया चमक उठे।
बसंत पंचमी की बधाई!
----------
वीणा लेकर हाथ में, सरस्वती हो आपके साथ में;
मिले माँ का आशीर्वाद आपको, हर दिन, हर वार;
हो मुबारक आपको बसंत पंचमी का त्यौहार!
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
आई झूम के बसंत, झूमो संग-संग;
आज रंग लो दिलों को एक रंग;
हलके-हलके से हो बादल, खुला-खुला सा आकाश;
और आप सब हो मेरे पास।
बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
----------
इससे पहले कि शाम हो जाए;
मेरा संदेश औरों की तरह आम हो जाएं;
और सारे मोबाइल नेटवर्क जाम हो जाएं;
आपको बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
सरस्वती पूजा का यह प्यारा त्यौहार;
जीवन में लाएगा ख़ुशी अपार;
सरस्वती विराजे आपके द्वार;
शुभ कामना हमारी करें स्वीकार।
बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
----------
रंगों की मस्ती, फूलों की बहार;
बसंत की पतंग उड़ने को बेक़रार;
थोड़ी सी गर्मी, हलकी सी फुहार;
बहार का मौसम आने को तैयार;
मुबारक हो आपको बसंत पंचमी का त्यौहार!
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
साहस शील हृदय में भर दे;
जीवन त्याग तपोमर कर दे;
संयम, सत्य, स्नेह का वर दे;
माँ सरस्वती आपके जीवन में उल्लास भर दे।
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
पीले-पीले सरसों के फूल, पीली उड़ी पतंग;
रंग बरसे पीला और चाहे सरसों सी उमंग;
आपके जीवन में रहे सदा बसंत के रंग!
बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
----------
मौसम की नज़ाकत है, हसरतों ने पुकारा है;
कैसे कहें के कितना याद करते हैं, यह संदेश उसी याद का एक इशारा है।
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
सर्दी को तुम दे दो विदाई, बसंत की अब ऋतु है आई;
फूलों से खुशबू लेकर महकती हवा है आई;
बागों में बहार है आई, भँवरों की गुंजन है लायी;
उड़ रही है पतंग हवा में जैसे तितली यौवन में आई;
देखो अब बसंत है आई।
बसंत पंचमी की शुभ कामनायें!
----------
हलके-हलके से हो बादल, खुला-खुला सा आकाश;
मिल कर उड़ाएं पतंग अमन की;
आओ फैलायें खुशियों का पैगाम।
बसंत पंचमी की शुभ कामनायें!
----------
गाओ सखी होकर मगन आया है बसंत,
राजा है ये ऋतुओं का आनंद है अनंत;
पीत सोन वस्त्रों से सजी है आज धरती,
आंचल में अपने सौंधी-सौंधी गंध भरती;
तुम भी सखी पीत परिधानों में लजाना,
नृत्य करके होकर मगन प्रियतम को रिझाना;
सीख लो इस ऋतु में क्या है प्रेम मंत्र
गाओ सखी होकर मगन आया है बसंत।
बसंत पंचमी की शुभ कामनायें!
----------
लो फिर बसंत आई, फूलों पे रंग है लायी;
बज रहे हैं जल तरंग, दिल पे उमंग है छाई;
खुशियों को लेकर संग है आई;
लो फिर बसंत है आई।
बसंत पंचमी की शुभ कामनायें!
----------
बलबुद्धि विद्या देहु मोहि,
सुनहु सरस्वती मातु।
राम सागर अधम को,
आश्रय तू ही देदातु।
आप सब को बसंत पंचमी की बधाई!
----------
जीवन का यह बसंत, आप सबको खुशियां दे अनंत;
प्रेम और उत्साह का, भर दे जीवन में रंग।
बसंत पंचमी की बधाई!
----------
हलके हलके से हों बादल;
खुला-खुला हो आकाश;
ऐसे सुहाने मौसम में हो;
खुशियों को आगाज़।
बसंत पंचमी की बधाई!
----------
साहस शील ह्रदय में भर दे;
जीवन त्याग तपोमर कर दे;
संयम सत्य स्नेह का वर दे;
माँ सरस्वती आपके जीवन में उल्ल्हास भर दे।
बसंत पंचमी की बधाई!
----------
सरस्वती माँ आपको हर वो विद्या दे जो आपके पास नहीं है और जो है उस पर चमक दे जिससे आपकी दुनिया चमक उठे।
बसंत पंचमी की बधाई!
----------
वीणा लेकर हाथ में, सरस्वती हो आपके साथ में;
मिले माँ का आशीर्वाद आपको, हर दिन, हर वार;
हो मुबारक आपको बसंत पंचमी का त्यौहार!
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
आई झूम के बसंत, झूमो संग-संग;
आज रंग लो दिलों को एक रंग;
हलके-हलके से हो बादल, खुला-खुला सा आकाश;
और आप सब हो मेरे पास।
बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
----------
इससे पहले कि शाम हो जाए;
मेरा संदेश औरों की तरह आम हो जाएं;
और सारे मोबाइल नेटवर्क जाम हो जाएं;
आपको बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
सरस्वती पूजा का यह प्यारा त्यौहार;
जीवन में लाएगा ख़ुशी अपार;
सरस्वती विराजे आपके द्वार;
शुभ कामना हमारी करें स्वीकार।
बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
----------
रंगों की मस्ती, फूलों की बहार;
बसंत की पतंग उड़ने को बेक़रार;
थोड़ी सी गर्मी, हलकी सी फुहार;
बहार का मौसम आने को तैयार;
मुबारक हो आपको बसंत पंचमी का त्यौहार!
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
साहस शील हृदय में भर दे;
जीवन त्याग तपोमर कर दे;
संयम, सत्य, स्नेह का वर दे;
माँ सरस्वती आपके जीवन में उल्लास भर दे।
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!
----------
पीले-पीले सरसों के फूल, पीली उड़ी पतंग;
रंग बरसे पीला और चाहे सरसों सी उमंग;
आपके जीवन में रहे सदा बसंत के रंग!
बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
----------
मौसम की नज़ाकत है, हसरतों ने पुकारा है;
कैसे कहें के कितना याद करते हैं, यह संदेश उसी याद का एक इशारा है।
बसंत पंचमी की शुभकामनाएं!